window.googletag = window.googletag || { cmd: [] }; let pathArray = window.location.pathname.split('/'); function getCookieData(name) { var nameEQ = name + '='; var ca = document.cookie.split(';'); for (var i = 0; i < ca.length; i++) { var c = ca[i]; while (c.charAt(0) == ' ') c = c.substring(1, c.length); if (c.indexOf(nameEQ) == 0) return c.substring(nameEQ.length, c.length); } return null; } googletag.cmd.push(function() { if (window.screen.width >= 900) { googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_ATF_728x90', [728, 90], 'div-gpt-ad-1702014298509-0').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_ATF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1702014298509-1').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_MTF_728x90', [728, 90], 'div-gpt-ad-1702014298509-2').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_MTF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1702014298509-3').addService(googletag.pubads()); } else { googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_ATF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-0').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-1_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-2').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-2_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-3').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-3_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-4').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_BTF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-5').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_Bottom_320x50', [320, 50], 'div-gpt-ad-1659075693691-6').addService(googletag.pubads()); } googletag.pubads().enableSingleRequest(); googletag.enableServices(); if (window.screen.width >= 900) { googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-0'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-1'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-2'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-3'); } else { googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-0'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-2'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-3'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-4'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-5'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-6'); } });

कानपुर में गे डेटिंग ऐप का हल्ला, जो इसके चक्कर में फंसा सब कुछ गंवा बैठा

सिमर चावला

ADVERTISEMENT

UPTAK
social share
google news

Kanpur News: यूं तो आजकल लूट के नए-नए तरीके लोग अपनाने लगे हैं, लेकिन कानपुर पुलिस ने एक ऐसे सिंडिकेट का भंडाफोड़ किया है जो गे डेटिंग ऐप पर लोगों से दोस्ती कर उन्हें घर बुलाता था और उनका अश्लील वीडियो बना लेता था. इतना ही नहीं यह गैंग लोगों के साथ मारपीट कर अकाउंट में पैसा ट्रांसफर भी करवा लेता था. एडिशनल डीसीपी लखन यादव के मुताबिक अभी तक की जानकारी के अनुसार, 9 से 10 लोगों के साथ ऐसा हुआ है, लेकिन जैसे जैसे लोगों को अब इसके बारे में पता चलेगा तो हो सकता है और केस सामने आएं.

ऐसे ब्लैकमेल करता था यह गैंग

आरोप है कि यह गैंग लोगों को यह कहकर ब्लैकमेल करता था कि किसी को अगर कुछ बताया तो वीडियो घरवालों और दोस्तों को भेज दिया जाएगा. पुलिस की मानें तो पिछले 8 अगस्त को एक मामला सामने आया था जिसके मुताबिक एक शख्स को कुछ लोगों ने गे डेटिंग ऐप के जरिए सेक्सुअल इंटरकोर्स करने के बहाने घर पर बुलाया. यहां पर मौजूद लोगों ने मारपीट कर उसका अश्लील वीडियो बनाया और घर वालों को भेजने की धमकी दी.

इस नाम से बनाया था ऐप

इस दौरान आरोपियों ने ब्लैकमेल करते हुए पीड़ित से मोटी रकम अपने बैंक खाते से ट्रांसफर करवा ली. जब जांच हुई तो पता चला कि यह स्टूडेंट का एक ग्रुप है. आरोपियों ने ‘ब्लूड्ड’ नाम के गे डेटिंग ऐप पर रजिस्ट्रेशन कराया हुआ था, जिससे यह बाकी उन लोगों के संपर्क में आते थे जो इस ऐप पर रजिस्टर्ड थे. उनसे दोस्ती कर उनको घर बुलाया जाता था और वहां पर छात्रों की पूरी टीम उन्हें मारने और धमका कर पैसे लूटने को तैयार रहती थी.

यह भी पढ़ें...

ADVERTISEMENT

पुलिस ने कही ये बात

एडिशनल डीसीपी लखन यादव के मुताबिक, अभी की जानकारी के चलते 9 से 10 लोगों के साथ ऐसा हुआ है, लेकिन जैसे जैसे लोगों को अब इसके बारे में पता चलेगा तो हो सकता है और केस सामने आएं.

पीड़ित ने ये सब बताया

वहीं, एक पीड़ित ने बताया कि बीयर पीने के बहाने उसे घर बुलाया गया. वहीं जैसे ही वह पहुंचा और उसने बीयर पीनी शुरू की तो उतने में पीछे से कई लोग आ गए और उसके साथ मारपीट शुरू कर दी. अश्लील वीडियो बनाया गया और घर वालों को भेजने की धमकी देकर उससे 25000 रुपये अकाउंट में डलवा लिए.

ADVERTISEMENT

    follow whatsapp

    ADVERTISEMENT