जुमे की नमाज के बाद यूपी के कई जिलों में हिंसा भड़क गई थी.
जुमे की नमाज के बाद यूपी के कई जिलों में हिंसा भड़क गई थी. |फाइल फोटो: यूपी तक
अपना यूपी

UP: पैगंबर पर टिप्पणी के विरोध में भड़की हिंसा के सिलसिले में अब तक 415 लोग अरेस्ट

यूपी तक

उत्तर प्रदेश पुलिस ने पैगंबर मोहम्मद पर भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के दो पूर्व पदाधिकारियों की कथित आपत्तिजनक टिप्पणियों के खिलाफ प्रदर्शनों के दौरान हुई हिंसा के सिलसिले में अब तक कुल 20 प्राथमिकियां दर्ज की हैं और 415 आरोपियों को गिरफ्तार किया है.

पैगंबर मोहम्मद पर टिप्पणी के विरोध में सबसे पहले उत्तर प्रदेश के कानपुर जिले में तीन जून को जुमे की नमाज के बाद प्रदर्शन की शुरुआत हुई थी और इसके बाद अगले हफ़्ते 10 जून को जुमे की नमाज के बाद राज्‍य के नौ जिलों में प्रदर्शन के मामले सामने आए.
अहम बिंदु

अपर पुलिस महानिदेशक (एडीजी) (कानून-व्यवस्था) प्रशांत कुमार ने रविवार को बताया कि तीन जून और 10 जून को हुई हिंसा के सिलसिले में अब तक 10 जिलों में 20 प्राथमिकियां दर्ज कर कुल 415 आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है.

कुमार ने बताया कि कानपुर पुलिस आयुक्तालय और सहारनपुर में तीन-तीन तथा प्रयागराज में सात प्राथमिकियां दर्ज की गई हैं, जबकि फिरोजाबाद, अलीगढ़, हाथरस, मुरादाबाद, आम्बेडकरनगर, खीरी और जालौन जिलों में एक-एक प्राथमिकी दर्ज की गई है.

एडीजी ने जिलेवार गिरफ्तारी का ब्यौरा देते हुए बताया कि कानपुर में 58, फिरोजाबाद में 20, अलीगढ़ में छह, हाथरस में 35, मुरादाबाद में 40, आम्बेडकरनगर में 41, खीरी में आठ, जालौन में पांच, सहारनपुर में 85 और प्रयागराज में 97 आरोपियों को गिरफ्तार किया जा चुका है.

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने हिंसा की इन घटनाओं का संज्ञान लेकर पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों को निर्देश दिया था कि उपद्रवियों के खिलाफ कार्रवाई जारी रखी जाए.

( भाषा के इनपुट्स के साथ)

UPTak - UP News in Hindi (यूपी हिन्दी न्यूज़)
www.uptak.in