'लखनऊ समेत के RSS 6 कार्यालयों को बम से उड़ाने की धमकी', वॉट्सऐप चैट आई सामने, FIR दर्ज

'लखनऊ समेत के RSS 6 कार्यालयों को बम से उड़ाने की धमकी', वॉट्सऐप चैट आई सामने, FIR दर्ज
सांकेतिक तस्वीर.फोटो: चंद्रदीप कुमार/ इंडिया टुडे

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ समेत छह जगहों के आरएसएस कार्यालय को लेकर एक सनसनीखेज मामला सामने आया है, जिसमें 'अल अंसारी इमाम रजीउन महंदी' नामक एक वॉट्सऐप ग्रुप में कुछ संदिग्ध गतिविधियां देखने को मिली हैं. इसमें तीन अलग-अलग भाषाओं (हिंदी, अंग्रेजी, कन्नड़) में कुछ बातें ग्रुप में साझा की गई हैं.

ग्रुप में अंग्रेजी भाषा में लिखा गया है कि- 'V49 R+J8G Nawabganj uttar pradesh 271304: Your six party office is bombed at 8 pm stop the explosion if u can.' वहीं हिंदी भाषा में लिखा गया कि है कि- 'वी 49R+J8 g नवाबगंज उत्तर प्रदेश 271304: आपके छह पार्टी कार्यालय पर बमबारी की गई! 8 बजे! हो सके तो विस्फोट करना बंद कर दें.'

नवाबगंज के अलावा, राजधानी लखनऊ के सेक्टर क्यू स्थित सरस्वती विद्या मंदिर का जिक्र है. इसके अलावा कर्नाटक के अलग-अलग चार राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के कार्यालयों के पता का ग्रुप में जिक्र किया गया है.

क्या है मामला?

मिली जानकारी के मुताबिक, बताया जा रहा है कि 'अल इमाम अंसार रजीउन मेहंदी' नामक ग्रुप पर आरएसएस के एक कार्यकर्ता वॉट्सऐप इनवाइट लिंक के माध्यम से ग्रुप में जुड़े. वॉट्सऐप ग्रुप इनवाइट लिंक कई ग्रुपों में चल रहा था, जिसके चलते आरएसएस के कार्यकर्ता ने उसको भी खोला और जुड़ गए. जुड़ने के बाद उन्होंने देखा कि इस तरीके की चर्चा उस ग्रुप में हो रही है, जिसके बाद स्वयंसेवक ने अवध प्रांत स्तर के एक अधिकारी को मामले की सूचना दी. इसके बाद मामले का संज्ञान लेते हुए अवध प्रांत के अधिकारी ने आरएसएस के आला अधिकारियों को सूचना दी, जिसके बाद पूरे मामले की जानकारी पुलिस के साथ साझा की गई.

मामले की जानकारी मिलने पर पुलिस हरकत में आई. लखनऊ के अलीगंज सेक्टर क्यू स्थित सरस्वती विद्या मंदिर पर पुलिस की टीम पहुंची और जांच पड़ताल की. राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के अवध प्रांत के प्रमुख प्रोफेसर नीलकंठ तिवारी की तहरीर पर लखनऊ के मड़ियाहूं थाने में मुकदमा पंजीकृत किया गया है. वहीं इस वक्त आरएसएस के कार्यालय पर प्रशिक्षण शिविर भी लगा हुआ है, ऐसे में इस तरीके की बातें सामने आने के बाद हड़कंप मच गया है.

लखनऊ के मड़ियाहूं थाने के एसएचओ ने बताया कि मामले में तहरीर के आधार पर मुकदमा पंजीकृत किया गया है. आईपीसी की धारा 507 और आईटी एक्ट 66 के तहत मुकदमा पंजीकृत किया गया है साथ ही साथ पुलिस मामले की गंभीरता को देखते हुए जांच पड़ताल कर रही है.

बता दें कि इससे पहले जुलाई माह में आरएसएस कार्यालय और प्राचीन हनुनान मंदिरों को बम से उड़ाने का धमकी भरा पत्र सामने आया था.

सांकेतिक तस्वीर.
कानपुर के बाद बीजेपी नेत्री के बयान के विरोध की आग लखनऊ और बरेली पहुंची

संबंधित खबरें

No stories found.
UPTak - UP News in Hindi (यूपी हिन्दी न्यूज़)
www.uptak.in