मैनपुरी उपचुनाव: खिलेगा कमल या बचेगी मुलायम की विरासत, ऐसा रहा है सपा के गढ़ का इतिहास

मुलायम सिंह यादव के साथ अखिलेश यादव
मुलायम सिंह यादव के साथ अखिलेश यादव(फोटो: मनीष अग्निहोत्री/इंडिया टुडे)

Mainpuri By-Election: उत्तर प्रदेश की मैनपुरी लोकसभा सीट बेहद खास है, यह वह सीट है जो मुलायम का पुराना गढ़ माना जाता रहा है. इस सीट पर आज तक बीजेपी अपनी जीत दर्ज नहीं कर पाई है. 2014 में जब पूरे देश में मोदी लहर थी तब भी इस सीट पर उनका जादू नहीं चला. 2014 और 2019 में मैनपुरी से चुनाव लड़े समाजवादी पार्टी के मुलायम सिंह यादव को ही जीत हासिल हुई. कभी जीत का स्वाद न चख पाने वाली भाजपा का मानना है कि वह इस उपचुनाव में यहां से जीत दर्ज करेंगे.

अहम बिंदु

मैनपुरी लोकसभा सीट पर 1989 से लेकर अब तक यादव परिवर का कब्जा बरकरार है. अब मुलायम सिंह यादव के निधन के बाद बीजेपी पूरे दमखम से यहां पर कमल खिलाने की कोशिश में लग गई है.

पिछले पांच लोकसभा चुनाव में हारजीत का रिकार्ड

मैनपुरी में 1998 के लोकसभा चुनाव में सपा से पूर्व केन्द्रीय मंत्री बलराम सिंह यादव सांसद चुने गये थे. उन्होंने भाजपा के पूर्व मंत्री अशोक यादव को 10366 मतों से हराया था. 1999 के लोकसभा चुनाव में भी वलराम सिंह यादव सांसद चुने गये थे, उन्होंने बीजेपी के दर्शन सिंह यादव को 28026 मतों से हराया था. वहीं 2004 के लोकसभा चुनाव में सपा सुप्रीमों मुलायम सिंह यादव सांसद चुने गये थे, चुनाव के बाद सपा सुप्रीमों ने ये सीट छोड़कर धर्मेन्द्र यादव को चुनाव लड़ाया था. जिसमें धर्मेन्द्र यादव सांसद चुने गये थे, उन्होंने बसपा के अशोक शाक्य को 179713 मतों से हराया था. 2009 में सपा सुप्रीमों मुलायम सिंह यादव मैनपुरी सीट से सांसद चुने गये उन्होंने बसपा के पूर्व मंत्री विनय शाक्य को 173069 मतों से हराया था.

2014 के चुनाव में मुलायम सिंह यादव ने भाजपा के एसएस चौहान को 364666 मतों से हराया था, मुलायम मैनपुरी और आजमगढ़ सीट से चुनाव लड़े थे. दोनों जगह उन्हें जीत हासिल हुई, बाद में उन्होंने मैनपुरी सीट छोड़कर अपने पोते तेजप्रताप यादव को उपचुनाव में उतारा. तेजप्रताप यादव ने भाजपा प्रत्यासी प्रेमसिंह शाक्य को 321149 मतो पराजित कर जीत हासिल की. वहीं 2019 में 5वीं बार मुलायम सिंह यादव मैनपुरी लोकसभा सीट से चुनाव लड़े. उन्होंने भाजपा के प्रेम सिंह शाक्य को 94389 मतों से पराजित करके जीत हासिल की.

वर्ष 2022 के विधानसभा चुनाव में मैनपुरी की कुल चार विधानसभा सीटों में करहल और किशनी सपा जीतने में कामयाब रही. जबकि दो सीटों मैनपुरी और भोगांव विधानसभा सीट भाजपा के खाते में गई. मैनपुरी लोकसभा क्षेत्र के अंतर्गत आने बाली इटावा की जसवंत नगर विधानसभा सीट सपा के पास है.

मैनपुरी लोकसभा में कुल मतदाता 1746895 है. जिसमें पुरूष मतदाताओं की संख्या 9 लाख 40 हजार 327 है तो वहीं महिला मतदाता 8 लाख 2 हजार है. कुल मतदेय स्थलों की संख्या 2239 व मतदान केन्द्रों की संख्या 1608 है. जातिगत आंकड़ो के आधार पर पहले स्थान पर यादव, दूसरे पर शाक्य, तीसरे पर ठाकुर मतदाता है.

जातिगत मतदाता

  • कुल मतदाता- 1746895

  • यादव मतदाता- 431235

  • शाक्य- 292912

  • ठाकुर- 201530

  • अनुसूचित जाति- 152220

  • ब्राहम्मण- 122427

  • लोधी- 106325

  • वैश्य- 71261

  • मुस्लिम- 67221

  • वघेल- 69713

मुलायम सिंह यादव के साथ अखिलेश यादव
'सुघर के बेटे ने जाटव का पानी पीया', छुआछूत को पटकने वाले 'पहलवान' मुलायम के सियासी किस्से

संबंधित खबरें

No stories found.
UPTak - UP News in Hindi (यूपी हिन्दी न्यूज़)
www.uptak.in