window.googletag = window.googletag || { cmd: [] }; let pathArray = window.location.pathname.split('/'); function getCookieData(name) { var nameEQ = name + '='; var ca = document.cookie.split(';'); for (var i = 0; i < ca.length; i++) { var c = ca[i]; while (c.charAt(0) == ' ') c = c.substring(1, c.length); if (c.indexOf(nameEQ) == 0) return c.substring(nameEQ.length, c.length); } return null; } googletag.cmd.push(function() { if (window.screen.width >= 900) { googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_ATF_728x90', [728, 90], 'div-gpt-ad-1702014298509-0').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_ATF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1702014298509-1').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_MTF_728x90', [728, 90], 'div-gpt-ad-1702014298509-2').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_MTF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1702014298509-3').addService(googletag.pubads()); } else { googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_ATF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-0').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-1_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-2').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-2_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-3').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-3_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-4').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_BTF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-5').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_Bottom_320x50', [320, 50], 'div-gpt-ad-1659075693691-6').addService(googletag.pubads()); } googletag.pubads().enableSingleRequest(); googletag.enableServices(); if (window.screen.width >= 900) { googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-0'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-1'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-2'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-3'); } else { googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-0'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-2'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-3'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-4'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-5'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-6'); } });

ट्रांसफर के खिलाफ सड़क पर उतरे सरकारी बैंक के कर्मचारी, लगाया ये बड़ा आरोप

सत्यम मिश्रा

ADVERTISEMENT

up news
up news
social share
google news

Uttar Pradesh News : उत्तर प्रदेश में लगातार प्रदर्शन हो रहे हैं, चाहे वह शिक्षा जगत से जुड़े हो या फिर अन्य महकमें से. इन्हीं सब के बीच अब सरकारी बैंक के कर्मचारियों ने भी तबादले की नियमावली को ताख पर रखकर किए जा रहे ट्रांसफर्स के खिलाफ राजधानी लखनऊ में प्रदर्शन किया. 

प्रदर्शन को लेकर बैंक ऑफ बड़ौदा के मैनेजर सत्यम शुक्ला ने बताया कि, स्थानांतरण नियमावली के खिलाफ किया जा रहा था,साथ ही स्टाफ की कमी के मामले को लंबे समय से उठाया जा रहा था और इसी तरह अपनी कई मांगों के चलते बैंक ऑफ बड़ौदा के ऑफिसर्स एसोसिएशन ने प्रबंध के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया है.

क्यों हो रहा प्रदर्शन

वहीं ऑल इंडिया बैंक ऑफ़ बड़ौदा ऑफिसर्स एसोसिएशन की जोनल टीम ने बताया कि, बैंक की सर्वाधिक संख्या वाले अधिकारी एसोसिएशन ऑल इंडिया, बैंक ऑफ बड़ौदा ऑफिसर्स एसोसिएशन द्वारा बैंक की सभी शाखाओं, क्षेत्रीय और अंचल कार्यालयों पर कार्यावधि के बाद काली पट्टियां लगाकर विरोध प्रदर्शन करने पर उतारू हैं. इसके पीछे का कारण बैंक प्रबंधन द्वारा आल इंडिया लेवल पर जो बैंक कि ट्रांसफर पॉलिसी होती है. उसे हमारे टॉप मैनेजमेंट ने ट्रांसफर पॉलिसी का वायलेशन करके भारी संख्या में पूरे देश में ऑफिसर्स का ट्रांसफर किया है. 

यह भी पढ़ें...

ADVERTISEMENT

बैंककर्मियों को इस बात से है नाराजगी

जोनल सेक्रेटरी संदीप बताते हैं कि, 'जिनका ट्रांसफर होना था उनका नहीं किया और जिनका नहीं होना था, उनका कर दिया गया. स्थांतरण में तमाम तरीके की अनिमित्ताएं हैं और बहुत भारी संख्या में 5 हजार से अधिक संख्या में ट्रांसफर हो रहे हैं. ऐसे में बैंक का फाइनेंशियल लॉस है. बिजनेस लॉस है के अलावा रेपुटेशन लॉस भी है. संदीप ने यह भी बताया कि, हमारे यहां एक सिस्टम होता है जब भी कोई पॉलिसी होती है तो जो बैंक का  मेजोरिटी एसोसिएशन है उससे बातचीत करके आगे बढ़ाया जाता है. जो कि बैंक का नियम है जिसे इग्नोर किया जा रहा है. वहीं टॉप मैनेजमेंट अपनी मनमानी करके ट्रांसफर्स कर रहे हैं.'

    follow whatsapp

    ADVERTISEMENT