window.googletag = window.googletag || { cmd: [] }; let pathArray = window.location.pathname.split('/'); function getCookieData(name) { var nameEQ = name + '='; var ca = document.cookie.split(';'); for (var i = 0; i < ca.length; i++) { var c = ca[i]; while (c.charAt(0) == ' ') c = c.substring(1, c.length); if (c.indexOf(nameEQ) == 0) return c.substring(nameEQ.length, c.length); } return null; } googletag.cmd.push(function() { if (window.screen.width >= 900) { googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_ATF_728x90', [728, 90], 'div-gpt-ad-1702014298509-0').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_ATF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1702014298509-1').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_MTF_728x90', [728, 90], 'div-gpt-ad-1702014298509-2').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_MTF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1702014298509-3').addService(googletag.pubads()); } else { googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_ATF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-0').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-1_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-2').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-2_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-3').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-3_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-4').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_BTF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-5').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_Bottom_320x50', [320, 50], 'div-gpt-ad-1659075693691-6').addService(googletag.pubads()); } googletag.pubads().enableSingleRequest(); googletag.enableServices(); if (window.screen.width >= 900) { googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-0'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-1'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-2'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-3'); } else { googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-0'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-2'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-3'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-4'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-5'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-6'); } });

लखनऊ: गर्लफ्रेंड के शौक को पूरा करने के लिए की 15 लाख की लूट, 8 महीनों तक की रेकी, जानें

आशीष श्रीवास्तव

ADVERTISEMENT

UPTAK
social share
google news

Lucknow News: उत्तर प्रदेश के लखनऊ से हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है. यहां अपनी गर्लफ्रंड के महंगे खर्च को पूरा करने के लिए लूट की वारदात को अंजाम दे डाला. आरोप है कि आरोपियों ने लूट की वारदात को अंजाम देने के लिए पहले करीब 8 महीने तक व्यापारी का पीछा किया, जिसके बाद मौका मिलते ही 15 लाख की लूट की वारदात को अंजाम दे दिया.

ये है मामला

मिली जानकारी के मुताबिक, लखनऊ के थाना आलमबाग के पास ओवर ब्रिज पर बाइक सवार बदमाशों ने व्यापारी से लूट कर ली थी और फरार हो गए थे. इस मामले की जांच पुलिस द्वारा की जा रही थी. पुलिस के मुताबिक, पकड़े गए दोनों आरोपी सरकारी दफ्तर में संविदा कर्मी हैं और गर्लफ्रेंड के महंगे खर्चों को पूरा करने के लिए उन्होंने इस घटना को अंजाम दिया है.

यह भी पढ़ें...

ADVERTISEMENT

ऐसे बनाया प्लान

मिली जानकारी के अनुसार, आरोपियों को चूड़ी बेचने वाले की तरफ से व्यापारी के बारे में पता चला था. इन्हें जानकारी मिली थी कि एक व्यापारी हर मंगलवार को रकम लेकर जाता है. इसके बाद दोनों आरोपियों ने 8 महीने तक व्यापारी का पीछा किया.

ADVERTISEMENT

मिली जानकारी के मुताबिक, आरोपियों ने एक दिन मौका पाते ही लूट की वारदात को अंजाम दे डाला. पुलिस द्वारा मामले की जांच की जा रही थी. पुलिस ने जांच के दौरान करीब 800 से ज्यादा सीसीटीवी कैमरों की जांच की. तब जाकर पुलिस ने मामले का खुलासा किया है.

इस पूरे मामले पर लखनऊ के ज्वाइंट सीपी नीलाब्जा चौधरी ने बताया, “पकड़ा गया आरोपी राजा मिश्रा और विशाल पाल सरकारी ऑफिस में संविदा कर्मी है. दोनों ने गर्ल फ्रेंड के महंगे खर्चों को पूरे करने के लिए घटना को अंजाम दिया था. इन दोनों ने चूड़ी बेचने वाले से व्यापारी के बारे में पता किया. पता चला की व्यापारी हर मंगलवार को रकम लेकर जाता है. इस दौरान इन्होंने 8 महीने तक हर मंगलवार को व्यापारी का पीछा किया और एक दिन इस घटना को अंजाम दिया.”

ADVERTISEMENT

उन्होंने आगे बताया कि जांच के दौरान पुलिस ने 800 से ज्यादा सीसीटीवी कैमरे खंगाले. सर्विलांस की मदद से बाइक के नंबर को ट्रेस किया गया और आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया.

लखनऊ: पति-पत्नी का विवाद सुलझा रही थी पुलिस, तभी दंपति ने वो किया जिसकी नहीं थी उम्मीद

    follow whatsapp

    ADVERTISEMENT