window.googletag = window.googletag || { cmd: [] }; let pathArray = window.location.pathname.split('/'); function getCookieData(name) { var nameEQ = name + '='; var ca = document.cookie.split(';'); for (var i = 0; i < ca.length; i++) { var c = ca[i]; while (c.charAt(0) == ' ') c = c.substring(1, c.length); if (c.indexOf(nameEQ) == 0) return c.substring(nameEQ.length, c.length); } return null; } googletag.cmd.push(function() { if (window.screen.width >= 900) { googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_ATF_728x90', [728, 90], 'div-gpt-ad-1702014298509-0').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_ATF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1702014298509-1').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_MTF_728x90', [728, 90], 'div-gpt-ad-1702014298509-2').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_MTF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1702014298509-3').addService(googletag.pubads()); } else { googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_ATF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-0').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-1_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-2').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-2_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-3').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-3_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-4').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_BTF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-5').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_Bottom_320x50', [320, 50], 'div-gpt-ad-1659075693691-6').addService(googletag.pubads()); } googletag.pubads().enableSingleRequest(); googletag.enableServices(); if (window.screen.width >= 900) { googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-0'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-1'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-2'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-3'); } else { googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-0'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-2'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-3'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-4'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-5'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-6'); } });

दुल्हन ने रखी दूल्हे के सामने शारीरिक संबंध न बनाने समेत 3 शर्तें, फिर अपने मुंह बोले पिता संग हुई फरार?

अमित श्रीवास्तव

ADVERTISEMENT

UPTAK
social share
google news

UP News: तिलक, बारात, जयमाल और फिर अग्नि को साक्षी मानकर लिए गए 7 फेरों के बाद शादी संपन्न मानी जाती है. इसके बाद तारों की छांव में दुल्हन की नम आंखों से विदाई की तैयारियां होती हैं. मगर तब क्या हो जब दुल्हन अपने पति के साथ अपनी ससुराल जाने से ही मना कर दे और उसके पिता, पति के सामने ऐसी 3 शर्त रख दें, जिनको मानना किसी के लिए भी मुमकिन नहीं है. 

दरअसल उत्तर प्रदेश के झांसी से हैरान कर देने वाला मामला फिलहाल काफी चर्चाओं में बना हुआ है. इस मामले पर सोशल मीडिया पर लोग अपनी-अपनी प्रतिक्रियाएं दे रहे हैं. दूल्हा पक्ष समेत किसी को भी समझ नहीं आ रहा है कि आखिर शादी के बाद और विदाई से ठीक पहले दुल्हन और उसके पिता ने ऐसी अजीबो-गरीब शर्ते क्यों रखी?    

अपने मुंह बोले पिता के साथ दुल्हन हुई फरार?

बता दें कि पीड़ित वर पक्ष का आरोप है कि शादी के बाद दुल्हन और उसके मुंह बोले पिता ने 3 शर्त रखीं, जिसको मानने से उन्होंने साफ मना कर दिया. वर पक्ष के मुताबिक, पहली शर्त ये थी कि शादी के बाद दूल्हा-दुल्हन संबंध नहीं बनाएंगे. दूसरी शर्त थी कि दुल्हन का मुंह बोला पिता किसी भी समय और कभी भी अपनी बेटी के घर आ-जा सकता है. तीसरी और आखिरी शर्त थी कि दुल्हन के साथ उसकी छोटी बहन भी साथ जाएगी.   

यह भी पढ़ें...

ADVERTISEMENT

मिली जानकारी के मुताबिक, शर्त सुनने के बाद दूल्हे ने ये शर्ते मानने से साफ इनकार कर दिया. वर पक्ष ने दुल्हन को समझाया भी. मगर वह नहीं मानी. अब वर पक्ष ने आरोप लगाया है कि दुल्हन शादी में चढ़ाए गए सारे जेवरात लेकर अपने मुंह बोले पिता के साथ चली गई और फरार हो गई.

क्या था मामला

ये मामला झांसी (Jhansi News) के बरुआसागर कस्बे से सामने आया था. यहां रहने वाले मानवेन्द्र सेन की शादी झांसी के गुरसरांय में रहने वाली युवती के साथ तय हुई थी. 6 जून को धूमधाम से शादी हुई. दुल्हन अपने मुंह बोले पिता और बहन के साथ बरुआसागर स्थित मैरिज हॉल में शादी के लिए आई, जहां शादी की रस्में अदा की गई. टीका, जयमाला और सात फेरे जैसी सभी रस्में हो हो गई और शादी धूमधाम से संपन्न हुई. मगर विदाई के समय ही दुल्हन और उसके पिता ने दूल्हे के सामने 3 शर्त रख दीं, जिनको मानने से दूल्हे ने साफ मना कर दिया.

पुलिस ने क्या कहा

इस पूरे मामले पर पुलिस का कहना है कि दुल्हन के पिता उसके जैविक पिता नही हैं. वर पक्ष ने आरोप लगाया है कि लड़की और उसके पिता जेवर भी अपने साथ लेकर चले गए. मामले में वर पक्ष की तरफ से तहरीर मिली है. मामले की जांच की जा रही है. जांच के दौरान जो भी सामने आएगा, उसके आधार पर कार्रवाई की जाएगी.

ADVERTISEMENT

    follow whatsapp

    ADVERTISEMENT