window.googletag = window.googletag || { cmd: [] }; let pathArray = window.location.pathname.split('/'); function getCookieData(name) { var nameEQ = name + '='; var ca = document.cookie.split(';'); for (var i = 0; i < ca.length; i++) { var c = ca[i]; while (c.charAt(0) == ' ') c = c.substring(1, c.length); if (c.indexOf(nameEQ) == 0) return c.substring(nameEQ.length, c.length); } return null; } googletag.cmd.push(function() { if (window.screen.width >= 900) { googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_ATF_728x90', [728, 90], 'div-gpt-ad-1702014298509-0').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_ATF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1702014298509-1').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_MTF_728x90', [728, 90], 'div-gpt-ad-1702014298509-2').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_MTF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1702014298509-3').addService(googletag.pubads()); } else { googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_ATF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-0').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-1_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-2').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-2_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-3').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-3_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-4').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_BTF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-5').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_Bottom_320x50', [320, 50], 'div-gpt-ad-1659075693691-6').addService(googletag.pubads()); } googletag.pubads().enableSingleRequest(); googletag.enableServices(); if (window.screen.width >= 900) { googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-0'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-1'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-2'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-3'); } else { googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-0'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-2'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-3'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-4'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-5'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-6'); } });

8 मई को हुई शादी और 8 जून को उठी अर्थी, मेहंदी भी नहीं उतरी और नवविवाहिता की हुई मौत, कैसे?

नाहिद अंसारी

ADVERTISEMENT

UPTAK
social share
google news

Mahoba News: धूमधाम से शादी हुई. माता-पिता ने नम आंखों से अपनी बेटी को विदा करके ससुराल भेजा. दुल्हन भी नई उम्मीदों और नए अरमानों के साथ अपने ससुराल पहुंची. बेटी के परिजनों ने कभी सपने में भी नहीं सोचा होगा कि जिस तारीख पर वह अपनी बेटी को डोली में विदा कर रहे हैं, ठीक एक महीने बाद उसी तारीख को उसी बेटी की अर्थी निकलेगी.  

दरअसल बुंदेलखंड के महोबा से ऐसा मामला सामने आया है, जिसे सुन हर कोई सकते में हैं. यहां एक युवती 8 मई को डोली में विदा हुई और अपने ससुराल पहुंची. ठीक एक महीने बाद यानी 8 जून को युवती की ससुराल से अर्थी उठी. नवविवाहिता के हाथों में लगी शादी की महंदी भी नहीं छूटी थी और उसकी संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई. अब युवती के परिजनों ने ससुराल पक्ष पर दहेज हत्या का आरोप लगाया है. बेटी की मौत से उसके परिवार में कोहराम मच गया है.  

8 मई को शादी और 8 जून को ही उठी अर्थी

दरअसल नवविवाहिता की संदिग्ध मौत का मामला जनपद के महोबकंठ थाना क्षेत्र में आने वाले पिपरी गांव से सामने आया है. लड़की के परिजनों ने बेटी की मौत का आरोप ससुराल पक्ष पर लगाया है. मिली जानकारी के मुताबिक,  मृतिका हमीरपुर जनपद के राठ थाना क्षेत्र के बेगांय गांव की निवासी है. यहां रहने वाले धर्मदास अहिरवार की 20 साल की बेटी पानकुंवर का विवाह 8 मई को महोबा के पिपरी गांव निवासी कैलाश अहिरवार के साथ धूमधाम से हुआ था. मगर ये खुशियां एक महीने भी नहीं रह पाई और नवविवाहित दुल्हन की मौत हो गई. 

यह भी पढ़ें...

ADVERTISEMENT

पड़ोसियों ने दी बेटी की मौत की सूचना

मृतिका के परिजनों का आरोप है कि उन्हें बेटी की मौत की सूचना पड़ोसियों ने दी. जबकि ससुरालवालों की तरफ से बेटी की मौत की कोई सूचना नहीं दी गई. मृतिका के परिजनों का आरोप है कि उनकी बेटी के साथ दहेज को लेकर अक्सर मारपीट की जा रही थी. इसी दौरान उसकी हत्या कर दी गई.

ससुराल पक्ष बोला- अचानक हुई मौत

दूसरी तरफ ससुराल वालों का कहना है कि बहू अचानक बीमार हो गई. उसे फौरन निजी अस्पताल में ले जाया गया, जहां उसे आराम मिला. हम बहू को फिर घर लेकर आए. मगर यहां उसकी मौत हो गई. 

ADVERTISEMENT

गौरतलब है कि मायके पक्ष का आरोप है कि उनकी बेटी के साथ शादी के बाद से ही दहेज को लेकर मारपीट की जा रही थी. उनकी बेटी को दहेज के लिए प्रताड़ित किया जा रहा था. मायके पक्ष ने ससुराल पक्ष पर बेटी की हत्या का गंभीर आरोप लगाया है. फिलहाल पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर उसे पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया है. पुलिस का कहना है कि पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में मौत के कारणों का पता चलते ही मामले में कार्रवाई की जाएगी.

पुलिस ने क्या बताया

इस पूरे मामले पर महोबकंठ थाना प्रभारी राकेश कुमार राय ने बताया कि पुरे मामले की जांच की जा रही है. पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट आने के बाद ही सारे तथ्य साफ हो जाएंगे. उसके बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी.

ADVERTISEMENT

    follow whatsapp

    ADVERTISEMENT