लखीमपुर खीरी: प्रियंका गांधी के रास्ते में लगे होर्डिंग- ‘नहीं चाहिए फर्जी सहानुभूति’

ADVERTISEMENT

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने लखीमपुर खीरी हिंसा में मारे गए किसानों की अंतिम अरदास में पहुंचकर 12 अक्टूबर को श्रद्धांजलि व्यक्त की. इस बीच…
social share
google news

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने लखीमपुर खीरी हिंसा में मारे गए किसानों की अंतिम अरदास में पहुंचकर 12 अक्टूबर को श्रद्धांजलि व्यक्त की. इस बीच प्रियंका के रास्ते में 1984 के दंगों की याद दिलाते हुए कई होर्डिंग दिखे, जिनमें कहा गया कि ‘नहीं चाहिए फर्जी सहानुभूति.’

ऐसा ही एक होर्डिंग अल्पसंख्यक आयोग के सदस्य सरदार परविंदर सिंह के नाम से दिखा. जिस पर लिखा गया, ”खून से भरा है दामन तुम्हारा, तुम क्या दोगे साथ हमारा, नहीं चाहिए साथ तुम्हारा”

ADVERTISEMENT

यह भी पढ़ें...

ADVERTISEMENT

परविंदर सिंह ने आरोप लगाया कि अपनी राजनीति के लिए प्रियंका गांधी लखीमपुर पहुंचकर माहौल खराब कर रही हैं. उन्होंने कहा कि 1984 में सिखों पर अत्याचार करने वाली कांग्रेस कैसे सिख किसानों की हितैषी हो सकती है, केवल राजनीति करना प्रियंका का उद्देश्य है.

सिंह ने कहा कि हमें प्रियंका की फर्जी सहानुभूति नहीं चाहिए और इस मामले में सरकार की कार्रवाई चल रही है.

वहीं, गुरु नानक वाटिका कमेटी के अध्यक्ष सरदार रविंद्र पाल सिंह के नाम से लगे होर्डिंग में लिखा गया है, ”जिन लोगों ने 1984 का कत्लेआम किया, उनका साथ नहीं चाहिए. हम न्याय की लड़ाई लड़ रहे हैं. दंगाइयों का साथ नहीं चाहिए.”

ADVERTISEMENT

इस मामले पर रविंद्र पाल सिंह ने कहा कि जिस पार्टी के हाथ सिखों के खून से रंगे हैं, वो इंसाफ क्या दिलाएगी. उन्होंने कहा कि प्रियंका गांधी की पार्टी लखीमपुर में आकर अपनी राजनीतिक रोटियां सेकने का काम कर रही है और समाज को बांट रही है.

रविंद्र पाल ने कहा कि साढे़ 4 साल से कांग्रेस ने कभी नहीं पूछा, अब चुनाव में मौका तलाशने प्रियंका लखीमपुर आई हैं.

इस अलावा ये होर्डिंग भी नजर आए:

बीजेपी-कांग्रेस में वार-पलटवार

इस मामले पर बीजेपी नेता समीर सिंह ने कहा कि प्रियंका राजनीतिक द्वेष की भावना से लखीमपुर में माहौल खराब करना चाहती हैं, इसीलिए बार-बार आती हैं. उन्होंने कहा कि सरकार ने 3 कमेटियां बनाकर जांच बिठा दी है और कार्रवाई तेजी से चल रही है, ऐसे में विपक्ष लखीमपुर में माहौल खराब करने की कवायद में है.

इस आरोप पर कांग्रेस नेता सुरेंद्र राजपूत ने कहा कि प्रियंका गांधी मानवीय संवेदना में राजनीति नहीं करती हैं, वह पहले भी लखीमपुर पहुंची थीं और आज फिर अंतिम अरदास के लिए तिकुनिया में हैं, बीजेपी हर चीज में राजनीति देखती और करती है.

Exclusive: प्रियंका गांधी के एक्टिव होने से क्या SP को होगा नुकसान? अखिलेश ने दिया ये जवाब

    follow whatsapp

    ADVERTISEMENT