UP विधानसभा मॉनसून सत्र Live: क्या SP ने पैदल मार्च की ली थी परमिशन? ADG ने बताई ये बात

UP विधानसभा मॉनसून सत्र Live: क्या SP ने पैदल मार्च की ली थी परमिशन? ADG ने बताई ये बात
फोटो: @yadavakhilesh/ ट्विटर

यूपी विधानसभा मॉनसून सत्र का पहला दिन

यूपी विधानसभा का मॉनसून सत्र 19 सितंबर, सोमवार से शुरू हो गया है. सपा ने योगी आदित्यनाथ सरकार को घेरने में पूरी ताकत झोंक दी है. देखिए मॉनसून सत्र की पूरी कवरेज Live.

पुलिस-प्रशासन से पैदल मार्च की कोई अनुमति नहीं ली गई थी: ADG (लॉ & ऑर्डर)

एडीजी लॉ & ऑर्डर प्रशांत कुमार ने कहा, "उक्त राजनीतिक दल (सपा) ने बार-बार अनुरोध के बाद भी पुलिस प्रशासन से पैदल मार्च की कोई अनुमति नहीं ली थी. पुलिस ने प्रजातांत्रिक मूल्यों को देखते हुए पैदल मार्च का एक रूप तय किया गया था, लेकिन पार्टी ने उस रास्ते से जाने की जिद की, जिसमें राज भवन व अन्य महत्वपूर्ण स्थान व इमारते हैं, जहां पर पहले भी जीप को जलाने और फायरिंग की घटना हो चुकी है."

उन्होंने आगे कहा, "उपद्रवियों के द्वारा ऐसे प्रदर्शन की आड़ में कोई घटना ना हो इसके लिए ऐसे रूट की व्यवस्था की गई थी जहां पर ट्रैफिक कम रहता है. इसके साथ ही धरना प्रदर्शन के लिए राजधानी में एक स्थान निर्धारित है. इसके बावजूद राजनीतिक दल ने जाने की जिद की थी जिसके लिए आवश्यक प्रबंध किए गए थे बैरिकेडिंग लगाई गई थी."

सत्ता जितनी कमजोर होती है, दमन उतना ही अधिक बढ़ता है: अखिलेश यादव

UP विधानसभा मॉनसून सत्र Live: क्या SP ने पैदल मार्च की ली थी परमिशन? ADG ने बताई ये बात
UP विधानसभा मॉनसून सत्र: अखिलेश बोले- 'जन आक्रोश से डरकर BJP असुरक्षित महसूस कर रही है'

सदन में सभी विधायकों को आना चाहिए था: सतीश महाना

यूपी विधानसभा अध्यक्ष सतीश महाना ने कहा, "आज दिवंगत विधायक अरविंद गिरि को श्रद्धांजलि दी गई. मुझे लगता है कि उसमें सभी विधायकों को आना चाहिए था. क्यों नहीं आए ये मैं नहीं कह सकता. सदन चर्चा के लिए है. विपक्ष को भी बात रखने का मौका मिलता. इस बार महिला विधायकों को एक दिन बोलने का मौका मिलेगा. ये ऐतिहासिक मौका है. ऐसे में जरूरी मुद्दों पर चर्चा होगी."

डिप्टी सीएम ब्रजेश पाठक ने सपा पर बोला हमला

डिप्टी सीएम ब्रजेश पाठक ने कहा कि 'सपा की पदयात्रा के लिए रूट निर्धारित किया गया था लेकिन वो दूसरे रास्ते से विधानसभा पहुंचने की कोशिश कर रहे थे. इससे न केवल आम लोग बल्कि विधानसभा में आने वाले विधायकों को परेशानी होनी तय थी. इसके अलावा इंटेलीजेंस की रिपोर्ट भी थी कि पदयात्रा के दौरान अराजकता हो सकती थी. सपा का चरित्र ही गुंडई, अराजकता और हिंसा करना है.'

सपा ने खत्म किया अपना प्रोटेस्ट 

आपको बता दें कि सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव में नेतृत्व में अब तक चल रहा प्रोटेस्ट अब खत्म हो चुका है. मिली जानकारी के अनुसार, अखिलेश यादव अब सपा दफ्तर पहुंच चुके हैं. अखिलेश अब पार्टी के लोगों और अपने विधायकों के साथ मीटिंग कर रहे हैं. खबर है कि थोड़ी देर में अखिलेश यादव प्रेस कॉन्फ्रेंस कर सकते हैं.

