window.googletag = window.googletag || { cmd: [] }; let pathArray = window.location.pathname.split('/'); function getCookieData(name) { var nameEQ = name + '='; var ca = document.cookie.split(';'); for (var i = 0; i < ca.length; i++) { var c = ca[i]; while (c.charAt(0) == ' ') c = c.substring(1, c.length); if (c.indexOf(nameEQ) == 0) return c.substring(nameEQ.length, c.length); } return null; } googletag.cmd.push(function() { if (window.screen.width >= 900) { googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_ATF_728x90', [728, 90], 'div-gpt-ad-1702014298509-0').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_ATF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1702014298509-1').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_MTF_728x90', [728, 90], 'div-gpt-ad-1702014298509-2').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_MTF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1702014298509-3').addService(googletag.pubads()); } else { googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_ATF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-0').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-1_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-2').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-2_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-3').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-3_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-4').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_BTF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-5').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_Bottom_320x50', [320, 50], 'div-gpt-ad-1659075693691-6').addService(googletag.pubads()); } googletag.pubads().enableSingleRequest(); googletag.enableServices(); if (window.screen.width >= 900) { googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-0'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-1'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-2'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-3'); } else { googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-0'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-2'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-3'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-4'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-5'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-6'); } });

अवैध संबंध, वो और पत्नी…, प्रयागराज के PAC इंस्पेक्टर की लखनऊ में हुई हत्या केस में पुलिस उलझी

यूपी तक

ADVERTISEMENT

अवैध संबंध, वो और पत्नी…, प्रयागराज के PAC इंस्पेक्टर की लखनऊ में हुई हत्या केस में पुलिस उलझी
अवैध संबंध, वो और पत्नी…, प्रयागराज के PAC इंस्पेक्टर की लखनऊ में हुई हत्या केस में पुलिस उलझी
social share
google news

प्रयागराज में तैनात PAC इंस्पेक्टर सतीश कुमार सिंह की लखनऊ में गोली मारकर हत्या कर दी गई. जिस समय उनको गोली मारी गई, वह रात 2 बजे अपनी पत्नी और 10 साल की बेटी के साथ घर लौट रहे थे. जैसे ही सतीश कुमार सिंह अपनी गाड़ी से उतरे और घर का गेट खोलने के लिए आगे आए, तभी उनको गोली मार दी गई. 

जिस समय ये घटना हुई, उस समय मृतक इंस्पेक्टर और उनकी बेटी कार में मौजूद थे. इस दौरान इंस्पेक्टर की पत्नी को एक परछाई दिखी. मगर जब तक वह अच्छे से उसे देख पाती, तब तक वह परछाई गायब हो चुकी थी. इंस्पेक्टर को फौरन इलाज के लिए अस्पताल ले जाया गया. मगर तब तक उनकी मौत हो चुकी थी. PAC इंस्पेक्टर की हत्या से हड़कंप मच गया और पुलिस ने रात में ही मामले की जांच शुरू कर दी. 

मगर जैसे-जैसे इस मामले की जांच हुई, वैसे-वैसे पुलिस भी इस केस में उलझती चली गई. मृतक की पत्नी और 10 साल की मासूम बेटी घटना के समय कार में मौजूद थे. पत्नी ने परछाई वाली बात पुलिस को बताई है. पत्नी के मुताबिक, वह परछाई हत्यारे की थी, जो घटना को अंजाम देने के बाद और अंधेरा का फायदा उठाकर मौके से फरार हो गया. मगर पुलिस हर एंगल से मामले की जांच कर रही है. पुलिस तो मृतक की पत्नी के बयान पर भी सवाल खड़े कर रही है.   

यह भी पढ़ें...

ADVERTISEMENT

अवैध संबंध, वो और पत्नी के एंगल पर भी पुलिस की नजर

दरअसल जांच में सामने आया है कि मृतक  PAC इंस्पेक्टर के कई अवैध संबंध थे. इसको लेकर मृतक और उनकी पत्नी के बीच भी अक्सर विवाद होता रहता था. मृतक की पत्नी ने भी अपने पति को लेकर कई चौंकाने वाली बातें बताई हैं. 

