विधानसभा में CM योगी ने SP प्रमुख के आरोपों का यूं दिया जवाब, अखिलेश बोले- हम संतुष्ट नहीं

विधानसभा में CM योगी ने SP प्रमुख के आरोपों का यूं दिया जवाब, अखिलेश बोले- हम संतुष्ट नहीं
फोटो: सीएमओ यूपी सरकार/ ट्विटर

UP Assembly Monsoon Session: मॉनसून सत्र में मंगलवार को सपा प्रमुख और यूपी के पूर्व सीएम अखिलेश यादव के सवाल और आरोपों के बाद सीएम योगी आदित्यनाथ ने उनपर पलटवार किया. दरअसल अखिलेश ने यूपी की स्वास्थ्य सुविधाओं पर चर्चा कर सरकार पर तीखे प्रहारों की बौछार की थी. इस पर सीएम योगी ने तंज कसते हुए कहा कि 'पर उपदेश कुशल बहुतेरे'.

सीएम ने कहा, "कोई नहीं होगा जो समाजवादी पार्टी को ठीक नजर से देखता होगा. नेशनल फैमिली हेल्थ सर्वे 4 और 5 इस बात की गवाही देते हैं कि प्रदेश में स्वास्थ्य सेवाओं में सुधार हुआ है." सीएम ने कहा कि 'नेता प्रतिपक्ष पूर्व मुख्यमंत्री और विपक्ष के सबसे बड़े दल के नेता हैं, उनको सच बोलने की आदत डालनी चाहिए. मैंने कल कहा था कि सपा और सच नदी के दो किनारे हैं.'

सीएम ने कहा,

"पहले की सरकारों में गोरखपुर समेत आसपास के जनपदों में इंसेफ्लाइटिस से हजारों मौत होती थीं. लेकिन समाजवादी पार्टी की सरकार के लोग हाल जानने नहीं पहुंचे. सपा सरकार दुर्भाग्य से इस प्रदेश में चार बार थी, लेकिन इंसेफ्लाइटिस से हुई मौतों पर संवेदना तक प्रकट नहीं की गई. सपा सरकार में प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र बंद कर दिए गए. आज डबल इंजन सरकार का असर है कि वन डिस्ट्रिक्ट वन मेडिकल कॉलेज की ओर बढ़ रहे हैं. प्रदेश के 59 जिलों में या तो एक मेडिकल कॉलेज बन चुका है या बन रहा है. कोरोना महामारी के दौरान पता नहीं नेता प्रतिपक्ष कहां चले गए थे."

योगी आदित्यनाथ

सीएम योगी ने कहा, "सूबे में हर सप्ताह आरोग्य मेले का आयोजन होता है. आयुष्मान भारत और मुख्यमंत्री जन आरोग्य योजना में हर साल गरीब व्यक्ति को 5 लाख का स्वास्थ्य बीमा उपलब्ध कराया जा रहा है. कोरोना जैसी महामारी को नियंत्रण करने में काफी हद तक सफलता मिली. 9 महीने के अंदर वैक्सीन आ गई. कुछ लोगों ने कोरोना काल में जनता जनार्दन का ख्याल नहीं रखा लेकिन अनावश्यक भ्रम फैलाते रहे."

मुख्यमंत्री ने कहा, "पहली बार यूपी में मेडिकल यूनिवर्सिटी बन रही है, ट्रेडिशनल मेडिसिन के लिए आयुष यूनिवर्सिटी बन रही है और खेल के लिए स्पोर्टस यूनिवर्सिटी बन रही है. गोरखपुर में एम्स में सबसे बड़ी बाधा सपा ही थी. इन्होंने जमीन ही नहीं दी. बीजेपी के शासनकाल में जमीन की रजिस्ट्री की कार्रवाई हमने संपन्न की. इंसेफ्लाइटिस जैसी बीमारी को नियंत्रित करने का काम बीजेपी की डबल इंजन की सरकार ने किया है.'

सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा, "इंसेफ्लाइटिस से पीड़ित कौन थे. अनुसूचित जाति-जनजाति के बच्चे थे. लेकिन ये कभी मुद्दा नहीं बना. कोरोना की स्वदेशी वैक्सीन पीएम मोदी ने दी, इसपर कृतज्ञता प्रकट करने की बजाय गफलता पैदा करने की कोशिश स्वीकार नहीं होगी."

सीएम योगी ने कहा, "प्रदेश की 25 करोड़ जनता को डबल इंजन की सरकार ने अपने परिवार की तरह माना है. बिना भेदभाव के शासन की योजनाओं को लागू किया है."

अखिलेश बोले- नेता सदन के बयान से संतुष्ट नहीं

सदन में सीएम योगी के जवाब के बाद अखिलेश यादव ने अपनी प्रतिक्रिया दी. अखिलेश यादव ने कहा कि हम नेता सदन के बयान से संतुष्ट नहीं, वॉकआउट करते हैं.

(सीएम योगी के पूरे भाषण को नीचे सुना जा सकता है)

विधानसभा में CM योगी ने SP प्रमुख के आरोपों का यूं दिया जवाब, अखिलेश बोले- हम संतुष्ट नहीं
Kanpur Tak: लोगों ने लिखा, 'योगी जी... ध्वस्त करा दीजिए हमारा अपार्टमेंट', फिर मचा हड़कंप

संबंधित खबरें

No stories found.
UPTak - UP News in Hindi (यूपी हिन्दी न्यूज़)
www.uptak.in