न्यायमूर्ति राजीव गुप्ता ने मुख्तार अंसारी के मामलों पर सुनवाई से खुद को अलग किया

न्यायमूर्ति राजीव गुप्ता ने मुख्तार अंसारी के मामलों पर सुनवाई से खुद को अलग किया
बीएसपी विधायक मुख्तार अंसारी.फोटो: इंडिया टुडे आर्काइव

इलाहाबाद उच्च न्यायालय के न्यायमूर्ति राजीव गुप्ता ने बाहुबली नेता और पूर्व विधायक मुख्तार अंसारी के खिलाफ दायर दो आपराधिक मामलों पर सुनवाई से खुद को अलग कर लिया है. मुख्तार अंसारी वर्तमान में बांदा जेल में बंद हैं.

अहम बिंदु

मुख्तार अंसारी के खिलाफ एक मामला गैंगस्टर कानून के तहत आजमगढ़ में दर्ज है, जबकि दूसरा मामला विधायक निधि के कथित दुरुपयोग से जुड़ा है, जो मऊ में लंबित है. न्यायमूर्ति राजीव गुप्ता ने अपने समक्ष दो अलग-अलग याचिकाएं प्रस्तुत किए जाने के बाद ये आदेश पारित किए.

न्यायमूर्ति गुप्ता ने 18 अप्रैल को विधायक निधि के कथित दुरुपयोग से जुड़े मामले पर सुनवाई से खुद को अलग किया है, जबकि 20 अप्रैल को उन्होंने गैंगस्टर कानून से जुड़े मामले पर सुनवाई से खुद को अलग किया है.

दो अलग अलग आदेशों में न्यायमूर्ति गुप्ता ने अदालत की रजिस्ट्री को इन मामलों को मुख्य न्यायाधीश के समक्ष प्रस्तुत करने का निर्देश दिया, जो इन पर सुनवाई के लिए किसी अन्य को नामित करेंगे.

संबंधित खबरें

No stories found.