इंस्पेक्टर सतीश सिंह की पत्नी भावना सिंह ने बताया है कि, “बीते जनवरी में वह (पति) किसी लड़की को एक बार घर लेकर आए थे, जो कि वेश्यावृत्ति करती थी. उसको मेरी बच्ची ने देख लिया था. बच्ची ने इस बारे में मुझे जानकारी दी थी. जब मैंने उस लड़की को पकड़ा तो घर वालों ने मेरा मुंह बंद कर दिया कि किसी को बताना नहीं. इस तरह की कई सारी घटनाएं हुई थीं.”

ADVERTISEMENT

पत्नी भावना सिंह ने आगे बताया, “मुझे यह अनुमान था कि यह कुछ ना कुछ गलत कर रहे हैं. मैंने उस लड़की को पकड़ा था, लेकिन उन्होंने (पति) ने उसको भगा दिया और खुद भी दीवार फांदकर उस लड़की के पीछे भागे भी थे. यह हमारे ससुर का मकान है, जिस पर वह लड़कियां रेंट पर रहती हैं. मुझे उस इस मकान में इन लोगों ने कभी जाने नहीं दिया.”

‘मुझे परछाई दिखी और वह गायब हो गई’

इंस्पेक्टर सतीश सिंह की पत्नी भावना सिंह ने घटना वाली रात की भी जानकारी दी है. उन्होंने बताया है कि,  जब राजाजीपुरम से निकले तो बहुत रात हो गई थी, तो बेटी मेरी गोदी में सो गई थी. मुझे फीवर था, तो मैं गाड़ी के पीछे सीट पर सो गई थी. उन्होंने (पति) रास्ते में एक-दो जगह पान मसाला लेने के लिए गाड़ी रोकी थी. शायद आधा घंटा लगा होगा. शायद वह गाड़ी से उतर कर ताला खोल रहे होंगे तभी गोली चलने की आवाज आई. मेरी नींद खुली तो सामने वह (पति) कराह रहे थे. मैंने गाड़ी में ही शोर मचाना शुरू कर दिया तो एक आदमी की परछाई भागते हुए दिखाई दी, पीछे देखा तो कोई नहीं था.

पुलिस भी खड़े कर रही सवाल

इस पूरे मामले पर कई सवाल पुलिस ने भी खड़े किए हैं. पुलिस का कहना है कि दिवाली वाली रात में करीब 2 बजे जब एसके सिंह की क्रेटा कार गली में घुसी तो गाड़ी की हेडलाइट में हत्यारा दिखाई क्यों नही दिया? अगर कोई पीछा या पहले से इंतजार कर रहा था, तो इतनी रात में एसके सिंह के घर पहुंचने की जानकारी और उनकी लोकेशन हत्यारे को किसने दी? बता दें कि हत्या में 4 गोली चली है. 2 गोली मृतक के गर्दन और कान के पास से सटाकर मारी गई है. वही एक गोली मृतक के हाथ में लगी. चौथी गोली मिस फायर हुई है. 

ADVERTISEMENT

मृतक की 10 साल की बेटी ने ये बताया

इस मामले पर मृतक की 10 साल की बेटी ने बताया, “हम लोग अपनी बुआ के घर पर दिवाली मनाने गए थे. रात 2 बजे करीब घर पर लौटे तो पापा कार का गेट खोलने के लिए उतरे. तभी गोली चलने की आवाज आई. मम्मी ने किसी परछाई को भागते देखा. कौन था, कहां से आया था? हम लोगों ने नहीं देखा.”

फिलहाल ये मामला पुलिस के लिए चुनौती बना हुआ है. पुलिस हर एंगल से मामले की जांच कर रही है. माना जा रहा है कि पुलिस इस केस में कुछ चौंकाने वाले खुलासे कर सकती है. फिलहाल पीएसी इस्पेक्टर की हत्या के मामले पर हर किसी की नजर बनी हुई है.

    follow whatsapp

    ADVERTISEMENT