बीमार बहन को कंधे पर लादकर एक से दूसरे अस्पताल भटकता रहा भाई, न मिला बेड न मिली एम्बुलेंस

ADVERTISEMENT

UPTAK
social share
google news

उत्तर प्रदेश के फिरोजाबाद में बुखार के कहर ने मानो अपने पैर पसार लिए हैं. एक तरफ जिले के 100 बेड वाले अस्पताल में 400 से ज्यादा बच्चों का इलाज चल रहा है तो कइयों को बेड भी नसीब नहीं हो पा रहा है. ताजा मामला सामने आया है आसफाबाद स्थित गुरुदेव नगर निवासी रामतीरथ और उसकी बहन शिवानी का. दरअसल, रामतीरथ तेज बुखार से पीड़ित अपनी 16 वर्षीय बहन शिवानी को कंधे पर लादकर घूमता रहा लेकिन उसे अस्पताल में जगह नहीं मिली. पढ़िए पूरी रिपोर्ट.

रामतीरथ बुखार से पीड़ित अपनी बहन शिवानी को रविवार को अस्पताल में दिखाने के लिए लाया था, लेकिन शिवानी को इंजेक्शन लगाकार घर भेज दिया गया. बुखार ठीक न होने पर रामतीरथ अपनी बहन को सोमवार को सबसे पहले ट्रॉमा सेंटर लाया. यहां से उसे 100 शैया अस्पताल के बच्चा वॉर्ड में भेजा गया, लेकिन 100 शैया अस्पताल में भी उसे भर्ती नही किया गया और इंजेक्शन लगाकार दूसरी जगह ले जाने को कहा गया.

आरोप है कि शिवानी की गंभीर हालत के बावजूद उसे एम्बुलेंस नहीं मिल सकी, जिसके चलते उसका भाई उसे कंधे पर बेहोशी की हालत में घर ले गया.

यह भी पढ़ें...

ADVERTISEMENT

रामतीरथ ने कहा, “यहां पर कोई इलाज नहीं हो रहा है. इधर से उधर भगा रहे हैं, क्या करूं कंधे पर रखकर अपनी बहन को घर ले जा रहा हूं. ताकि इसका इलाज करा सकूं.”

ADVERTISEMENT

वहीं, मामले में राजकीय मेडिकल कॉलज की प्राचार्या संगीता अनेजा ने कहा, “मैं मामले की जांच करवाउंगी कि ऐसा क्यों हुआ है. जिसकी गलती है उसको जरूर इसकी सजा मिलनी चाहिए, क्योंकि हमारे लिए हर मरीज कीमती है.”

फिरोजाबाद: बुखार से तपते बच्चे, अस्पताल में बेड नहीं! रोते परिजन लगा रहे OPD के चक्कर

ADVERTISEMENT

    follow whatsapp

    ADVERTISEMENT