अलीगढ़ में सहायक प्रोफेसर की गिरफ्तारी की मांग को लेकर भाजयुमो का प्रदर्शन

अलीगढ़ में सहायक प्रोफेसर की गिरफ्तारी की मांग को लेकर भाजयुमो का प्रदर्शन
फोटो कोलाज: यूपी तक

अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय (एएमयू) के जवाहरलाल नेहरू मेडिकल कॉलेज के सहायक आचार्य (असिस्टेंट प्रोफेसर) डाक्टर जितेंद्र कुमार द्वारा कक्षा में व्याख्यान के दौरान कथित तौर पर एक धर्म का अपमान करने के मामले को लेकर भारतीय जनता युवा मोर्चा (भाजयुमो) ने मंगलवार को सिविल लाइंस थाने में विरोध प्रदर्शन किया और कुमार की तत्काल गिरफ्तारी और बर्खास्तगी की मांग की.

प्रदर्शन के दौरान भाजयुमो के नगर उपाध्यक्ष अमित गोस्वामी ने पत्रकारों से कहा कि इन शिक्षक ने जानबूझकर 'हिंदू धार्मिक भावनाओं को बदनाम करने की साजिश' की जो एक असहनीय कृत्य है. प्रदर्शनकारियों ने 'देशद्रोहियों' के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग करते हुए नारेबाजी की.

सिविल लाइंस के पुलिस क्षेत्राधिकारी एस पाण्डेय ने पत्रकारों को बताया कि इस मामले की जांच की जा रही है और आवश्यक कार्रवाई की जाएगी.

बहरहाल, एएमयू के कुलपति प्रोफेसर तारिक मंसूर ने इस मामले की जांच के लिए चार सदस्यीय जांच समिति गठित की है. समिति की अध्यक्षता वनस्पति विज्ञान विभाग के प्रोफेसर आर.पी.सिंह करेंगे जबकि जवाहरलाल नेहरू मेडिकल कॉलेज के वरिष्ठ संकाय सदस्य प्रोफेसर मोहम्मद अतहर अंसारी और प्रोफेसर संगीता सिंघल अन्य सदस्य होंगे. चौथे सदस्य एएमयू रजिस्ट्रार कार्यालय के वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी होंगे.

उल्लेखनीय है कि पिछले सप्ताह डाक्टर जितेंद्र कुमार ने अपने व्याख्यान के दौरान रेप को लेकर कथित तौर पर देवी-देवताओं के बारे में आपत्तिजनक टिप्प्णी की और इसकी एक वीडियो क्लिप सोशल मीडिया पर वायरल होने के तुरंत बाद उन्हें निलंबित कर दिया गया था. उसी दिन एक बीजेपी युवा नेता की शिकायत के बाद सिविल लाइन्स थाने में उनके खिलाफ मामला दर्ज किया गया था.

अलीगढ़ में सहायक प्रोफेसर की गिरफ्तारी की मांग को लेकर भाजयुमो का प्रदर्शन
रेप के बारे में पढ़ाते वक्त AMU मेडिकल कॉलेज के टीचर पर धार्मिक भावनाएं भड़काने का आरोप

संबंधित खबरें

No stories found.