मुझे और मेरे साथी विधायक को भी रोका गया: कांग्रेस MLA आराधना मिश्रा

कांग्रेस नेता आराधना मिश्रा मोना ने कहा, "सरकार विपक्ष के विधायकों को क्यों रोक रही है? हम पैदल आएं, साइकिल से आएं ये हमारा अधिकार है. मुझे और मेरे साथी विधायक को भी रोका गया पर काफी देर बाद हम लोग आ पाए. कांग्रेस के पास संख्या कम है, लेकिन महात्मा गांधी भी अकेले चले थे. हम पुरजोर तरीके से मुद्दे उठाएंगे. महिलाओं के लिए एक दिन रखा गया है. लेकिन जिस तरह से लखीमपुर की घटना हुई, बदायूं की घटना हुई वो अहम है."

सदन में मुख्य विपक्षी पार्टी सपा के विधायक नदारद

यूपी विधानसभा के मॉनसून सत्र की कार्रवाही शुरू हो गई है. अभी सदन में मुख्य विपक्षी पार्टी सपा के विधायक अनुपस्थित हैं. वहीं, दूसरी तरफ कांग्रेस, बसपा रालोद और सुभापसा के विधायक सदन में पहुंच गए हैं.

अभी सदन तक नहीं पहुंचे अखिलेश, सड़क से ही सरकार पर साधा निशाना

यूपी विधानसभा मॉनसून सत्र के पहले दिन अखिलेश यादव अपने विधायकों संग सड़क पर ही धरने पर बैठे हैं. उन्होंने वहीं से योगी आदित्यनाथ सरकार पर निशाना साधा है.

सपा सुप्रीमो ने कहा,

"उत्तर प्रदेश की सड़कें जर्जर हैं. सड़कों पर गड्ढे हैं. किसान इस मौसम में बाढ़ और सूखे, दोनों से परेशान है. सरकार ने कोई राहत नहीं दी है. जानवर बीमारी से मर रहे हैं. लंपी वायरस से हजारों हजार गायों की जान गई है. यह डबल इंजन की सरकार लगातार महंगाई बढ़ा रही है. जनता इस महंगाई में पिस गई है. कानून व्यवस्था बर्बाद है. भ्रष्टाचार चरम सीमा पर है. भारत जैसे ग्रामीण देश में दूध, दही, घी पर जीएसटी लगाई है. खाने पीने की चीजें लगातार महंगी होती जा रही हैं."

अखिलेश यादव

अखिलेश ने कहा, "नौकरी देने के लिए संसाधन नहीं जुटाए गए. बड़े पैमाने पर बेरोजगारी है. सरकार हर चीज बेच रही है, प्राइवेटाइज कर रही है. फौज की भर्ती अग्निवीर से कोई नौजवान संतुष्ट नहीं है. नौजवान निकले तो उनपर झूठे मुकदमे लगवा दिए गए. सरकार बताती नहीं कि कितनों को अग्निवीर में भर्ती करोगे. बिजली महंगी हो गई है. ट्रांसफॉर्मर जर्जर हो गए हैं."

सड़क पर ही अखिलेश का डमी सदन!

पुलिस ने जत्थे के साथ आगे बढ़ने से रोका तो अखिलेश यादव अपने विधायकों के साथ सड़क पर ही धरने पर बैठ गए हैं. सड़क पर ही डमी सदन लगा दिया गया है. सदन का पहला दिन है इसलिए सड़क पर ही श्रद्धांजलि सभा का आयोजन करेगी सपा. उधर सपा वरिष्ठ नेता राम गोविंद चौधरी भी कार्यकर्ताओं के साथ अलग सड़क के किनारे बैठे. कहा- हम तो प्रदर्शन कर रहे मौजूदा विधायकों का साथ देने आए हैं.

रिपोर्ट: कुमार अभिषेक, आशीष श्रीवास्तव, यूपी तक.

अखिलेश यादव धरने पर बैठे

यूपी विधानसभा के मॉनसून सत्र के पहले दिन अखिलेश यादव के नेतृत्व में सपा विधायकों ने योगी सरकार पर हल्ला बोल दिया है. महंगाई समेत तमाम मुद्दों को लेकर अखिलेश यादव ने अपने विधायकों संग सपा कार्यालय से पैदल मार्च निकाला लेकिन 500 मीटर आगे बढ़ने पर पुलिस ने रोक दिया है. सपा राजभवन के रास्ते से पैदल जाना चाहती है और पुलिस दूसरे रूट से जाने की बात कह रही है. ऐसे में अखिलेश यादव अब वहीं धरने पर बैठ गए हैं.

अखिलेश यादव को रोके जाने पर क्या बोले CM योगी? 

तस्वीर: सीएम ऑफिस के ट्विटर हैंडल से.

