खौफनाक! देवरिया में दारोगा वीरेंद्र कुशवाहा ने 30 साल के दद्दन यादव को इतना मारा खून की उल्टी कर मरा युवक

राम प्रताप सिंह

ADVERTISEMENT

UPTAK
social share
google news

Deoria News: उत्तर प्रदेश के देवरिया जिले से एक सनसनीखेज वारदात सामने आई है. आरोप है कि यहां बरहज थाना क्षेत्र के सतराव चौराहे पर दारोगा वीरेंद्र कुशवाहा ने भरे बाजार में दद्दन यादव नामक युवक की बेरहमी से पिटाई कर दी, जिसके बाद मंगलवार को इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई. इस वारदात के बाद से पुलिस महकमे में हड़कंप मचा हुआ है. पुलिस ने मामले में जांच के बाद दोषी के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने की बात कही है.

अब जानिए पूरा मामला 

मिली जानकारी के अनुसार, देवरिया के बरहज थाना क्षेत्र के सतराव गांव का रहने वाला 30 वर्षीय युवक दद्दन यादव मजदूरी करता था और ग्राम प्रधान के घर से आना-जाना था. बताया जा रहा है कि आरोपी दरोगा वीरेंद्र कुशवाहा मनबढ़ किस्म का है और सतराव पुलिस चौकी का इंचार्ज है. आरोप है कि दारोगा लोगों का बिना किसी बात के चालान काट देता था. कुछ दिन पहले उसने ग्राम प्रधान के बेटे के गाड़ी का चालान काट दिया था, जिसको लेकर बाद में बहस भी हुई थी. चूंकि प्रधान के बेटे के साथ दद्दन का भी उठना बैठना था, तो दद्दन से भी किसी बात को लेकर पहले कहा सुनी हुई थी.
 

खबर है कि इसी को लेकर दरोगा खुन्नस में था और सोमवार शाम 4 बजे उसने सतराव चौराहे पर भरे बाजार में दद्दन यादव की लाठी डंडे से बेरहमी से पिटाई कर दी. पिटाई इस कदर की कि दद्दन को खून की उल्टी तक होने लगी. परिजन उसे बरहज अस्पताल लेकर पहुंचे जहां से डॉक्टरों ने मेडिकल कॉलेज देवरिया रेफर कर दिया और यहां पर इसका इलाज चल रहा था. पर मंगलवार की शाम पीड़ित युवक ने दम तोड़ दिया, जिसके बाद पुलिस महकमें में हड़कंप मच गया. 

 

 

अखिलेश ने की ये मांग

वारदात को लेकर X पर सपा चीफ अखिलेश यादव ने कहा, "भाजपा के राज में पुलिस प्रशासन के अंदर कुछ भ्रष्ट लोगों को ऐसा लगने लगा है कि वो कुछ भी अवैधानिक करेंगे तो उनके भाजपाई आका उनको बचा लेंगे. चुनावों में जनता इस गलतफहमी को दूर कर रही है. सरेआम अत्याचार, जनता से जानलेवा मारपीट, हिरासत में मौत, झूठे एन्काउंटर, बढ़ती वसूली जैसे मुद्दों ने भाजपा के काल में पुलिस को बेलगाम बना दिया है. देवरिया की दोषी पुलिस के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज हो और मृतक के परिवार को कम-से-कम 5 करोड़ का मुआवज़ा दिया जाए."

यह भी पढ़ें...

ADVERTISEMENT

दूसरी तरफ ग्रामीणों की मानें तो जब चौकी इंचार्ज ने बेरहमी से पिटाई की तो स्थानीय लोगों ने आपा खो दिया और दरोगा को दौड़ा दिया. बताया जा रहा है कि आरोपी दारोगा की बुलेट बाइक फुंक दी गई और उसकी कार के साथ तोड़फोड़ की गई. हालांकि इसके साक्ष्य नहीं  मिले हैं. आरोपी दरोगा फरार बताया जा रहा है.

 

पुलिस ने क्या बताया?

देवरिया के एसपी संकल्प शर्मा ने कहा, "यह बरहज थाना क्षेत्र के अंतर्गत सतराव गांव का मामला है. यहां एक व्यक्ति जिसकी उम्र 30 वर्ष है दद्दन यादव उसकी जिला अस्पताल में मृत्यु हुई है. परिजनों का आरोप है कि सब इंस्पेक्टर द्वारा पिटाई की गई है, जिससे उसकी मृत्यु हुई. इस संबंध में परिजनों द्वारा तहरीर दी जा रही है. अग्रिम कार्रवाई की जाएगी."

    Main news
    follow whatsapp

    ADVERTISEMENT