'यूपी सरकार आपके द्वार' अभियान पर मंडलों से लौटकर मंत्रियों ने सौंपी अपनी रिपोर्ट

'यूपी सरकार आपके द्वार' अभियान पर मंडलों से लौटकर मंत्रियों ने सौंपी अपनी रिपोर्ट
यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ (फाइल फोटो).तस्वीर: मनीष अग्निहोत्री, इंडिया टुडे.

‘यूपी सरकार, आपके द्वार’ अभियान के लिए प्रदेश भर का दौरा करके आए मंत्रियों ने अपनी रिपोर्ट सौंप दी है. आज मंत्री परिषद की बैठक में फीडबैक पर चर्चा हुई. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सभी 18 मंडल के मंडलीय दौरों से लौट कर आए मंत्री समूहों के रिपोर्ट पर जरूरी एक्शन के निर्देश दिए हैं. अब ये रिपोर्ट जिलों के नोडल अधिकारियों को दी जाएगी जिससे उन पर काम हो सके.

अहम बिंदु

पूर्ण बहुमत पाकर सत्ता में लौटी बीजेपी अब जनता तक पहुंचने में कोई कोर कसर बाकी नहीं रहने देना चाहती. इसी वजह से यूपी के मुख्यमंत्री ने अपने मांत्रिकों को ये कहा था कि वो मंडलों में जाकर विकास कार्यों की समीक्षा करें. साथ ही केंद्रीय योजनाओं का फीडबैक भी लें. इस अभियान में मंत्रियों को मंडलों में रात्रि प्रवास भी करना था. सभी मंत्रियों को मंडल बांटे गए. उनके साथ राज्य मंत्रियों को भी लगाया गया था. अब मंत्री समूहों ने अपनी रिपोर्ट सौंपी है. जानकारी के अनुसार ज्यादातर मंत्रियों ने रिपोर्ट सौंप दी है.

मंगलवार को मंत्रीपरिषद की बैठक में मंत्रियों के दौरे कर चर्चा हुई. सीएम योगी ने निर्देश दिया है कि मंत्री समूहों ने जिन क्षेत्रों में सुधार की जरूरत बताई है, उस पर अमल किया जाए. यही नहीं, मंत्री समूहों के मंडल और जिलों में भ्रमण और रात्रि प्रवास के कार्यक्रम को आगे भी जारी रखने के लिए निर्देश दिया है.

मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में लोकभवन में आयोजित बैठक में एक-एक कर सभी 18 मंत्री समूहों के अध्यक्षों ने अपने प्रभार वाले मंडलों के बारे में जानकारी दी. मंत्रियों व बताया कि विकास कार्यों की गुणवत्ता और समयबद्धता के लिए अधिकारियों को स्पष्ट निर्देश दिए गए हैं.

मंत्रियों के दौरे में खासतौर कर महिला सुरक्षा एससी-एसटी के मुकदमों मेंअभियोजन की स्थिति, मंडल के हर जिले में पुलिस पेट्रोलिंग, बाल यौन अपराधों, व्यापरियों की समस्याओं, गैंगस्टर एक्ट पर कार्रवाई पर भी समीक्षा की गयी है. मंत्रियों को मंडलों में प्रवास के दौरान 'जन चौपाल' और 'सहभोज' के लिए भी कहा गया था.

मंत्रियों में अपना फीडबैक देते हुए कहा कि महिला सुरक्षा, बेहतर स्वास्थ्य सुविधा और स्कूलों के कायाकल्प और मुफ्त राशन को लेकर जनता में सकारात्मक माहौल है. जनसमस्या की सुनवाई को लेकर मंत्रियों का फीडबैक ये रहा कि उसे और बेहतर बनाए जाने की जरूरत है.

हाल ही में गुजरात के केवड़िया से लौटे डिप्टी सीएम बृजेश पाठक ने कहा कि संचारी रोगों पर नियंत्रण के लिए 'यूपी मॉडल' पर वहां एक प्रस्तुतिकरण किया गया. प्रदेश में एक जनपद-एक मेडिकल कॉलेज साथ ही यूपी के 'one district one medical college' को लेकर भी चर्चा वहां हुई जिसे दूसरे राज्यों से भी सराहना मिली.

यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ (फाइल फोटो).
उन्नाव कांड पर बोलीं प्रियंका, 'योगी जी आपके प्रशासन में होती है महिलाओं की हत्या'

संबंधित खबरें

No stories found.