मृतक मनीष के परिवार को मिली सहायता पर भी प्रचार वाली पोस्टरबाजी! किरकिरी हुई तो हटाया

ADVERTISEMENT

गोरखपुर के एक होटल में पुलिस की दबिश के बाद कानपुर के रियल स्टेट कारोबारी मनीष गुप्ता की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत का मामला अभी…
social share
google news

गोरखपुर के एक होटल में पुलिस की दबिश के बाद कानपुर के रियल स्टेट कारोबारी मनीष गुप्ता की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत का मामला अभी तक सुलझ नहीं पाया है. इस बीच उनके घर के पास लगाए गए एक होर्डिंग में कानपुर के बीजेपी नेताओं को योगी सरकार का आभार जताते हुए दिखाया गया.

होर्डिंग में लिखा गया, “मनीष गुप्ता जी के परिवार की 40 लाख रुपये की आर्थिक सहायता और पत्नी मीनाक्षी गुप्ता को केडीए में ओएसडी पद की सरकार नौकरी देने के लिए वैश्य समाज मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और विधायक गोविंद नगर सुरेंद्र मैथानी का हार्दिक आभार प्रकट करता है.”

हालांकि, अब ये होर्डिंग हटा लिया गया है. सोशल मीडिया पर यह होर्डिंग सवालों के घेरे में आ गया. ये होर्डिंग मनीष गुप्ता के घर से 100 मीटर की दूरी पर स्थित शास्त्री चौराहे पर लगाया गया था.

होर्डिंग में गोविंद नगर के विधायक सुरेंद्र मैथानी के अलावा नीरज गुप्ता, राघवेंद्र गुप्ता, संजय गुप्ता, राजकुमार गुप्ता, बब्बल गुप्ता, रौनक गुप्ता और सतीश चंद्र गुप्ता की फोटो लगी दिखी.

ADVERTISEMENT

यह भी पढ़ें...

ADVERTISEMENT

हालांकि, होर्डिंग को लेकर विधायक सुरेंद्र मैथानी ने कहा, “मेरे संज्ञान में होर्डिंग नहीं है. मनीष मेरे क्षेत्र के थे, इसलिए उनके परिवार के प्रति मेरी जिम्मेदारी थी. सीएम जी ने भी खुद अपनी तरफ से उनसे मिलने की इच्छा जताई थी. इस तरह की होर्डिंग लगाना गलत है.”

ADVERTISEMENT

गोरखपुर होटल के अंदर का CCTV फुटेज, इस तरह मनीष गुप्ता को उठाकर ले जाते दिखे पुलिसकर्मी

    follow whatsapp

    ADVERTISEMENT