window.googletag = window.googletag || { cmd: [] }; let pathArray = window.location.pathname.split('/'); function getCookieData(name) { var nameEQ = name + '='; var ca = document.cookie.split(';'); for (var i = 0; i < ca.length; i++) { var c = ca[i]; while (c.charAt(0) == ' ') c = c.substring(1, c.length); if (c.indexOf(nameEQ) == 0) return c.substring(nameEQ.length, c.length); } return null; } googletag.cmd.push(function() { if (window.screen.width >= 900) { googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_ATF_728x90', [728, 90], 'div-gpt-ad-1702014298509-0').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_ATF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1702014298509-1').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_MTF_728x90', [728, 90], 'div-gpt-ad-1702014298509-2').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_MTF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1702014298509-3').addService(googletag.pubads()); } else { googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_ATF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-0').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-1_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-2').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-2_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-3').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-3_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-4').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_BTF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-5').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_Bottom_320x50', [320, 50], 'div-gpt-ad-1659075693691-6').addService(googletag.pubads()); } googletag.pubads().enableSingleRequest(); googletag.enableServices(); if (window.screen.width >= 900) { googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-0'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-1'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-2'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-3'); } else { googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-0'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-2'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-3'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-4'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-5'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-6'); } });

नोएडा : अमूल आइसक्रीम के डिब्बे में निकला था कनखजूरा, अब कंपनी ने महिला से मिलकर कह दी ये बड़ी बात

यूपी तक

ADVERTISEMENT

The discovery prompted Devi to record a video of the contaminated ice cream, which has since been shared widely on social media.
The discovery prompted Devi to record a video of the contaminated ice cream, which has since been shared widely on social media.
social share
google news

Noida News : उत्तर प्रदेश के नोएडा से बीते 15 जून को एक हैरान करने वाला मामला सामने आया था. दलअसल यहां एक महिला ने ऑनलाइन ब्लिंकिट से आइसक्रीम मंगवाई थी. वहीं डिलीवरी आने के बाद जब महिला ने आइसक्रीम के पैकेट को खोला तो पैकेट खुलने के बाद आइसक्रीम के अंदर कानखजूरा दिखा था. जानकारी के मुताबिक, महिला नोएडा के सेक्टर-12 में रहने वाली है और उनका नाम दीपा है. दीपा ने अपने बच्चों के लिए ब्लिंकिट से आइसक्रीम मंगवाया था. जिसमें कनखजूरा निकलने के मामले को लेकर पीड़ित महिला ने अमूल कंपनी से शिकायत भी की थी. अब अमूल कंपनी ने उस मामले में अपनी प्रतिक्रिया दी है.

आइसक्रीम में कनखजूरा मिलने पर अमूल ने तोड़ी चुप्पी

इस पूरे मामले पर प्रतिक्रिया देते हुए अमूल ने सोशल मीडिया पर एक पोस्ट साझा किया है. पोस्ट के मुताबिक अमूल ने कहा कि,  महिला ग्राहक को हुई परेशानी को लेकर हम खेद व्यक्त करते हैं. सोशल मीडिया पर अमूल द्वारा शिकायत का तुरंत जवाब दिया गया और हमें उनका मोबाइल नंबर प्राप्त हुआ. हमने ग्राहक से लगातार संपर्क करने की कोशिश की. उसी दिन  रात 9:30 बजे के ग्राहक से मिलने की अनुमति दी गई थी. मुलाकात के दौरान हमनें आइसक्रीम का डिब्बा भी मांगा, ताकि उसकी जांच की जा सके. लेकिन, महिला ने डिब्बा देने से इंकार कर दिया.

अमूल ने आगे कहा कि, अमूल का कहना है कि जबतक हम महिला ग्राहक से आइसक्रीम का टब वापस नहीं ले लेते तब तक मामले की जांच करना हमारे लिए काफी मुश्किल है. कस्टमर से मीटिंग के दौरान अमूल ने बताया कि अमूल का प्लांट आईएसओ सर्टिफाइड है. यहां कई तरह के क्वालिटी चेक के बाद हम लोगों तक किसी भी उत्पाद को पहुंचाते हैं. 

यह भी पढ़ें...

ADVERTISEMENT

क्या था पूरा मामला

बता दें कि नोएडा की रहने वाली दीपा ने 15 जून को ब्लिंकिट से अमूल की आइसक्रीम मंगवाई थी. डिलीवरी आने के बाद जब महिला ने आइसक्रीम के पैकेट को खोला तो पैकेट खुलने के बाद आइसक्रीम के अंदर कानखजूरा दिखा था. महिला का कहना है कि अगर 5 साल का बच्चा गलती से इस आइसक्रीम को खा लेता तो क्या होता? ये गंभीर मामला है.  महिला ने 15 जून को एक्स हैंडल पर एक पोस्ट किया था, जिसमें अमूल के आइसक्रीम टब में कनखजूरा होने की बात कही थी. 
 

    follow whatsapp

    ADVERTISEMENT