अखिलेश यादव और सपा विधायकों को रोके जाने पर सीएम योगी ने कहा- 'किसी भी दल को लोकतांत्रिक तरीके से अपनी बात रखने में कोई बुराई नहीं है. अगर उन्होंने परमिशन मांगी होगी तो पुलिस उनको सुरक्षित मार्ग अवश्य देगी. मुझे लगता है समाजवादी पार्टी से ये उम्मीद करना कि वो नियम और शिष्टाचार को मानें, ये कपोल कल्पना है.'

पुलिस ने सपा के जत्थे को आगे बढ़ने से रोका

अखिलेश यादव और सपा के विधायकों को पुलिस ने आगे बढ़ने से रोक दिया है. जॉइंट सीपी पीयूष मोरदिया ने बताया कि, 'हमने सपा को विधान सभा जाने का एक अन्य मार्ग दिया था पर वह नही माने. इसलिए यहां रोकना पड़ रहा है.' पुलिस ने सपा को पार्टी ऑफिस के 500 मीटर आगे रोक दिया है. जॉइंट सीपी पीयूष मोरदिया ने बताया कि, 'हमने सपा को विधान सभा जाने का एक अन्य मार्ग दिया था पर वह नही माने. इसलिए यहां रोकना पड़ रहा है.' पुलिस ने सपा को पार्टी ऑफिस के 500 मीटर आगे रोक दिया है. जॉइंट सीपी ने यूपी तक को बताया कि सपा को बंदरिया बाग से एनेक्सी से होते हुए जाने का मार्ग दिया गया था. पर वह नही गए. सपा ने कहा कि वह राजभवन से होते हुए ही जाएंगे.

यूपी विधानसभा के मॉनसून सत्र के पहले दिन सपा को जोरदार प्रदर्शन

समाजवादी पार्टी अपने सभी विधायकों और एमएलसी के साथ पैदल मार्च कर रही है. समाजवादी पार्टी के दफ्तर से विधानसभा तक सपा विधायक पैदल जा रहे हैं. इस पैदल मार्च की अगुवाई सभा अध्यक्ष अखिलेश यादव कर रहे हैं.

लखनऊ का लालबाग तिराहा अब सुहेलदेव राजभर तिराहा के नाम से जाना जाएगा

लखनऊ नगर निगम की बैठक में बड़ा फैसला लिया गया है. लखनऊ में कई चौराहों और पार्कों के नाम बदले गए हैं. आपको बता दें कि लखनऊ का लालबाग तिराहा अब सुहेलदेव राजभर तिराहा के नाम से जाना जाएगा. वहीं, सुहेलदेव के नाम पर तिराहे का नाम रखने पर सुभापसा ने योगी सरकार को धन्यवाद देने की बात कही है.

सपा MLA इरफान सोलंकी का राजभर और शिवपाल पर वार

सपा विधायक इरफान सोलंकी ने हमला बोलते हुए कहा है कि 'अगर शिवपाल यादव और राजभर में जमीर बाकी रह गया होगा तो वह पदयात्रा में जरूर आएंगे.

रालोद सरकार को यूं घेरेगी

वहीं, राष्ट्रीय लोकदल (रालोद) अलग से प्रदर्शन करेगी. रालोद के विधायक सदन शुरू होने से पहले विधान भवन परिसर में चौधरी चरण सिंह की प्रतिमा पर किसानों के मुद्दे,लखीमपुर में बहनों की रेप-हत्या और महंगाई को लेकर प्रदर्शन करेंगे.

अखिलेश निकालेंगे पैदल मार्च

अहम बिंदु

आपको बता दें कि बेरोजगारी, महंगाई, महिलाओं के प्रति अपराधों और कानून व्यवस्था की बदहाली समेत विभिन्न मुद्दों को लेकर समाजवादी पार्टी (सपा) के सभी विधायक और विधान परिषद सदस्य सोमवार को पार्टी मुखिया अखिलेश यादव के नेतृत्व में पैदल मार्च कर विधानमंडल सत्र में हिस्सा लेने पहुंचेंगे.

आज से शुरू हो रहा UP विधानसभा का मॉनसून सत्र

उत्तर प्रदेश विधानसभा का मॉनसून सत्र आज यानी सोमवार से शुरू हो रहा है. मिली जानकारी के अनुसार, दिवंगत विधायक अरविंद गिरि को श्रद्धांजलि देने के बाद आज सदन की कार्यवाही स्थगित की जाएगी. मगर विधानपरिषद की कार्यवाही श्रद्धांजलि देने के बाद चलेगी.

संबंधित खबरें

No stories found.