अखिलेश की मांग हुई खारिज, चाचा शिवपाल को विधानसभा में नहीं मिलेगी आगे की सीट, जानिए

शिवपाल यादव और अखिलेश यादव.
शिवपाल यादव और अखिलेश यादव.(फाइल फोटो: @yadavakhilesh/ट्विटर)

UP Political News: प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (लोहिया) के अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव (Shivpal Singh Yadav) को समाजवादी पार्टी (सपा) मुखिया अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav News) की चिट्ठी के आधार पर विधानसभा में आगे की सीट नहीं मिलेगी. मिली जानकारी के अनुसार, सपा को बता दिया गया है कि शिवपाल को सिर्फ समाजवादी पार्टी के विधायक के तौर पर ही सीट मिल सकती है.

अहम बिंदु

दरअसल, अखिलेश यादव ने विधानसभा अध्यक्ष को इस बात के लिए पत्र लिख कर कहा था कि शिवपाल सिंह यादव यूपी विधानसभा के वरिष्ठ सदस्य (वरिष्ठ विधायक) हैं और एक पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष हैं. ऐसे में उनको आगे की सीट दी जाए.

खबर है कि तकनीकी आधार पर पत्र गलत था. शिवपाल को आगे की सीट नहीं मिलेगी. समाजवादी पार्टी को आवंटित सीट्स में से एक सीट शिवपाल को देने का फैसला अब सपा विधानमंडल दल के नेता और विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष अखिलेश यादव को करना है. यानी उन्हें अब अपने चाचा को अपने साथ ही बिठाना होगा.

बता दें कि सपा की एक सीट बढ़ाई गई है. प्रथम पंक्ति में अभी आवंटित 4 सीट्स के अलावा समाजवादी पार्टी को एक और सीट देने का फैसला हुआ है. अब सपा के पास 5 सीट्स होंगी. राजनीतिक रूप से अखिलेश यादव के लिए ये बड़ी बात है, क्योंकि उनकी एक सीट बढ़ाई गई है. ऐसे में अखिलेश चाचा को आगे बिठाते हैं या नहीं ये फैसला अब उन्हें को ही करना होगा.

प्रथम पंक्ति में सपा को आवंटित 4 सीटों में खुद अखिलेश यादव, आजम खान, अवधेश प्रसाद और लालजी वर्मा बैठते हैं. अभी पूर्व विधानसभा अध्यक्ष माता प्रसाद पांडे और वरिष्ठ विधायक ओम प्रकाश सिंह भी दूसरी पंक्ति में बैठते हैं. गौरतलब है कि सपा ने मांग की थी कि उनकी सीट्स बढ़ाई जाएं. एक सीट बढ़ाने का फैसला हुआ है. ऐसे में उस सीट पर कौन बैठेगा इसका फैसला अखिलेश यादव को ही करना होगा.

शिवपाल यादव और अखिलेश यादव.
अखिलेश को था चीते की 'दहाड़' का इंतजार? पर दहाड़ता तो शेर है, अब लोग उड़ा रहे मजाक, पढ़ें

संबंधित खबरें

No stories found.
UPTak - UP News in Hindi (यूपी हिन्दी न्यूज़)
www.uptak.in