window.googletag = window.googletag || { cmd: [] }; let pathArray = window.location.pathname.split('/'); function getCookieData(name) { var nameEQ = name + '='; var ca = document.cookie.split(';'); for (var i = 0; i < ca.length; i++) { var c = ca[i]; while (c.charAt(0) == ' ') c = c.substring(1, c.length); if (c.indexOf(nameEQ) == 0) return c.substring(nameEQ.length, c.length); } return null; } googletag.cmd.push(function() { if (window.screen.width >= 900) { googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_ATF_728x90', [728, 90], 'div-gpt-ad-1702014298509-0').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_ATF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1702014298509-1').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_MTF_728x90', [728, 90], 'div-gpt-ad-1702014298509-2').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_MTF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1702014298509-3').addService(googletag.pubads()); } else { googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_ATF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-0').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-1_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-2').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-2_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-3').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-3_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-4').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_BTF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-5').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_Bottom_320x50', [320, 50], 'div-gpt-ad-1659075693691-6').addService(googletag.pubads()); } googletag.pubads().enableSingleRequest(); googletag.enableServices(); if (window.screen.width >= 900) { googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-0'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-1'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-2'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-3'); } else { googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-0'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-2'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-3'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-4'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-5'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-6'); } });

कैप्टन बेटे अंशुमान की शहादत को याद कर पिता ने गिनाईं अग्निवीर स्कीम की कमियां, ये सब कहा

समर्थ श्रीवास्तव

ADVERTISEMENT

Captain Anshuman Singh
Captain Anshuman Singh
social share
google news

Captain Anshuman Singh Father : शहीद कैप्टन अंशुमान सिंह के बहादुरी की इस समय पूरे देश में चर्चा है. देवरिया के शहीद कैप्टन अंशुमान सिंह को उनकी वीरता और शहादत के लिए कुछ दिनों पहले राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने मरणोपरांत कीर्ति चक्र से सम्मानित किया था. वहीं  कैप्टन अंशुमान सिंह की मां मंजू सिंह ने मंगलवार को रायबरेली सांसद और नेता प्रतिपक्ष राहुल गांधी से मुलाकात के बाद मीडिया से बात करते हुए अग्निवीर योजना को लेकर बड़ी बात कही. मां मंजू सिंह ने कहा कि दो तरह की फौज नहीं होनी चाहिए. इस पर चर्चा होनी चाहिए. वहीं अब अंशुमान सिंह ने पिता ने यूपी तक से बात करते हुए बड़ा बयान दिया. 

शहीद अंशुमन सिंह के पिता ने अब कर दी बड़ी मांग

लखनऊ में शहीद कैप्टन अंशुमन सिंह के पिता रवि प्रताप सिंह ने यूपी तक से बात करते हुए कहा कि, 'अंशुमन काफी बहादुर था, उसकी शहादत वाले दिन भी मेरी उससे बात हुई थी. वो काफी  खुश था.' शहीद के पिता ने आगे बताया कि, 'वह 3 साल में ही शहीद हो गया. कम से कम उसे शहीद का दर्जा तो मिला. पत्नी को आजीवन पेंशन मिलेगी लेकिन जो नए लड़के अग्निवीर के जरिए जाएंगे उन्हें शायद यह सब नहीं मिलेगा, सरकार को इसके बारे में सोचना चाहिए और कुछ बदलाव करने चाहिए.

मां ने भी की थी ये मांग

बता दें कि इससे पहले रायबरेली में कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने वीरगति को प्राप्त हुए कैप्टन अंशुमान सिंह के पिता रवि प्रताप सिंह और उनकी मां मंजू सिंह से मुलाकात की. राहुल गांधी से मुलाकात के बाद शहीद कैप्टन की मां मंजू सिंह ने कहा, "अग्निवीर योजना गलत है. इसे बंद किया जाना चाहिए." मंजू सिंह की बात पर लोकसभा में नेता प्रतिपक्ष राहुल गांधी ने कहा, "आप फिक्र मत कीजिए, हम यह लड़ाई लड़ते रहेंगे."

यह भी पढ़ें...

ADVERTISEMENT

बता दें कि हाल ही में राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने कैप्टन अंशुमान सिंह को मरणोपरांत कीर्ति चक्र से सम्मानित किया है. उन्होंने अपने शौर्य का परिचय देते हुए भयावह आग की लपटों के बीच कई लोगों को बचाकर अपना अदम्य साहस दिखाया था.

    follow whatsapp

    ADVERTISEMENT