रामपुर उपचुनाव: बीजेपी को मिला कांग्रेस का साथ! सपा के सामने बड़ी मुसीबत

Rampur Byelection 2022: रामपुर विधानसभा सीट लंबे अर्से से सपा के कब्जे में चली आ रही है, लेकिन आजम खान (Azam Khan) की सदस्यता रद्द होने के बाद यहां उपचुनाव होने जा रहे हैं. उप चुनाव की घोषणा के बाद एक बार फिर सियासी गलियारों में चुनावी सरगर्मियां तेज हो गईं हैं. हर तरफ चुनावी चर्चाओं का माहौल है. ऐसे में भले ही कांग्रेस पार्टी ने रामपुर में हो रहे विधानसभा उपचुनाव के लिए कोई प्रत्याशी नहीं उतारा है, लेकिन कांग्रेस नेता ने बीजेपी प्रत्याशी को समर्थन देकर मुकाबला और दिलचस्प बना दिया है.

अहम बिंदु

रामपुर के कंग्रेस नेता पूर्व मंत्री नवाब काजिम अली खान (Congress leader Nawab Kazim Ali Khan) आजम खान (Azam Khan) के विरोध में उतर कर बीजेपी प्रत्याशी आकाश सक्सेना को समर्थन देने की बात कही है.

यूपी तक से बात करते हुए नवाब काजिम अली खान उर्फ नवेद मियां ने कहा "समर्थन दिया है क्योंकि मैं समझता हूं सब लोगों को उनका समर्थन करना चाहिए, सही फैसला लेना चाहिए, आज उपचुनाव की परेशानी में जो हम लोग फंस गए हैं. वह आजम की वजह से है. आजम या उनके प्रत्याशी को समर्थन देने का मतलब और मुसीबत को अपने सिर पर लेना है. कोई वजह नहीं है कि उनके प्रत्याशी को मैं समर्थन दूं.

बता दें कि समाजवादी पार्टी (सपा) ने आजम खान के सहयोगी असीम रजा को मैदान में उतारा है. वहीं बीजेपी ने रामपुर विधानसभा सीट से आकाश सक्सेना को उतारा है.रामपुर सीट पर समाजवादी पार्टी के दिग्गज नेता आजम खान का दबदबा रहा है. इस सीट पर मुस्लिम वोटर्स सबसे ज्यादा हैं. आजम का गढ़ कहे जाना वाले रामपुर में करीब 80 हजार के आसपास मुस्लिम वोटर्स हैं. इसके बाद आते हैं वैश्य और लोधी समाज.

रामपुर उपचुनाव: बीजेपी को मिला कांग्रेस का साथ! सपा के सामने बड़ी मुसीबत
मैनपुरी उपचुनाव: शिवपाल बैठे थे बगल में, अखिलेश ने मंच से कही चाचा का दिल जीतने वाली बात

संबंधित खबरें

No stories found.
UPTak - UP News in Hindi (यूपी हिन्दी न्यूज़)
www.uptak.in