window.googletag = window.googletag || { cmd: [] }; let pathArray = window.location.pathname.split('/'); function getCookieData(name) { var nameEQ = name + '='; var ca = document.cookie.split(';'); for (var i = 0; i < ca.length; i++) { var c = ca[i]; while (c.charAt(0) == ' ') c = c.substring(1, c.length); if (c.indexOf(nameEQ) == 0) return c.substring(nameEQ.length, c.length); } return null; } googletag.cmd.push(function() { if (window.screen.width >= 900) { googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_ATF_728x90', [728, 90], 'div-gpt-ad-1702014298509-0').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_ATF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1702014298509-1').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_MTF_728x90', [728, 90], 'div-gpt-ad-1702014298509-2').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_MTF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1702014298509-3').addService(googletag.pubads()); } else { googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_ATF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-0').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-1_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-2').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-2_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-3').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-3_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-4').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_BTF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-5').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_Bottom_320x50', [320, 50], 'div-gpt-ad-1659075693691-6').addService(googletag.pubads()); } googletag.pubads().enableSingleRequest(); googletag.enableServices(); if (window.screen.width >= 900) { googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-0'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-1'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-2'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-3'); } else { googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-0'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-2'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-3'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-4'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-5'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-6'); } });

RSS-BJP को ‘नाग-सांप’ खुद को नेवला बताने वाले स्वामी प्रसाद मौर्य क्या हार के बाद बदल गए?

यूपी तक

ADVERTISEMENT

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 का शेड्यूल जारी होने के बाद भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) छोड़ समाजवादी पार्टी (एसपी) जॉइन करने वाले पूर्व केबिनेट मंत्री…

social share
google news

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 का शेड्यूल जारी होने के बाद भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) छोड़ समाजवादी पार्टी (एसपी) जॉइन करने वाले पूर्व केबिनेट मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य फाजिलनगर विधानसभा सीट से अपना चुनाव हार गए हैं. वह फाजिलनगर सीट से एसपी गठबंधन की ओर से चुनाव मैदान में थे. बता दें कि स्वामी प्रसाद मौर्य को बीजेपी के सुरेंद्र कुमार कुशवाहा ने 45014 वोटों के बड़े अंतर से शिकस्त दी है. चुनाव में मौर्य को 42903 वोट, जबकि उनके निकटतम प्रतिद्वंदी बीजेपी के सुरेंद्र कुशवाहा को 76084 वोट मिले.

इस बीच स्वामी प्रसाद मौर्य ने अपने ‘नाग रूपी RSS और सांप रूपी BJP’ वाले बयान पर प्रतिक्रिया दी है. न्यूज एजेंसी एएनआई से बातचीत में स्वामी प्रसाद मौर्य ने कहा,

“हमेशा बड़ा तो नेवला ही होता है. यह बात अलग है कि नाग और सांप दोनों ने मिलकर नेवले को जीतने नहीं दिया.”

स्वामी प्रसाद मौर्य

ADVERTISEMENT

यह भी पढ़ें...

ADVERTISEMENT

गौरतलब है कि स्वामी प्रसाद मौर्य ने चुनाव प्रचार अभियान के दौरान कहा था, “नाग रूपी आरएसएस एवं सांप रूपी भाजपा को स्वामी रूपी नेवला यू.पी. से खत्म करके ही दम लेगा.”

बता दें कि मौर्य ने अपनी हार स्वीकार करते हुए 10 मार्च को ट्वीट कर कहा था, “समस्त विजयी प्रत्याशियों को बधाई. जनादेश का सम्मान करता हूं चुनाव हारा हूं, हिम्मत नहीं. संघर्ष का अभियान जारी रहेगा.”

स्वामी ने दिए थे और भी विवादित बयान

ADVERTISEMENT

आपको बता दें कि यूपी चुनाव में स्वामी प्रसाद मौर्य ने काफी आक्रामक प्रचार किया था और कई दफा उनके बोल वचन भी सामने आए थे. ऐसे ही एक बयान में स्वामी प्रसाद मौर्य ने कहा था, ”सरकार बनने के बाद सबसे पहले ऐसे योगी के गुलाम, जो योगी की बंधुआ मजदूरी करते हैं, उनकी जी हजूरी करते हैं, एक-एक करके उनको ऐसा पानी पिला-पिलाकर पटकूंगा कि उनकी शेखी निकल जाएगी.”

गौरतलब है कि चुनाव प्रचार के दौरान स्वामी प्रसाद मौर्य के काफिले पर हमले के आरोप भी सामने आए थे.

(पूरा वीडियो देखने के लिए ऊपर दिए गए लिंक पर क्लिक करें)

पिता स्वामी मौर्य की हार पर आया संघमित्रा का बयान, BJP पर भी बोलीं

follow whatsapp

ADVERTISEMENT