प्रयागराज पुलिस ने मुठभेड़ में 7 बदमाशों को यूं किया अरेस्ट, 3 के पैर में लगी गोली

प्रयागराज पुलिस ने मुठभेड़ में 7 बदमाशों को यूं किया अरेस्ट, 3 के पैर में लगी गोली
फोटो: आनंद राज

प्रयागराज के गंगा पार इलाके में सामूहिक हत्या को लेकर पुलिस सजग थी और इसके खुलासे के लिए हर संभव प्रयास कर रही थी. मामले में अब तक पुलिस के हाथ खाली जा रहे थे, लेकिन बुधवार की सुबह पुलिस के लिए एक अच्छी खबर आई. बता दें कि सात ऐसे आरोपियों की प्रयागराज के गंगापार इलाके में मिलने सूचना मिली जो बड़ी घटनाओं को अंजाम देते थे. खबर है कि इसके बाद प्रयागराज पुलिस ने चारों तरफ से आरोपियों की घेराबंदी कर ली. आरोप है कि इस दौरान अपराधी पुलिस पर फायर कर भागने लगे, जवाब में पुलिस ने भी कार्रवाई करते हुए फायरिंग की, जिसमें तीन आरोपियों के पैर में गोली लग गई.

प्रयागराज के गंगापार इलाके के थाना थरवई में अन्तर्राज्यीय कुख्यात दुर्दांत हत्यारे और डकैत गैंग से पुलिस की मुठभेड़ हुई है. इसमें 3 बदमाश पुलिस की गोली लगने से घायल हुए हैं, जिन्हें इलाज के लिए स्वरूप रानी हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है. इस मुठभेड़ में कुल 7 कुख्यात अपराधी गिरफ्तार हुए हैं.

आपको बता दें कि प्रयागराज के गंगापार इलाके में 2017 से लेकर 2022 तक 34 लोग सामूहिक हत्याकांड के शिकार हुए थे. इसके खुलासे के लिए पुलिस हाथ-पांव मार रही थी. फिलहाल पकड़े गए सभी अपराधियों से पुलिस पूछताछ कर रही है और प्रयागराज के गंगा पार इलाके में हुए सामूहिक हत्याकांड समेत कई गुत्थी को सुलझाने में जुट गई है.

सामूहिक हत्याकांड से कानून व्यवस्था पर उठे थे सवाल

प्रयागराज के गंगा पार इलाके में 2017 से 2022 तक कई सामूहिक हत्याकांड हुए, जिसमें 34 लोगों को अपनी जान गवानी पड़ी थी. इन हत्याओं से प्रदेश सरकार और प्रयागराज पुलिस पर कई सवालिया निशान विपक्षी पार्टियां लगा रही थी. मगर अब कार्रवाई कर पुलिस ने कुछ हद तक राहत की सांस ली है.

आपको बता दें कि प्रयागराज पुलिस ने अंतर्जनपदीय गिरोह का पर्दाफाश करते हुए मुठभेड़ के बाद उन अपराधियों को गिरफ्तार किया है, जो योजनाबद्ध तरीके से रात के समय हत्या और डकैती की घटना को अंजाम देकर मौके से फरार हो जाते थे.

प्रयागराज पुलिस ने मुठभेड़ में 7 बदमाशों को यूं किया अरेस्ट, 3 के पैर में लगी गोली
प्रयागराज: आज भी बुलंद है नसीम मियां के लाउडस्पीकर की आवाज, कहानी जान आप भी देंगे दुआएं

संबंधित खबरें

No stories found.