बांदा: सामने आया श्वेता सिंह की मौत का सच? कौन है राजेश, जिसका मृतका ने किया था जिक्र

बांदा: सामने आया श्वेता सिंह की मौत का सच? कौन है राजेश, जिसका मृतका ने किया था जिक्र
फोटो: सिद्धार्थ गुप्ता

यूपी की राजनीति में उथल-पुथल मचाने वाले बांदा के बीजेपी नेत्री श्वेता सिंह गौर मौत मामले की परतें धीरे-धीरे खुलती जा रही हैं. घायल शेरनी का फेसबुक पोस्ट डालकर कथित तौर पर आत्महत्या करने वाली श्वेता ने साबित कर दिया कि वह कम-से-कम 'शेरनी' तो थी हीं, तभी तो मौत से पहले अपने साथ हुई हर 'उत्पीड़न' का वीडियो बनाकर परिवार को दे गईं.

वीडियो में राजेश सिंह नाम के उस शख्स का नाम सामने आया है, जिसकी कीमत श्वेता को 'शोषित और अपमानित होने के बाद अपनी जान देकर चुकानी पड़ी.' श्वेता को अपनी हत्या की आशंका थी इसलिए अपने साथ हुई हर ज्यादती को वह कैमरे में कैद करती गईं. आपको बता दें कि पुलिस की ढीली कार्रवाई देख श्वेता के परिजनों ने यह सारे सबूत मीडिया से साझा कर दिए था, जिसके बाद पुलिस पर असली कार्रवाई का दबाव बढ़ गया.

वहीं, श्वेता की बेटियों ने भी CM योगी से न्याय की मांग की थी. बेटियों ने कहा था, "पापा, मम्मी को बहुत टॉर्चर करते थे, गालियां देने के साथ मारपीट करते थे. पापा ने मम्मी को मार डाला. मेरी मम्मी को न्याय दिला दो, न्याय दिला दो." हालांकि, बांदा पुलिस ने भारी किरकिरी के बाद मुख्य आरोपी पति दीपक सिंह गौर को अरेस्ट कर जेल भेज दिया है. बाकी अन्य की तलाश शुरू कर दी है.

श्वेता के भाई ऋतुराज सिंह ने मृत बहन की प्रताड़ना का वीडियो मीडिया को देते हुए बताया, "राजेश सिंह जबरन शराब पीने के बहाने उनके घर आता था. मौत से पहले श्वेता की ओर से बनाए गए वीडियो में वह अपने पति दीपक से कह रही हैं, "राजेश सिंह मेरे घर में नहीं आना चाहिए, अगर वो यहां आ गया तो मैं यह सब आपके पापा मम्मी को बताऊंगी." यह सुनते ही पति दीपक सिंह भड़क गया और बोला, "राजेश सिंह यहां आएगा, रोज आएगा और अभी आएगा. इस पर पत्नी श्वेता ने कारण समझाते हुए कहा कि 'मेरी बेटियां हैं इसलिए वो यहां नहीं आएगा.'

वीडियो के अनुसार पत्नी की समस्या से बेफिक्र दीपक ने अपनी ऊंची आवाज में उसकी बात काटते हुए कहा कि 'तू यहां नहीं रहेगी श्वेता.' अलग-अलग वीडियो में श्वेता राजेश सिंह को घर न लाने की पति से गुहार कर रही हैं. पुलिस अभी राजेश सिंह की उस हरकत तक नहीं पहुंच पाई है, जिससे श्वेता सिंह लगातार 'परेशान' थीं. आरोप है कि लड़के की चाहत में श्वेता को 'टॉर्चर' किया जाता था, क्योंकि उनकी 2 बेटियां हैं.

मौत से पहले श्वेता द्वारा बनाए गए वीडियो साक्ष्यों के संबंध में जब बांदा के SP अभिनंदन से 'यूपी तक' ने बातचीत की तो उन्होंने बताया, "हमने भी यह वीडियो देखें हैं और हम लोग उसका संज्ञान लेकर कार्रवाई करेंगे क्योंकि इन लोगों के बीच जो मैरिटल डिस्प्यूट चल रहा था उसमें कहीं न कहीं राजेश सिंह का ही हाथ है." श्वेता के ससुर रिटायर्ड आईपीएस राजबहादुर सिंह भी इस केस में आरोपी हैं. उनके दबाव के सवाल पर एसपी ने कहा, "हम बिल्कुल फेयर इन्वेस्टिगेशन कर रहे हैं. उनके पति दीपक सिंह को गिरफ्तार कर लिया गया है और शेष ही अन्य आरोपियों पर भी कार्रवाई की जाएगी."

श्वेता के भाई ने बताया कि राजेश सिंह लुकतरा का रहने वाला है. मृतका के भाई का आरोप है, "राजेश अक्सर घर आता था और दीपक सिंह के साथ बैठकर रोज शराब पीता था, जोकि श्वेता दीदी को पसंद नहीं आता था. राजेश और दीपक में बहुत गहरी दोस्ती है. दीदी की मर्जी के बगैर वह उसे जबरन घर में घुसाते थे, दोस्तों में उसे सभी मामा कहकर बुलाते हैं."

कौन है राजेश सिंह ?

राजेश सिंह बांदा जिले के लुकतरा गांव का रहने वाला है और नदियों में होने वाले बालू खनन के कारोबार से जुड़ा है. राजेश पूर्व ब्लॉक प्रमुख लालू सिंह का छोटा भाई भी है. इसका एक अन्य मकान बांदा शहर के इंदिरा नगर में है, जहां यह अपने परिवार के साथ रहता है. यह अक्सर दीपक सिंह के साथ रहा करता था और उसके कई कामों में साझीदार था.

आपको बता दें कि मौत से बीजेपी नेत्री द्वारा बनाए गए वीडियो अब सोशल मीडिया में जमकर वायरल हो रहे हैं, जिससे पुलिस कार्रवाई का दबाव बन गया है.

बांदा: सामने आया श्वेता सिंह की मौत का सच? कौन है राजेश, जिसका मृतका ने किया था जिक्र
बांदा: BJP जिला पंचायत सदस्य श्वेता की बेटियों ने बताई मम्मी के साथ हुए 'टॉर्चर' की कहानी

संबंधित खबरें

No stories found.