मैनपुरी उपचुनाव: सपा-प्रसपा नेताओं के मतभेद होंगे दूर! शिवपाल-अखिलेश आ सकते हैं एक मंच पर

शिवपाल यादव और अखिलेश यादव.
शिवपाल यादव और अखिलेश यादव.(फाइल फोटो: @yadavakhilesh/ट्विटर)

मैनपुरी लोकसभा उपचुनाव (Mainpuri By Election) को लेकर सियासी दलों ने रणनीति बनानी शुरू कर दी है. मैनपुरी लोकसभा समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) का गढ़ है और इस गढ़ को बचाने के लिए समाजवादी पार्टी अपनी पूरी ताकत लगा रही है. अब समाजवादी पार्टी को चाचा शिवपाल यादव (Shivpal Yadav) का साथ भी मिल गया है. इसी बीच एक बड़ी खबर सामने आई है. खबर है कि सैफई में चाचा शिवपाल और अखिलेश यादव मंच साझा कर सकते हैं.

अहम बिंदु

बताया जा रहा है कि मैनपुरी लोकसभा उपचुनाव में अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) की पत्नी और सपा की उम्मीदवार डिंपल यादव (Dimple Yadav) की जीत के लिए समाजवादी पार्टी और प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (Pragatisheel Samajwadi Party) के कार्यकर्ताओं की एक समागम बैठक आयोजित की जाएगी. इस बैठक में प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष शिवपाल यादव, समाजवादी पार्टी के कई बड़े नेताओं के साथ मंच साझा करेंगे.

अखिलेश भी आ सकते हैं

मिली जानकारी के अनुसार इस समागम कार्यक्रम में यादव परिवार के सदस्य भी शामिल हो सकते हैं. जानकारी सामने आई है कि समाजवादी पार्टी और प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ता समागम कार्यक्रम में समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष और उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव भी शामिल हो सकते हैं.

बता दें कि इस कार्यक्रम का आयोजन जसवंतनगर विधानसभा में आयोजित किया जाएगा. इस दौरान प्रसपा और सपा के कार्यकर्ताओं के आपस में बैठाकर मतभेद दूर किए जाएगे. इसी के साथ मैनपुरी लोकसभा उपचुनाव में समाजवादी पार्टी की उम्मीदवार डिंपल यादव को ज्यादा से ज्यादा वोटो से जीत दिलाने की अपील भी की जाएगी.

शिवपाल ने लिया था ये फैसला

बीते दिन चाचा शिवपाल यादव ने आखिरकार मैनपुरी लोकसभा उपचुनाव को लेकर फैसला ले लिया था. उन्होंने डिंपल यादव को विजय बनाने के लिए अपने कार्यकर्ताओं के साथ रणनीति बनानी शुरू कर दी थी और चुनावी प्रचार के लिए भी मैदान में आ गए थे. उनके इस कदम से लग रहे सभी कयासों पर विराम लग गया था.

दरअसल मैनपुरी लोकसभा उपचुनाव में भाजपा ने रघुराज सिंह शाक्य को चुनावी मैदान में उतारा है. खास बात यह है कि रघुराज सिंह शाक्य, सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव को अपना आदर्श मानते हैं और शिवपाल यादव को अपना राजनीति गुरु मानते हैं. ऐसे में कयास लगाए जा रहे थे कि आखिर चाचा शिवपाल, मैनपुरी उपचुनाव में किसका साथ देंगे, लेकिन आखिरकार उन्होंने डिंपल यादव का समर्थन देने का फैसला कर लिया है. अब देखना यह होगा कि मैनपुरी की जनता साइकिल पर सवार होती है या कमल के फूल का साथ का हाथ थामती है.

शिवपाल यादव और अखिलेश यादव.
मैनपुरी उपचुनाव: मुलायम सिंह को याद कर मंच पर रो पड़े धर्मेंद्र यादव, कहा- कल तक जो...

संबंधित खबरें

No stories found.
UPTak - UP News in Hindi (यूपी हिन्दी न्यूज़)
www.uptak.in