28 साल पहले रेप के बाद प्रेगनेंट हो गई थी महिला, इतने सालों बाद अब जगी इंसाफ की आस

28 साल पहले रेप के बाद प्रेगनेंट हो गई थी महिला, इतने सालों बाद अब जगी इंसाफ की आस
तस्वीर: विनय पांडेय, यूपी तक.

यूपी के शाहजहांपुर में 28 साल पहले एक महिला से हुए रेप का मामला अब के बाद इंसाफ की दहलीज पर पंहुचा है. पिछले साल 2021 में जब महिला पुलिस के पास पहुंची, तो उसकी सुनवाई नही हुई लेकिन कोर्ट की शरण लेने के बाद पीड़ित महिला से रेप के मामले में मुकदमा दर्ज हुआ. पीड़ित महिला के बेटे का डीएनए भी आरोपी के डीएनए से मैच कर गया. फिलहाल पुलिस अब आरोपी की तलाश कर उसकी गिरफ्तारी का प्रयास कर रही है.

अहम बिंदु

4 मार्च 2021 को महिला ने कोर्ट के आदेश पर थाना सदर बाजार में मुकदमा दर्ज कराया था. इसमें पीड़िता ने बताया था कि वर्ष 1994 में वह अपनी बहन और बहनोई के साथ थाना सदर बाजार के एक मोहल्ले में रहती थी. उनके बहनोई सरकारी नौकरी में थे. बहन प्राइवेट स्कूल में पढ़ाती थी. एक दिन मोहल्ले के ही नकी हसन और उसका ड्राइवर घर में घुस आया, जिसने उसके साथ रेप किया. अगले दिन उसके भाई गुड्डू ने भी रेप किया. इसके बाद वह गर्भवती हो गई और एक बेटे को जन्म दिया. तब उसकी महज 13 वर्ष थी.

उसने अपने बेटे को हरदोई के एक दंपत्ति को को दे दिया था. बाद में पीड़िता की शादी गाजीपुर के व्यक्ति के साथ कर दी गई. 10 वर्ष बाद उनके पति को अतीत की जानकारी हुई तो उन्होंने महिला से संबंध विच्छेद कर लिया. वहीं जब बेटा बड़ा हुआ, तो वह अपनी मां के पास लखनऊ आ गया और पिता के बारे में सवाल करने लगा. इस पर पीड़िता ने उसे सारी हकीकत बयां कर दी. बेटे के कहने पर आरोपी को सजा दिलवाने के लिए पीड़िता ने न्यायालय का सहारा लिया और कोर्ट के आदेश पर आरोपी नकी हसन और उसके भाई गुड्डू के खिलाफ सदर थाने में दुष्कर्म की एफ आई आर दर्ज करा दी थी.

पीड़िता के बेटे का डीएनए टेस्ट कराया गया था. इसकी रिपोर्ट आ गई है. बेटे का डीएनए आरोपी नकी हसन से मैच कर रहा है. फिलहाल इस मामले में एसपी सिटी का कहना है कि गवाह नहीं थे, इसलिए डीएनए परीक्षण कराया गया था. पुलिस ने आरोपियों की तलाश के लिए टीम गठित कर दी है.

इस मामले में पीड़िता के वकील मुतहर खान का कहना है कि उस समय वो 13 वर्ष की थी और उसने एक बेटे को जन्म दिया था इसी सच्चाई को जानने के लिए जब उसने 2021 में आरोपियों पर कोर्ट के जरिए रेप का मुकदमा दर्ज कराया. उसी के आधार पर मुख्य आरोपी की पहचान की गई. लंबी लड़ाई के बाद अब पुलिस ने डीएनए परीक्षण कराया है. इसमें आरोपी का डीएनए पीड़िता के लड़के से मैच हुआ है. अब सिर्फ आरोपियों की गिरफ्तारी शेष रह गई है.

संबंधित खबरें

No stories found.