window.googletag = window.googletag || { cmd: [] }; let pathArray = window.location.pathname.split('/'); function getCookieData(name) { var nameEQ = name + '='; var ca = document.cookie.split(';'); for (var i = 0; i < ca.length; i++) { var c = ca[i]; while (c.charAt(0) == ' ') c = c.substring(1, c.length); if (c.indexOf(nameEQ) == 0) return c.substring(nameEQ.length, c.length); } return null; } googletag.cmd.push(function() { if (window.screen.width >= 900) { googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_ATF_728x90', [728, 90], 'div-gpt-ad-1702014298509-0').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_ATF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1702014298509-1').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_MTF_728x90', [728, 90], 'div-gpt-ad-1702014298509-2').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_MTF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1702014298509-3').addService(googletag.pubads()); } else { googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_ATF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-0').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-1_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-2').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-2_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-3').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-3_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-4').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_BTF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-5').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_Bottom_320x50', [320, 50], 'div-gpt-ad-1659075693691-6').addService(googletag.pubads()); } googletag.pubads().enableSingleRequest(); googletag.enableServices(); if (window.screen.width >= 900) { googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-0'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-1'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-2'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-3'); } else { googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-0'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-2'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-3'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-4'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-5'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-6'); } });

बेटा मर गया है, मुझे छोड़ दो… ड्राइवर गिड़गिड़ाता रहा GST अधिकारी नहीं माने, उसकी भी हुई मौत

रंजय सिंह

ADVERTISEMENT

UPTAK
social share
google news

Kanpur News: उत्तर प्रदेश के कानपुर से अधिकारियों की संवेदनहीनता का शर्मसार कर देने वाला मामला सामने आया है. दरअसल यहां जीएसटी अधिकारियों पर गंभीर आरोप लगा है. दरअसल जीएसटी अधिकारियों ने एक ट्रक को रोका. ट्रक में कागज कम थे तो जीएसटी अधिकारियों ने ट्रक ड्राइवर को पकड़ लिया. 

दूसरे दिन ट्रक ड्राइवर को पता चला कि उसके बेटे की मौत हो गई. ट्रक ड्राइवर अधिकारियों के सामने गिड़गिड़ाता रहा कि उसके बेटे की मौत हो गई है. उसे छोड़ दिया जाए. आरोप है कि जीएसटी अधिकारियों ने उसकी बातों को अनसुना कर दिया. इसी बीच बेटे के गम में ट्रक ड्राइवर की मौत हो गई. अब ड्राइवर के दूसरे बेटे ने जीएसटी अधिकारियों के खिलाफ केस दर्ज करवा दिया है. इसके साथ-साथ ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन और व्यापार मंडल ने अधिकारियों की गिरफ्तारी ना होने पर पूरे प्रदेश में व्यापार ठप करने की चेतावनी दी है.

विस्तार से जानिए पूरा मामला

मिली जानकारी के मुताबिक, कानपुर में स्टेट जीएसटी के वरिष्ठ अधिकारी अमित मोहन और पारसनाथ यादव ने बीते शुक्रवार की रात को पंजाब के ट्रक ड्राइवर बलवीर सिंह को उसके ट्रक के साथ पकड़ लिया. बताया जा रहा है कि ट्रक में कागजों की कमी थी. बता दें कि ट्रक कानपुर से पंजाब जा रहा था. अधिकारी ट्रक ड्राइवर को अपने साथ ले गए. 

यह भी पढ़ें...

ADVERTISEMENT

अगले दिन हो गई ड्राइवर के बेटे की मौत

मिली जानकारी के मुताबिक, अगले दिन ट्रक ड्राइवर के बेटे को पता चला कि उसके बेटे की मौत हो गई है. ये सुनते ही ट्रक ड्राइवर बिलख-बिलख कर रोने लगा. इस दौरान मृतक ड्राइवर ने अधिकारियों से घर जाने की अपील की. उनसे कहा कि बेटे की मौत हो गई है. घर जाने दीजिए. आरोप है कि जीएसटी अधिकारियों ने ट्रक ड्राइवर की एक ना सुनी. 

मिली जानकारी के मुताबिक, बीते शनिवार को बेटे की मौत के गम में ट्रक ड्राइवर की भी जीएसटी दफ्तर के अंदर खड़े ट्रक में मौत हो गई. ट्रक ड्राइवर की मौत से हड़कंप मच गया. सोमवार को मृतक ड्राइवर के शव का पोस्टमॉर्टम करवाया गया है.

ADVERTISEMENT

जीएसटी अधिकारियों पर दर्ज हुई एफआईआर

मिली जानकारी के अनुसार, ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन के लोगों ने इस मामले को लेकर मृतक के परिजनों के साथ जीएसटी मुख्यालय में विरोध प्रदर्शन किया है. इस घटना से जीएसटी मुख्यालय में हड़कंप मच गया है. व्यापारियों ने साफ कह दिया है कि अगर आरोपी अधिकारियों के खिलाफ केस दर्ज नहीं हुआ तो पूरे प्रदेश का व्यापार ठप कर दिया जाएगा. इसके बाद मृतक के बेटे की शिकायत पर जीएसटी अधिकारी अमित मोहन और पारसनाथ यादव समेत कई कर्मचारियों के खिलाफ केस दर्ज किया गया है.

पुलिस ने क्या बताया

इस पूरे मामले पर डीसीपी विजय ढुल ने बताया, “ मृतक ड्राइवर के बेटे के शिकायत पर जीएसटी अधिकारियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है. आगे की जांच के बाद कार्रवाई होगी. केस हत्या के आरोप में दर्ज किया गया है. मामले की जांच की जा रही है.”

ADVERTISEMENT

    follow whatsapp

    ADVERTISEMENT