औरैया: टीचर की पिटाई से दलित छात्र की मौत, चप्पे-चप्पे पर फोर्स तैनात, घर में मचा कोहराम

UP Samachar | Uttar Pradesh News
औरैया: टीचर की पिटाई से दलित छात्र की मौत,  चप्पे-चप्पे पर फोर्स तैनात, घर में मचा कोहराम
फोटो: अभिषेक मिश्रा, यूपी तक

उत्तर प्रदेश के औरैया (Auraiya News) के अछल्दा इलाके के बसौली गांव में 14 साल के दलित बच्चे को शिक्षक ने इस कदर पीटा कि उसकी मौत हो गई. घटना के बाद से इलाके में दहशत का माहौल है और पूरे गांव में सन्नाटा पसरा है. मृतक बच्चे के घर में कोहराम मचा है और परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है.

बच्चे की मौत के बाद सोमवार शाम इलाके में उपद्रव हुआ, जिसके बाद पुलिस-प्रशासन ने सख्ती करते हुए पूरे इलाके में फोर्स को तैनात किया है. वहीं दूसरी तरफ, मृतक दलित बच्चे के परिजन आरोपी टीचर अश्वनी सिंह की गिरफ्तारी की मांग कर रहे हैं.

यूपी तक से बातचीत करते हुए निखित की मां रेखा देवी ने कहा कि उसके बच्चे को टीचर अश्विनी सिंह ने एक गलती के लिए इतना मारा कि उसकी हालत बिगड़ने लगी. बच्चे को उसके बाद लखनऊ के पीजीआई, सैफई के मेडिकल कॉलेज और दिव्यापुर के अस्पताल में दिखाया गया, लेकिन 2 दिन पहले उसकी हालत बिगड़ने के बाद उसकी मौत हो गई.

बच्चे की मां ने अश्विनी सिंह पर बच्चे को बेरहमी से मारने का आरोप लगाया है. वहीं, मृतक बच्चे के पिता राजू सिंह ने कहा कि बच्चे की मौत के बाद में प्रशासन ने आरोपी टीचर के गिरफ्तारी का आश्वासन दिया है.

इसके साथ ही पीड़ित परिवार की प्रमुख मांग, जिसमें 8 लाख रुपये का मुआवजा, दो बीघा जमीन और रहने के मकान देने की बात कही गई है. परिवार की मांग है कि पहले आरोपी की गिरफ्तारी हो, जिसको लेकर पुलिस प्रशासन ने जल्द कार्रवाई की बात कही है.

वहीं मृतक छात्र का अंतिम संस्कार किया जा चुका है, गांव में शांति है, फोर्स तैनात है. इस मामले पर बात करते हुए कानपुर के मंडलायुक्त राजशेखर ने कहा कि इस पूरे मामले को लेकर आरोपी की धरपकड़ जारी है और अब तक कई संदिग्ध लोगों को हिरासत में लिया गया है. कल हुए उपद्रव के बाद इलाके में शांति है और परिवार को आर्थिक मदद के साथ जो उनकी मांगी थी, उन्हें पूरा किया गया है.

आरोपी की गिरफ्तारी पर उन्होंने कहा कि जल्द ही कार्रवाई होगी और आरोपी पुलिस की गिरफ्त में होगा.

यूपी तक से बातचीत में एडीजी रेंज भानु भास्कर ने कहा कि इस मामले में कुछ लोगों को हिरासत में लिया गया है. पुलिस की धरपकड़ जारी है और कल से आज शाम में कल सुबह तक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया जाएगा. किसी भी तरीके का राजनीतिक लिंक इलाके में हुए उपद्रव में नहीं दिखा है लेकिन सीसीटीवी और तमाम गवाहों के आधार पर उपद्रवियों की पकड़ जारी है.

अहम बिंदु

वहीं जिलाधिकारी चंद्रप्रकाश श्रीवास्तव के मुताबिक, परिवार को समझा-बुझाकर कर बच्चे का अंतिम संस्कार किया गया है और आठ लाख के साथ दो बीघा जमीन और रहने के लिए आवास दिया जाएगा. इलाके के हालात काबू में हैं, सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं और कल के उपद्रव के बाद स्थिति इस वक्त नियंत्रण में है. उन्होंने आगे कहा कि बड़ी तादाद में पुलिस बल मौजूद है और इलाके में शांति है.

वहीं स्कूल के प्रिंसिपल सुशील कुमार तिवारी का कहना है कि टीचर अश्विन कुमार का ट्रैक रिकॉर्ड कभी इस तरीके से नहीं रहा है कि वह बच्चों को पीटे, बल्कि उनके स्कूल के बेहतरीन टीचरों में से एक अश्विन कुमार है. घटना से पहले दलित छात्र के अभिभावक स्कूल में आए थे और उन्होंने तब बताया था कि उनका बेटा जो अब इस दुनिया में नहीं है, वह मेडिकली फिट नहीं था. कुछ साल पहले उसके साथ कोई घटना हो गई थी और उसका इलाज भी चलता था.

साथ ही उन्होंने कहा कि इससे पहले अश्विनी कुमार को लेकर किसी तरीके का कोई मामला सामने नहीं आया. पुलिस की जांच में स्कूल प्रशासन पूरी तरीके से सहयोग कर रहा है और हम निष्पक्ष जांच की मांग कर रहे हैं. अगर टीचर दोषी है तो उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई होनी चाहिए.

औरैया: टीचर की पिटाई से दलित छात्र की मौत,  चप्पे-चप्पे पर फोर्स तैनात, घर में मचा कोहराम
औरैया: दलित छात्र की मौत से गुस्साई भीड़ ने पुलिस पर किया पथराव, वाहन में भी लगाई आग

संबंधित खबरें

No stories found.
UPTak - UP News in Hindi (यूपी हिन्दी न्यूज़)
www.uptak.in