CCTV में कैद हुई गोल्ड लोन कंपनी के मैनेजर और कर्मी की गुंडई! इस बात को लेकर हुआ था विवाद

वाराणसी (Varanasi News) में दबंगों के हौसले इस कदर बुलंद हो चुके हैं कि वह मामूली विवाद पर भी तोड़फोड़ और हमले जैसी घटनाओं को अंजाम देने से बाज नहीं आ रहे हैं. शहर के चितईपुर थाना क्षेत्र के सुंदरपुर इलाके में कुछ ऐसा ही हुआ जब एक पड़ोसी ने बगल के गोल्ड लोन फाइनेंस कंपनी के लोगों से उनके दरवाजे से खड़ी गाड़ियों को हटा लेने की दरख्वास्त की. फिर क्या था, यह बात कंपनी के एक कर्मचारी को इतनी नागवार गुजरी की पहले तो उसने जमकर पड़ोसी से विवाद किया. फिर कंपनी के मैनेजर सहित कुल 7 लोग पड़ोसी के घर में घुसकर जबरदस्त तरीके से तोड़फोड़ कर देते हैं और यह सारा वाक्या सीसीटीवी में कैद हो जाता है.

दरअसल, 6 सितंबर की शाम लगभग 7 बजे वाराणसी के चितईपुर थाना क्षेत्र के सुंदरपुर इलाके में एक गोल्ड लोन फाइनेंस कंपनी के पड़ोस में रहने वाले बृजेश कुमार सिंह नाम के व्यक्ति को इस बात पर आपत्ति होती है कि फाइनेंस कंपनी में काम से आने वाले लोग उनके दरवाजे पर गाड़ी खड़ा कर दिया करते हैं.

इसकी शिकायत जब वह करते हैं तो मौके पर मौजूद कंपनी के एक कर्मचारी अमन सिंह ने उनकी गाड़ी को धक्का मार दिया. कर्मचारी की इस हरकत की शिकायत जब पड़ोसी बृजेश बगल में कंपनी के ऑफिस करने पहुंचते हैं तो वहां पर सुनवाई नहीं होती है.

इतना ही नहीं कुछ समय बीतने के बाद पड़ोसी बृजेश सिंह के सैलून में घुसकर कर्मचारी को पीटने लगते हैं और उनके न मिलने पर उनके घर पर आधा दर्जन से ज्यादा हमलावर गोल्ड लोन फाइनेंस कंपनी के शाखा प्रबंधक अभितेष चौबे की अगुवाई में धावा बोल देते हैं और वहां जमकर तोड़फोड़ और उत्पात करते हैं.

पुलिस को मिली शिकायत और सीसीटीवी फुटेज के आधार पर पुलिस ने बैंक मैनेजर को तो पकड़ लिया था, लेकिन हल्की धाराओं के चलते बैंक मैनेजर को जमानत मिल गई. वहीं कंपनी कर्मी अमन सिंह अभी भी पुलिस की पकड़ से बाहर है.

इस खबर की शुरुआत में टॉप में शेयर किए गए Varanasi Tak के वीडियो पर क्लिक कर पूरा मामला देखें.

CCTV में कैद हुई गोल्ड लोन कंपनी के मैनेजर और कर्मी की गुंडई! इस बात को लेकर हुआ था विवाद
वाराणसी: ज्ञानवापी फैसले से निराश मुस्लिम पक्ष, कानून के दायरे में देगा एक्शन का रिएक्शन

संबंधित खबरें

No stories found.
UPTak - UP News in Hindi (यूपी हिन्दी न्यूज़)
www.uptak.in