शिवपाल पर बोले अखिलेश, 'वह हमेशा चाचा रहेंगे' पर राजभर के लिए कर दी 'आत्मा घुसने' वाली बात

शिवपाल यादव संग अखिलेश यादव और ओम प्रकाश राजभर.
शिवपाल यादव संग अखिलेश यादव और ओम प्रकाश राजभर.फोटो: यूपी तक

उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने गुरुवार को वाराणसी में मीडिया से बातचीत कई दौरान कई अहम बाते कहीं. इस दौरान अखिलेश ने अपने चाचा और प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (लोहिया) के मुखिया शिवपाल सिंह यादव (Shivpal Singh Yadav) को नसीहत दी. साथ ही सपा गठबंधन के पूर्व साथी और सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी (सुभापसा) के अध्यक्ष ओम प्रकाश राजभर (Om Prakash Rajbhar) पर तीखा प्रहार भी किया.

अखिलेश बोले- शिवपाल हमेशा चाचा रहेंगे

एसपी चीफ ने कहा,

"वह हमेशा चाचा रहेंगे. लेकिन अगर उन्हें लगता है कि मैं उन्हें सम्मान नहीं दे पा रहा हूं तो मैं उन्हें स्वतंत्र करता हूं. खुली छूट है जहां जाना चाहें, जिससे गठबंधन करना चाहें करें. खुशी होगी कि वो अपना दल दोबारा बनाएं. जो आवाज वो उठाना चाहते हैं लोहिया जी की, जय प्रकाश जी की उस सिद्धांत को अपने दल में शामिल करें."

अखिलेश यादव

गौरतलब है कि बीते दिनों समाजवादी पार्टी ने शिवपाल सिंह यादव को लेटर जारी कर दो टूक कहा था, "आपको जहां ज्यादा सम्मान मिले वहां जाने के लिए आप स्वतंत्र हैं."

अखिलेश ने राजभर पर बोला हमला

पत्रकारों द्वारा पूछे गए सवाल 'राजभर का आरोप है कि आप एसी से बाहर नहीं निकलते' के जवाब में अखिलेश ने कहा, "22 साल राजनीति में हो गए मुझे. आप जानते होंगे कि वो किसके इशारे पर सवाल उठा रहे होंगे. मुझे तो लगता है कि उनके अंदर आत्मा किसी और दल की आ गई है और गांव-देहात में झाड़-फूंक होती है न, उन्हें झड़वाना-फुंकवाना पड़ेगा. तभी ठीक होंगे, उससे पहले ठीक नहीं होने वाले हैं."

'राजभर को Y श्रेणी की सुरक्षा क्यों मिली?' इसपर अखिलेश ने कहा, "इसलिए मिली कि जो बीजेपी को खुश करेगा, उसे सुरक्षा मिलेगी. बीजेपी को जो खुश रखेगा वो स्वतंत्र और आजाद घूमेगा."

आपको बता दें कि सपा और सुभासपा के बीच दूरियां उस वक्त और भी बढ़ गईं थी, जब राष्ट्रपति चुनाव में विपक्ष के उम्मीदवार यशवंत सिन्हा की प्रेस कांफ्रेंस में 'खुद को नहीं बुलाए जाने' से नाराज राजभर ने ऐलान किया कि उनकी पार्टी के विधायक भाजपा नीत राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन की उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू को वोट देंगे.

इसके बाद सपा ने राजभर के नाम पत्र लिख कहा था, "श्री ओम प्रकाश राजभर जी समाजवादी पार्टी लगातार भारतीय जनता पार्टी के खिलाफ लड़ रही है. आपका भारतीय जनता पार्टी के साथ गठजोड़ है और लगातार भारतीय जनता पार्टी को मजबूत करने के लिए काम कर रहे हैं. अगर आपको लगता है कि कहीं ज्यादा सम्मान मिलेगा तो वहां जाने के लिए आप स्वतंत्र हैं."

शिवपाल यादव संग अखिलेश यादव और ओम प्रकाश राजभर.
शिवपाल यादव ने की सीएम योगी की तारीफ, बोले- अब मैं स्वतंत्र विधायक हूं

संबंधित खबरें

No stories found.
UPTak - UP News in Hindi (यूपी हिन्दी न्यूज़)
www.uptak.in