ग्रेटर नोएडा: 'बेटा मम्मी को परेशान मत करना, वह साइकिल दिला देंगी', लिख युवक ने लगाई फांसी

ग्रेटर नोएडा: 'बेटा मम्मी को परेशान मत करना, वह साइकिल दिला देंगी', लिख युवक ने लगाई फांसी
फोटो: अरुण त्यागी, यूपी तक

ग्रेटर नोएडा वेस्ट में हाई राइज सोसाइटी में खुदकुशी करने के मामले थमने का नाम नहीं ले रहे हैं. आए दिन खुदकुशी की खबरें सामने आ रही हैं. ऐसा ही एक मामला शुक्रवार को वैलेंसिया हवेलिया सोसाइटी से सामने आया है, जहां पर एक युवक ने बीती रात कथित तौर पर सुसाइड कर लिया.

मौके से पुलिस को कथित सुसाइड नोट मिला है. युवक ने सुसाइड की वजह नहीं लिखी थी, बल्कि अपने 5 साल के बच्चे के लिए कुछ बातें लिखी थीं. पुलिस ने मौके पर पहुंचकर शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है और आगे की कार्रवाई में जुट गई.

बता दें कि कथित तौर पर सुसाइड की यह घटना बीती रात की है. मृतक अजय द्विवेदी अपनी पत्नी और 5 साल के बेटे के साथ वैलेंसिया हवेलिया सोसाइटी में रहता था. अभय द्विवेदी टीएलसी कंपनी में नौकरी करता था, जबकि उसकी पत्नी इबिक्स में जॉब करती है.

अहम बिंदु

हैरानी वाली बात यह है कि जो कथित सुसाइड नोट पुलिस को मौके से मिला है, उसमें मृतक अजय द्विवेदी ने अपने बेटे के लिए कुछ बातें कही हैं. मृतक अजय द्विवेदी ने कथित सुसाइड नोट में अपने बेटे से कहा कि आप अपनी मां को कभी तंग मत करना. वह आपको बहुत प्यार करती है. आप अपने चाचा ,चाची ,मामा ,मामी को भी परेशान मत करना. मम्मी आपको साइकिल भी दिला देगी, इसलिए मम्मी को आप किसी बात के लिए परेशान मत करना.

इस पूरे मामले पर जब हमारी राइज सिटी चौकी इंचार्ज प्रमोद कुमार से बात हुई तो उन्होंने बताया कि उन्हें रात को सूचना प्राप्त हुई थी कि डी टावर 305 में रहने वाले अजय द्विवेदी ने आत्महत्या कर ली है. मौके पर जाकर देखा गया तो वह सीलिंग फैन से लटके हुए थे. शव को उतार कर कब्जे में ले लिया गया है और पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है. हालांकि, जो मौके से सुसाइड नोट मिला है उससे किसी तरीके से गृह क्लेश की बात तो सामने निकलकर नहीं आ रही है. लेकिन फिर भी पुलिस हर एक बिंदुओं जांच कर रही है. आखिरकार अजय द्विवेदी ने इतना बड़ा कदम क्यों उठाया है.

ग्रेटर नोएडा: 'बेटा मम्मी को परेशान मत करना, वह साइकिल दिला देंगी', लिख युवक ने लगाई फांसी
ग्रेटर नोएडा में फिर दिखा डॉग टेरर! स्कूल जा रहे मासूम पर लिफ्ट में किया अटैक, देखें

संबंधित खबरें

No stories found.
UPTak - UP News in Hindi (यूपी हिन्दी न्यूज़)
www.uptak.in