window.googletag = window.googletag || { cmd: [] }; let pathArray = window.location.pathname.split('/'); function getCookieData(name) { var nameEQ = name + '='; var ca = document.cookie.split(';'); for (var i = 0; i < ca.length; i++) { var c = ca[i]; while (c.charAt(0) == ' ') c = c.substring(1, c.length); if (c.indexOf(nameEQ) == 0) return c.substring(nameEQ.length, c.length); } return null; } googletag.cmd.push(function() { if (window.screen.width >= 900) { googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_ATF_728x90', [728, 90], 'div-gpt-ad-1702014298509-0').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_ATF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1702014298509-1').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_MTF_728x90', [728, 90], 'div-gpt-ad-1702014298509-2').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_MTF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1702014298509-3').addService(googletag.pubads()); } else { googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_ATF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-0').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-1_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-2').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-2_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-3').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-3_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-4').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_BTF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-5').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_Bottom_320x50', [320, 50], 'div-gpt-ad-1659075693691-6').addService(googletag.pubads()); } googletag.pubads().enableSingleRequest(); googletag.enableServices(); if (window.screen.width >= 900) { googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-0'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-1'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-2'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-3'); } else { googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-0'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-2'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-3'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-4'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-5'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-6'); } });

PCS ज्योति मौर्य केस: मनीष दुबे के खिलाफ हो गया ये बड़ा एक्शन, आलोक ने लगाए थे कई गंभीर आरोप

संतोष शर्मा

ADVERTISEMENT

SDM ज्योति मौर्य केस: मनीष दुबे के खिलाफ हो गया ये बड़ा एक्शन
SDM ज्योति मौर्य केस: मनीष दुबे के खिलाफ हो गया ये बड़ा एक्शन
social share
google news

Lucknow News: पीसीएस अधिकारी ज्योति मौर्य (Jyoti Maurya) और उनके पति आलोक मौर्य के बीच विवादों में एक नाम चर्चाओं में रहा था. वह नाम होमगार्ड कमांडेंट मनीष दुबे का था. दरअसल आलोक मौर्य ने मनीष दुबे पर कई गंभीर आरोप लगाए थे. आलोक का ये भी आरोप था कि उनकी पत्नी ज्योति मौर्य और मनीष दुबे के बीच अवैध संबंध हैं. इसी के साथ आलोक ने मनीष और ज्योति के खिलाफ उसकी हत्या की साजिश रचने का आरोप लगाया था. बता दें कि अब मनीष दुबे के खिलाफ बड़ा एक्शन हो गया है.

बता दें कि होमगार्ड कमांडेंट मनीष दुबे को सस्पेंड कर दिया गया है. मनीष दुबे फिलहाल महोबा में तैनात थे. इसी के साथ मनीष दुबे के खिलाफ विभागीय जांच के भी आदेश जारी कर दिए गए हैं. डीपी होमगार्ड बीके मौर्य की सिफारिश पर मनीष दुबे के खिलाफ ये कार्रवाई हुई है और मनीष को सस्पेंड कर दिया गया है.

जांच के बाद लिया गया एक्शन

बता दें कि आलोक मौर्य ने मनीष दुबे पर गंभीर आरोप लगाए थे. इसकी जांच डीआईजी होमगार्ड प्रयागराज को सौंपी गई थी. डीआईजी जांच में मनीष दुबे के खिलाफ कार्रवाई की सिफारिश की गई थी. मिली जानकारी के मुताबिक, मनीष दुबे के खिलाफ कार्रवाई की सिफारिश वाली फाइल करीब 2 महीने तक दबी रही.

यह भी पढ़ें...

ADVERTISEMENT

पिछले हफ्ते ही कारागार मंत्री धर्मवीर प्रजापति ने मनीष दुबे को सस्पेंड करने का आदेश दे दिया और उनके खिलाफ विभागीय कार्रवाई और जांच के निर्देश जारी कर दिए. इसी के बाद मनीष दुबे को सस्पेंड किया गया है. अब उनके खिलाफ विभागीय जांच भी होगी.

क्या था पूरा मामला

आपको बता दें कि ज्योति मौर्य और आलोक मौर्य के बीच विवाद उस वक्त सुर्खियों में आया था जब आलोक ने ज्योति के खिलाफ कई गंभीर आरोप लगाए थे. आलोक का आरोप था कि उन्होंने ज्योति को पढ़ाने और अधिकारी बनाने के लिए काफी मेहनत की. मगर अधिकारी बनते ही ज्योति उनसे दूर हो गई और उसके संबंध एक अन्य अधिकारी मनीष दुबे के साथ हो गए. इसी के साथ आलोक ने मनीष और ज्योति के खिलाफ जान से मारने की धमकी देने का भी आरोप लगाया था.

 

ADVERTISEMENT

 

ADVERTISEMENT

    follow whatsapp

    ADVERTISEMENT