window.googletag = window.googletag || { cmd: [] }; let pathArray = window.location.pathname.split('/'); function getCookieData(name) { var nameEQ = name + '='; var ca = document.cookie.split(';'); for (var i = 0; i < ca.length; i++) { var c = ca[i]; while (c.charAt(0) == ' ') c = c.substring(1, c.length); if (c.indexOf(nameEQ) == 0) return c.substring(nameEQ.length, c.length); } return null; } googletag.cmd.push(function() { if (window.screen.width >= 900) { googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_ATF_728x90', [728, 90], 'div-gpt-ad-1702014298509-0').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_ATF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1702014298509-1').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_MTF_728x90', [728, 90], 'div-gpt-ad-1702014298509-2').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_MTF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1702014298509-3').addService(googletag.pubads()); } else { googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_ATF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-0').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-1_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-2').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-2_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-3').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-3_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-4').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_BTF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-5').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_Bottom_320x50', [320, 50], 'div-gpt-ad-1659075693691-6').addService(googletag.pubads()); } googletag.pubads().enableSingleRequest(); googletag.enableServices(); if (window.screen.width >= 900) { googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-0'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-1'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-2'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-3'); } else { googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-0'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-2'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-3'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-4'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-5'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-6'); } });

UP Weather Update: कुछ ही घंटों के अंदर नोएडा-गाजियाबाद में होगी झमाझम बारिश, IMD ने दी गुड न्यूज!

यूपी तक

ADVERTISEMENT

UP Weather Update
Weather, Weather Update, UP Weather Update, heatwave alert, heatwave alert in up, up ka mausam, up weather next three days, up weather news, यूपी का मौसम, यूपी वेदर न्यूज़, यूपी वेदर अपडेट, यूपी में अगले तीन दिन मौसम, यूपी आईएमडी
social share
google news

UP Weather Update: इस बार भीषण गर्मी की वजह से हर कोई परेशान है. हर कोई इस मौजूदा वक्त में बारिश की आस में बैठा है. ऐसे में भारतीय मौसम विभाग (IMD) ने एक बड़ी गुड न्यूज दी है. मौसम विभाग ने अनुमान लगाते हुए बताया है कि आज नोएडा-गाजियाबाद और इसके आसपास के इलाकों में बारिश हो सकती है. यकीनन चिचिलाती गर्मी के बीच यह राहत देने वाली खबर सामने आई है. बता दें कि नोएडा और इसके आस पास के इलाकों में मौसम सुहाना भी हो गया है, अब बस लोगों को मेघ बरसने का इंतजार है. 

मौसम विभाग ने क्या अपडेट दिया?

मौसम विभाग ने गुरुवार सुबह 7 बजकर 21 मिनट पर बताया कि अगले 2 घंटों के दौरान उत्तरी दिल्ली, उत्तर-पूर्वी दिल्ली, उत्तर-पश्चिम दिल्ली, पश्चिमी दिल्ली, मध्य दिल्ली, NCR (नोएडा, लोनी देहात, हिंडन एयर फोर्स स्टेशन, बहादुरगढ़, गाजियाबाद, इंदिरापुरम, छपरौला) सोनीपत, रोहतक, खरखौदा (हरियाणा) बागपत, खेकड़ा, मोदीनगर, पिलखुआ (यूपी) के कुछ स्थानों और आसपास के क्षेत्रों में हल्की से मध्यम तीव्रता की बारिश और हवाएं चलेंगी.

इस बार क्यों पड़ रैह है भीषण गर्मी?
 

 

यह भी पढ़ें...

ADVERTISEMENT

मालूम हो कि इस बार गर्मी बढ़ने का अहम कारण ग्लोबल क्लाइमेट चेंज बताया जा रहा है. ग्लोबल वॉर्मिंग की वजह से अब सिर्फ भारत में ही नहीं, बल्कि दुनिया भर में तापमान बढ़ने की खबरें हैं. इसकी वजह से ही नॉर्थ इंडिया में खास तौर से उत्तर प्रदेश में हीटवेव की स्थिति लगातार बनी हुई है. साथ ही हर जगह वेदर पैटर्न में बदलाव हुआ है, अल नीनो की स्थिति भी इसका कारण है.  

 

 


क्या होता है अल नीनो की वजह से?

अलनीनो की स्थिति में हवाएं उल्टी बहती हैं और महासागर के पानी का तापमान भी बढ़ जाता है, जो दुनिया के मौसम को प्रभावित करता है. इससे तापमान में लगातार बढ़ोतरी हो रही है. इसके अलावा गर्मी बढ़ने के कारण एग्रीकल्चर स्थितियों में हो रहे बदलाव, प्रकृति का डिसबैलेंस आदि भी है. पर्यावरण में हो रहे इन बदलाव की वजह से वार्म नाइट की स्थिति बनने लगी है, जिससे रात में गर्मी से आराम नहीं मिलता.

    follow whatsapp

    ADVERTISEMENT