window.googletag = window.googletag || { cmd: [] }; let pathArray = window.location.pathname.split('/'); function getCookieData(name) { var nameEQ = name + '='; var ca = document.cookie.split(';'); for (var i = 0; i < ca.length; i++) { var c = ca[i]; while (c.charAt(0) == ' ') c = c.substring(1, c.length); if (c.indexOf(nameEQ) == 0) return c.substring(nameEQ.length, c.length); } return null; } googletag.cmd.push(function() { if (window.screen.width >= 900) { googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_ATF_728x90', [728, 90], 'div-gpt-ad-1702014298509-0').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_ATF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1702014298509-1').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_MTF_728x90', [728, 90], 'div-gpt-ad-1702014298509-2').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_MTF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1702014298509-3').addService(googletag.pubads()); } else { googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_ATF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-0').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-1_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-2').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-2_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-3').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-3_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-4').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_BTF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-5').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_Bottom_320x50', [320, 50], 'div-gpt-ad-1659075693691-6').addService(googletag.pubads()); } googletag.pubads().enableSingleRequest(); googletag.enableServices(); if (window.screen.width >= 900) { googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-0'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-1'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-2'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-3'); } else { googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-0'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-2'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-3'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-4'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-5'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-6'); } });

हमीरपुर में खाद के लिए जद्दोजहद! लाइनों में लगे बुजुर्ग, महिलाओं सहित बच्चे

नाहिद अंसारी

ADVERTISEMENT

UPTAK
social share
google news

Hamirpur News Hindi: हमीरपुर में खाद को लेकर भीषण मारामारी की खबर सामने आई है. आपको बता दें कि सैकड़ों की तादाद में किसान रात से ही लाइन में खड़े हो जाते हैं और अपनी बारी आने का इंतजार करते हैं. जिनको यह पता नहीं होता की रात होने तक उनका नंबर आयेगा या नहीं? इन लाइनों में महिलाओं और बुजुर्गों सहित बच्चे भी होते हैं. ये बच्चे अपने बूढ़े मां-बाप की मदद के लिए लाइन में लगते हैं. मिली जानकारी के अनुसार, खाद के लिए हो रही मारामारी के दौरान पुलिस का एक सिपाही भी नहीं होता है.

आपको बता दें कि खाद के लिए मारामारी का ऐसा ही नजारा आज यानी सोमवार को हमीरपुर जिले के मौदहा खाद्य वितरण केंद्र पर देखने को मिला. यहां सैकड़ों की तादाद में किसानों सहित महिलाएं और छात्र-छात्राएं लाइन में लगे दिखाई दिए, जो अपनी बारी आने की जद्दोजहद में धक्का-मुक्की का शिकार हो रही थे. इस दौरान किसानों ने आरोप लगाया की रसूखदार लोग केबिन के अंदर पहुंच रहे हैं, जिन्हें आसानी से खाद मिल रही है.

हमीरपुर न्यूज़: खाद वितरण केंद्र पर हो रही धक्का-मुक्की के दौरान कोई अप्रिय घटना ना हो इसके लिए यहां पुलिस का होना जरूरी था, लेकिन यहां एक सिपाही तक की तैनाती नहीं की गई थी. तो वहीं, कुछ रसूखदार लोग खाद्य वितरण केंद्र के केबिन में पहुंचकर अपना नंबर लगवाते दिखाई दिए. जबकि आम लोग खाद के लिए लाइन में खड़े होकर धक्का खा रहे थे.

यह भी पढ़ें...

ADVERTISEMENT

आपको बता दें कि हमीरपुर जिले में बीते दो माह पहले भीषण बारिश और बाढ़ की वजह से किसानों की खरीद की फसल चौपट हो चुकी है. और अब इकलौती रवि की फसल बची है, जिसकी बुवाई तो हो चुकी है, लेकिन अब अगर समय पर खाद नहीं मिली तो फसल खराब होने की आशंका है. ऐसे में किसानों को लगता है कि समय पर उन्हें खाद मिला जाए, नहीं तो बोई हुई फसल भी हांथ से जाती रहेगी.

हमीरपुर: आत्महत्या करने के लिए 2 मंजिला छत पर लटकी महिला और फिर ये हुआ, Video वायरल

ADVERTISEMENT

    follow whatsapp

    ADVERTISEMENT