आयुष्मान भारत रोजगार योजना के नाम पर UP में 3423 युवाओं से ठगी, सबसे लिए 1.55 लाख रुपये

ADVERTISEMENT

UPTAK
social share
google news

आयुष्मान भारत रोजगार योजना के नाम पर उत्तर प्रदेश के 3,423 युवक-युवतियों से खेल और योग शिक्षक की नौकरी का झांसा देकर ठगी का मामला सामने आया है.

नोएडा में थाना फेस-3 के प्रभारी निरीक्षक विवेक त्रिवेदी ने बताया कि मऊ जिला निवासी श्वेता सिंह ने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है कि सेक्टर-63 में आयुष्मान भारत योग एवं प्रशिक्षण संस्थान है. इस एनजीओ के माध्यम से प्रदेश के विभिन्न जिलों के लिए दिसंबर 2019 में 2,276 और 2021 में 1,147 शिक्षकों की भर्ती निकाली गई थीं.

शिकायत के मुताबिक, अभ्यर्थियों से कहा गया कि उनकी तैनाती गृह जिले में ही होगी. प्रवेश शुल्क के नाम पर सामान्य और पिछड़ा वर्ग से 380 रुपये और अनुसूचित जनजाति के अभ्यर्थियों से 280 रुपये लिए गए. अभ्यर्थियों की लिखित परीक्षा ली गई और काउंसलिंग के लिए सभी से 500-500 रुपये वसूले गए. इसके बाद प्रत्येक अभ्यर्थी से 1,55,000 रुपये लेकर नियुक्ति पत्र दिए गए.

यह भी पढ़ें...

ADVERTISEMENT

प्रभारी निरीक्षक विवेक त्रिवेदी ने बताया कि जब अभ्यर्थियों ने स्कूलों में जाकर नियुक्ति-पत्र दिखाया तो पता चला कि यह फर्जी है. ठगी का पता चलने के बाद जब पैसे वापस मांगे गए तो जान से मारने की धमकी दी जाने लगी. इस मामले में बनारस, बलिया, लखनऊ, कन्नौज, मुरादाबाद, गाजियाबाद समेत विभिन्न जिलों के रहने वाले लोग शिकार हुए हैं.

पुलिस ने केस दर्ज कर मामले की जांच की शुरू

ADVERTISEMENT

घटना की शिकायत पर थाना फेस-3 पुलिस ने एनजीओ के चेयरमेन दामोदर कुमार शर्मा, न्यासी संजय चौधरी, संस्थापक विपुल, अध्यक्ष अब्बाशी और तकनीकी प्रमुख विनीत गुप्ता के खिलाफ विभिन्न धाराओं में मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है.

ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण ने वायु प्रदूषण रोकने के लिए तैयार किया प्लान, वॉट्सऐप नंबर जारी

ADVERTISEMENT

    follow whatsapp

    ADVERTISEMENT