window.googletag = window.googletag || { cmd: [] }; let pathArray = window.location.pathname.split('/'); function getCookieData(name) { var nameEQ = name + '='; var ca = document.cookie.split(';'); for (var i = 0; i < ca.length; i++) { var c = ca[i]; while (c.charAt(0) == ' ') c = c.substring(1, c.length); if (c.indexOf(nameEQ) == 0) return c.substring(nameEQ.length, c.length); } return null; } googletag.cmd.push(function() { if (window.screen.width >= 900) { googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_ATF_728x90', [728, 90], 'div-gpt-ad-1702014298509-0').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_ATF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1702014298509-1').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_MTF_728x90', [728, 90], 'div-gpt-ad-1702014298509-2').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_MTF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1702014298509-3').addService(googletag.pubads()); } else { googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_ATF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-0').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-1_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-2').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-2_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-3').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-3_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-4').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_BTF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-5').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_Bottom_320x50', [320, 50], 'div-gpt-ad-1659075693691-6').addService(googletag.pubads()); } googletag.pubads().enableSingleRequest(); googletag.enableServices(); if (window.screen.width >= 900) { googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-0'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-1'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-2'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-3'); } else { googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-0'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-2'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-3'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-4'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-5'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-6'); } });

क्या गाड़ियों पर आप भी लिखकर चलते हैं ऐसे शब्द, तो हो जाएं सावधान, सीज हो सकते हैं आपके वाहन

भूपेंद्र चौधरी

ADVERTISEMENT

UPTAK
social share
google news

Uttar Pradesh News : उत्तर प्रदेश में गाड़ियों पर जातिवाचक और धर्म वाचक शब्द लिखने वालो की अब खैर नहीं है. नोएडा (Noida News)  ट्रैफिक पुलिस ऐसे वाहनों के खिलाफ कारवाई में जुटी हुई है. ट्रैफिक पुलिस ने ऐसे वाहनों खिलाफ नोएडा में अभियान चलाया है. ट्रैफिक पुलिस ने नोएडा के सबसे व्यस्त चौराहे माने जाने वाले सेक्टर 37 चौराहे पर चेकिंग चलाया और जहां पर जाति सूचना व धर्म को दर्शाने वाले शब्द लिखे हुए और गाड़ियों पर काली फ़िल्म चढ़ी हुई चालान की कार्रवाई की है.

गाड़ियों पर ऐसा लिखना पड़ेगा भारी

बता दें कि मंगलवार को नोएडा ट्रैफिक पुलिस बैरिकेडिंग लगाकर चेकिंग अभियान चला रही थी. पुलिस ने ऐसे सैकड़ों गाड़ियों को रोका जिस पर या तो जाति सूचक शब्द लिखे हुए थे या धर्म सूचक. साथ ही पुलिस ने काली फिल्म चढ़ा कर चलने वाले गाड़ियों को भी रोक कर चालान किया. बता दें कि उत्तर प्रदेश में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश दिए जाने के बाद है कि किसी भी वाहन पर जाति व धर्म को दर्शाने वाले शब्द न लिखे हो. अगर ऐसे वहान कहीं भी दिखाई देते हैं तो उन पर सख्त कार्रवाई की जाए.

सीएम योगी ने दिए हैं ये निर्देश

वहीं गाड़ियों के शीशों पर जेड ब्लैक फ़िल्म चढ़ी होने पर भी ट्रैफिक पुलिस के द्वारा चालान की कार्रवाई की जा रही है. मुख्यमंत्री के निर्देश का पालन करते हुए ट्रैफिक पुलिस ने नोएडा में सख्ती दिखाई है. ट्रैफिक पुलिस के बड़े अधिकारी खुद सड़को पर उतर के ऐसे वाहनों का चालान कर रही है और लोगो से बातचीत भी कर रहे है. पुलिस जाती सूचक शब्दो को गाड़ियों से हटाने के लिए जागरूक भी कर रहे हैं.

यह भी पढ़ें...

ADVERTISEMENT

पुलिस ने दी ये जानकारी

इसबारे में ज्यादा जानकारी देते हुए एसीपी ट्रैफिक सौरव श्रीवास्तव ने बताया कि, ‘शासन स्तर से मुख्यमंत्री के द्वारा निर्देश के क्रम में नोएडा के सेक्टर 37 चौराहे पर चेकिंग अभियान चलाया जा रहा है. चेकिंग अभियान के द्वारा जातिसूचक और धर्म को दर्शाने वाले शब्द लिखे हुए वाहनों पर चालान की कार्रवाई की जा रही है. अभी तक यहां 80 गाड़ियों का चालान किया जा चुका है.’

गाड़ियां हो सकती हैं सीज

एसीपी ने बताया कि पहली बार जाति सूचक व धर्म को दर्शाने वाले शब्द लिखी पकड़ी गई गाड़ी पर एक हजार रुपए का चालान किया जा रहा है. वहीं उसी गाड़ी पर दूसरी बार में 2000 रुपए चालान किया जा रहा है. तीसरी बार में यदि वही गाड़ी पकड़ी जाती है तो उसको सीज किया जाएगा. इसी प्रकार काली फिल्म चढ़ी हुई गाड़ियों पर भी चालान की कार्रवाई की जा रही है. पहली बार में काली फिल्म चढ़ी हुई गाड़ी पर 2500 रुपये का चालान किया जाएगा. वही गाड़ी अगर दूसरी बार पकड़ी जाती है तो उस पर 5000 रुपये का चालान किया जाएगा. अबतक जिले में 1000 ऐसे वाहनों का चालान किया जा चुका है और आगे भी ऐसे वाहनों पर चालान किया जाता रहेगा.

ADVERTISEMENT

    follow whatsapp

    ADVERTISEMENT