window.googletag = window.googletag || { cmd: [] }; let pathArray = window.location.pathname.split('/'); function getCookieData(name) { var nameEQ = name + '='; var ca = document.cookie.split(';'); for (var i = 0; i < ca.length; i++) { var c = ca[i]; while (c.charAt(0) == ' ') c = c.substring(1, c.length); if (c.indexOf(nameEQ) == 0) return c.substring(nameEQ.length, c.length); } return null; } googletag.cmd.push(function() { if (window.screen.width >= 900) { googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_ATF_728x90', [728, 90], 'div-gpt-ad-1702014298509-0').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_ATF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1702014298509-1').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_MTF_728x90', [728, 90], 'div-gpt-ad-1702014298509-2').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_MTF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1702014298509-3').addService(googletag.pubads()); } else { googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_ATF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-0').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-1_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-2').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-2_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-3').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-3_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-4').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_BTF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-5').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_Bottom_320x50', [320, 50], 'div-gpt-ad-1659075693691-6').addService(googletag.pubads()); } googletag.pubads().enableSingleRequest(); googletag.enableServices(); if (window.screen.width >= 900) { googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-0'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-1'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-2'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-3'); } else { googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-0'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-2'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-3'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-4'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-5'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-6'); } });

बरेली में मौलाना ने शादी के कुछ ही समय बाद पत्नी को बताया किन्नर और करने लगा ये डिमांड

कृष्ण गोपाल यादव

ADVERTISEMENT

सांकेतिक तस्वीर
Muslim Woman
social share
google news

Bareilly News: उत्तर प्रदेश के बरेली से एक अजीबो-गरीब मामला सामने आया है. आरोप है कि यहां एक मौलाना ने अपनी पत्नी को किन्नर कहते हुए अपने घर से निकाल दिया. इस बात को लेकर पत्नी काफी गिड़गिड़ाती रही और खुद को सही साबित करने की कोशिश करती रही पर पति के कान पर जू भी न रेंगी. यहांं तक कि मौलाना के परिजनों ने भी समझाने की कोशिश की पर वह अपनी जिद पर अड़ा रहा. इसके बाद पीड़िता ने इज्जत नगर थाने में शिकायती पत्र देकर पुलिस से कार्रवाई की मांग की. दूसरी तरफ क्षेत्राधिकारी अनीता चौहान ने बताया कि जांच के बाद आवश्यक कार्रवाई की जाएगी.

इसी महीने हुई थी शादी

 

मिली जानकारी के मुताबिक, पीड़ित महिला की शादी इसी महीने 19 मई को भोजीपुरा क्षेत्र के सैदपुर चुन्नीलाल गांव के रहने वाले युवक के साथ हुई थी. परिवार की ओर से शादी की सारी मांग पूरी की गई थी. पीड़ित महिला की उम्र 23 साल बताई जा रही है और वह बरेली के थाना इज्जत नगर क्षेत्र के बिहारमान नगला के रहने वाली है. पीड़िता के परिवार का आरोप है कि शादी के अगले दिन ही उनकी बेटी पर किन्नर का आरोप लगाते हुए कहा गया कि वह बच्चा पैदा नहीं कर सकती और यह कहकर उसे घर से बाहर निकाल दिया गया.

 

 

मस्जिद का मौलाना है पति

आपको बता दें कि आरोपी शख्स मस्जिद में मौलाना है. पीड़ित महिला ने आरोप लगाते हुए पुलिस से कहा कि उसका पति उसकी बहन के साथ भी निकाह करना चाहता है. पीड़िता के अनुसार, उसके पति ने उसकी बहन के सामने कहा, "तुम्हारी बहन किन्नर है, इसके बदले तुमको मेरे साथ रहना होगा.'

यह भी पढ़ें...

ADVERTISEMENT

पीड़ित महिला का आरोप है कि उसके शौहर ने यह भी कहा कि इस्लाम धर्म में कई शादियां जायज मानी जाती हैं. इसलिए अब वह पीड़िता की बहन के साथ भी निकाह करेगा. बस इसी बात को लेकर कहा सुनी हो गई, किन्नर कहकर विवाहिता को मारपीट करके घर से निकाल दिया गया और तीन तलाक दे दिया गया.

 

 

मेडिकल कराने के बाद भी नहीं माना आरोपी पति

मौलाना के आरोप के बाद पीड़ित महिला का एक प्राइवेट अस्पताल में मेडिकल चेकअप भी कराया गया. इस पर डॉक्टर ने कहा कि महिला किन्नर नहीं है वह बच्चे पैदा कर सकती है, वह मां बन सकती है. इसके बाद परिवार वाले तो शांत हो गए लेकिन मौलाना अपनी जिद पर अदा रहा और विवाहिता को कबूल करने से उसने साफ इनकार कर दिया. इसके बाद पीड़िता की ओर से पुलिस में शिकायत दर्ज कराई गई और इंसाफ मांगा गया.

    follow whatsapp

    ADVERTISEMENT