बिजनौर: कोर्ट के आदेश के बावजूद बहू को घर में घुसने नहीं दिया, फिर पहुंचा बुल्डोजर

बिजनौर: कोर्ट के आदेश के बावजूद बहू को घर में घुसने नहीं दिया, फिर पहुंचा बुल्डोजर
तस्वीर संजीव शर्मा, यूपी तक

बिजनौर में कोर्ट के आदेश पर बहू को ससुराल में प्रवेश दिलाने गई पुलिस को ससुराल वालों के विरोध के कारण बुल्डोजर बुलाना पड़ा. तब जाकर बहू को ससुराल में प्रवेश मिल पाया. वरना ससुराल वाले बहू को घर में घुसने ही नहीं दे रहे थे. यह ड्रामा करीब 2 घंटे तक लगातार पुलिस और ससुराल पक्ष के बीच चलता रहा.

अहम बिंदु

गांव धौकलपुर निवासी शेर सिंह ने अपनी बेटी नूतन मलिक का 5 वर्ष पूर्व हल्दौर के हरिनगर निवासी देवेंद्र सिंह के बेटे बैंक मैनेजर रॉबिन सिंह के साथ किया था. शादी के कुछ महीने बाद ससुराल वाले दहेज में 5 लाख रुपये और बोलेरो गाड़ी की मांग करने लगे.

वे नूतन के साथ लगातार मारपीट करते रहे. तब 23 जून 2019 को बहू नूतन मलिक ने अपने पति रॉबिन के खिलाफ दहेज की मांग सहित उत्पीड़न करने का हलदौर थाने में मुकदमा दर्ज कराया. जिसमें पुलिस ने पति रॉबिन को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया, लेकिन उसके बाद ससुराल पक्ष के लोगों ने नूतन मलिक को घर में नहीं घुसने दिया.

तस्वीर: संजीव शर्मा, यूपी तक

इसके बाद नूतन के पिता शेर सिंह बेटी को न्याय दिलाने के लिए उच्च न्यायालय पहुंचे और और बेटी को इंसाफ देने के लिए ससुराल पक्ष के खिलाफ कार्रवाई करने और बेटी को ससुराल प्रवेश दिलाने और सुरक्षा दिलाने के लिए मुकदमा दायर किया. उच्च न्यायालय ने भी शेर सिंह के मुकदमे पर सुनवाई करते हुए बिजनौर पुलिस को तुरंत नूतन को अग्रिम आदेशों तक सुरक्षा देने और ससुराल में प्रवेश दिलाने के आदेश दिए.

पुलिस ने कई बार पहले भी नूतन को ससुराल में प्रवेश दिलाने का प्रयास किया, लेकिन ससुराल पक्ष के लोगों ने पुलिस का विरोध करते हुए अपना गेट नहीं खोला और पुलिस को खाली हाथ लौटना पड़ा. जिसके बाद शेर सिंह एक बार फिर अदालत पहुंचे और अपने आदेश की पालन कराने की अपील की. जिसके बाद अदालत ने पुलिस को किसी भी हालत में नूतन को सुरक्षा देने और ससुराल में प्रवेश दिलाने के कड़े आदेश दिए. जिसके बाद पुलिस बड़ी संख्या में अधिकारियों के साथ नूतन के ससुराल पहुंची और उसे प्रवेश दिलाने का प्रयास किया. परिजनों ने अपना गेट बंद कर लिया.

पुलिस और मौजूद अधिकारियों में ससुराल पक्ष से काफी देर तक बहस हुई. जब 2 घंटे तक भी ससुराल पक्ष के लोग गेट खोलने को तैयार नहीं हुए तो मौजूद थाना प्रभारी उदय प्रताप सिंह ने मौके पर बुल्डोजर बुलाकर गेट तोड़ने के आदेश दिए. जैसे ही बुल्डोजर मौके पर पहुंचा तो उसको देखते ही ससुराल पक्ष के लोगों ने अपना गेट खोल दिया.

उसके बाद पुलिस नूतन को लेकर घर में घुसी. इस दौरान भी ससुराल पक्ष के लोगों ने काफी विरोध किया, लेकिन पुलिस में नूतन को घर के कमरे में प्रवेश दिला कर बाहर उसकी सुरक्षा के लिए दो पुलिसकर्मी तैनात कर दिए. फिलहाल नूतन अपने ससुराल में है और पुलिस कोर्ट के आदेश पर उसके सुरक्षा में लगी है.

बिजनौर: कोर्ट के आदेश के बावजूद बहू को घर में घुसने नहीं दिया, फिर पहुंचा बुल्डोजर
बिजनौर: अपने जगह पर पत्नी ने पति को बनाया 'लेखपाल', काम के नाम पर करता था वसूली, सस्पेंड

संबंधित खबरें

No stories found.
UPTak - UP News in Hindi (यूपी हिन्दी न्यूज़)
www.uptak.in