UP:मीडिया टीम की मजबूती के लिए BJP ने बनाया प्लान, सिखाए जाएंगे विपक्ष को जवाब देने के गुर

ADVERTISEMENT

UPTAK
social share
google news

उत्तर प्रदेश में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) ने अपनी मीडिया टीम को जिला स्तर तक मजबूत करने की दिशा में कदम उठाने की योजना बनाई है.

दरअसल, अक्सर देखने को मिलता है कि चुनाव के समय जिलों में नेता और कार्यकर्ता मीडिया के सामने जो बयानबाजी करते हैं, उससे कई बार पार्टी को नुकसान हो जाता है. इसके अलावा कई बार पार्टी के जिला स्तर के कार्यक्रम भी प्रमुखता से मीडिया में नहीं आ पाते. इसी को देखते हुए बीजेपी ने मीडिया को लेकर एक्शन प्लान तैयार किया है.

क्या है बीजेपी का एक्शन प्लान?

बीजेपी ने पहली बार मंडल स्तर तक मीडिया प्रभारियों की नियुक्ति की है. साथ ही इस बात का विस्तृत खाका भी तैयार किया है कि विधानसभा चुनाव में प्रदेश स्तर से लेकर जिलों और कस्बों तक में पार्टी और सरकार की वो बातें पहुंचे, जिनको बीजेपी लोगों को बताना चाहती है. पार्टी इसके लिए ‘प्रबंधन और प्रशिक्षण’ के जरिए जमीन तैयार कर रही है.

यह भी पढ़ें...

ADVERTISEMENT

बीजेपी सभी 1918 संगठनात्मक मंडलों में वर्कशॉप का आयोजन कर रही है जो 7 अक्टूबर तक चलेंगे. बीजेपी के प्रवक्ता, पैनलिस्ट, प्रदेश मीडिया प्रभारी, सह-प्रभारी सभी संगठनात्मक जिलों में प्रवास कर मीडिया टीम के साथ बैठक करेंगे. खास बात यह है कि चुनाव को ध्यान में रखते हुए उनको ट्रेनिंग दी जाएगी.

यूपी बीजेपी के मीडिया विभाग के सभी पदाधिकारियों को 5-6 जिले दिए गए हैं. इस पूरे कार्यक्रम की रूपरेखा यूपी बीजेपी के चाणक्य माने जाने वाले संगठन महामंत्री सुनील बंसल के नेतृत्व में तैयार की गई है. प्रदेश सह मीडिया प्रभारी हिमांशु दुबे का कहना है, ”ये पहली बार हो रहा है. जिलों में तो मीडिया प्रभारी थे पर मंडलों में पहली बार ये ढांचा बना है. किस तरह से वो जिला और प्रदेश टीम से साथ समन्वय करें, ये बताया जाएगा. साथ ही मंडल के कार्यक्रमों और अभियानों की कवरेज ठीक से हो इसके लिए भी उनका प्रशिक्षण जरूरी है.” हिमांशु दुबे मानते हैं कि न्यू मीडिया में कई नए प्लेटफॉर्म्स भी हैं, उनकी भी जानकारी जरूरी है.

ट्रेनिंग वर्कशॉप में क्या होगा?

मंडलों के आयोजित वर्कशॉप में जिले में मीडिया का काम संभालने वाले कार्यकर्ताओं को प्रशिक्षित किया जाएगा. इसमें सरकार के फैसलों को मजबूत तरीके से मीडिया में रखने और विपक्ष के आरोपों का जवाब देने के गुर सिखाए जाएंगे. मीडिया कार्यशाला में प्रदेश के प्रवक्ता और नेता यह भी बताएंगे कि कैसे खुद को मीडिया में पेश करें. साथ ही किस तरह से मीडिया के सवालों का जवाब दें.

ADVERTISEMENT

ट्रेनिंग में प्रेस रिलीज तैयार करना भी बताया जाएगा. इसके अलावा एक बड़ा मुद्दा फेक न्यूज का है जिसे किस तरह खारिज करें, यह बात भी प्रशिक्षण का हिस्सा होगी.

यूपी बीजेपी के सह मीडिया प्रभारी अभय प्रताप सिंह कहते हैं, ”जिलों और मंडलों में भी कई ऐसे कार्यकर्ता हैं जो अच्छा बोल सकते हैं, अच्छा लिख सकते हैं. उनको ट्रेनिंग देकर पार्टी ऐसे प्रवक्ता और सदस्य तैयार कर रही है जो विधानसभा चुनाव में मंडल स्तर और जिला स्तर पर पार्टी के कार्यक्रमों और अभियानों की कवरेज में अहम भूमिका निभा सकते हैं. उनको इस कार्यशाला के माध्यम से आगे के लिए तैयार किया जा रहा है.”

ADVERTISEMENT

यूपी विधानसभा चुनाव से पहले बीजेपी जिला स्तर से लेकर बूथ स्तर पर 100 से ज्यादा कार्यक्रम और अभियान चला रही है. पार्टी का मकसद मीडिया के जरिए इन कार्यक्रमों को लोगों तक पहुंचाना भी है.

इससे पहले यूपी बीजेपी की प्रदेश स्तर की कार्यशाला 13 सितंबर को लखनऊ में हुई थी, जिसमें मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह, दोनों डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य और दिनेश शर्मा, संगठन महामंत्री सुनील बंसल, केंद्रीय मीडिया टीम से जुड़े राष्ट्रीय मीडिया प्रभारी अनिल बलूनी, सह-मीडिया प्रमुख संजय मयूख, राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा और जफर इस्लाम भी शामिल हुए थे.

UP चुनाव: भागीदारी मोर्चा BJP के खिलाफ ‘महागठबंधन’ या SP पर दबाव की रणनीति?

    follow whatsapp

    ADVERTISEMENT