window.googletag = window.googletag || { cmd: [] }; let pathArray = window.location.pathname.split('/'); function getCookieData(name) { var nameEQ = name + '='; var ca = document.cookie.split(';'); for (var i = 0; i < ca.length; i++) { var c = ca[i]; while (c.charAt(0) == ' ') c = c.substring(1, c.length); if (c.indexOf(nameEQ) == 0) return c.substring(nameEQ.length, c.length); } return null; } googletag.cmd.push(function() { if (window.screen.width >= 900) { googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_ATF_728x90', [728, 90], 'div-gpt-ad-1702014298509-0').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_ATF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1702014298509-1').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_MTF_728x90', [728, 90], 'div-gpt-ad-1702014298509-2').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_MTF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1702014298509-3').addService(googletag.pubads()); } else { googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_ATF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-0').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-1_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-2').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-2_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-3').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-3_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-4').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_BTF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-5').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_Bottom_320x50', [320, 50], 'div-gpt-ad-1659075693691-6').addService(googletag.pubads()); } googletag.pubads().enableSingleRequest(); googletag.enableServices(); if (window.screen.width >= 900) { googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-0'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-1'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-2'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-3'); } else { googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-0'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-2'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-3'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-4'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-5'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-6'); } });

नोएडा में हिंडन नदी ने कर दिया ये हाल, देखिए सैकड़ों गाड़ियां पानी में कैसे समाईं

अरुण त्यागी

ADVERTISEMENT

UPTAK
social share
google news

Noida News: यमुना के बाद हिंडन नदी अपना रौद्र रूप दिखा रही है. राजधानी दिल्ली से सटे गौतम बुद्ध नगर में हिंडन में आये बाढ़ के कारण लाखो लोग प्रभावित हुए हैं. वहीं हज़ारों लोगों को जिला प्रशासन द्वारा रेस्क्यू कर राहत केंद्रों में शिफ्ट किया जा चुका है. वहीं मंगलवार को हिंडन नदी का जलस्तर बढ़ने के कारण नोएडा इको-टेक क्षेत्र में सैकड़ों वाहन पानी डूब नजर आए.

मिली जानकारी के मुताबिक,  ग्रेटर नोएडा के ईकोटेक 3 स्टेशन के आसपास वाले इलाके में हिंडन का पानी आ गया, इसकी वजह से बाढ़ जैसी स्थिति पैदा हो गई. इस पानी में 300 से ज्यादा गाड़ियां डूब गईं, इनके अंदर भी पानी भर गया. खड़ी हुई ये गाड़ियां कैब सर्विस में लगी हुई हैं. ये गाड़ियां पांच फीट पानी में डूब गई हैं.

सैकड़ों गाड़ियां पानी में समाईं

बता दें कि नोएडा और गाजियाबाद के हिंडन नदी में लगातार जलस्तर बढ़ने से कई गांव में भी पानी लगातार बढ़ता जा रहा है. दरअसल, हिंडन बैराज से पानी छोड़े जाने के बाद नोएडा में हिंडन के तटीय क्षेत्रों में बाढ़ आ गया जिज़ वजह से लोगो को घरों को खाली करना पड़ रहा है. हिंडन के बाढ़ से नोएडा ग्रेट नोएडा के 6 गांव प्रभावित हुए है इसके साथ ही हिंडन के पुश्ता पर बने कॉलोनिया भी हिंडन के बाढ़ से प्रभावित हुए है. जिस वजह से लगभग ढाई लाख लोग प्रभावीत हो रहे है, जिला प्रशासन ने 2 हज़ार मकानों को खाली करने के आदेश दिए हैं.

यह भी पढ़ें...

ADVERTISEMENT

जलस्तर बढ़ने से बढ़ी मुसीबत

हिंडन बैराज से 22987 क्यूसेक पानी छोड़ा गया है जिस वजह से नोएडा के हैबतपुर, चोटपुर, बहलोलपुर,छिजारसी, चकशाहबेरी सबसे ज्यादा प्रभावित है. जिला प्रशासन और पुलिस द्वारा लगातार लाउडस्पीकर से एलान कर के लोगों को इलाका खाली करने के अपील कर रहे हैं. माना जा रहा है कि आने वाले दिनों में हिंडन में पानी और बढ़ सकता है जिसको लेकर जिला प्रशासन पूरी तरह अलर्ट है.

ADVERTISEMENT

लोगों को करना पड़ा रेस्क्यू

डीएम मनीष वर्मा ने बताया कि, ‘हिंडन में जलस्तर बढ़ने के कारण कई इलाके प्रभावित हुए है करीबन 800 लोगो को रेस्क्यू किया गया है. सभी लोगो के लिए आसपास के राहत केंद्रों में व्यवस्था की गई है. अधिकतर लोगों को शिफ्ट किया जा चुका है. कुछ लोग बाकी है उन्हें भी शिफ्ट किया जा रहा है. जिला प्रशासन ने पहले लोगों को एलान कर आगाह किया था. जिसकी वजह से हिंडन के आसपास बनाये गए 5 राहत केंद्रों पर लोग सही सलामत पहुंच गए हैं.’

ADVERTISEMENT

    follow whatsapp

    ADVERTISEMENT