राजा भैया ने फोन पर कुछ ऐसा कहा कि खुश हो गए अखिलेश! जानिए दोनों नेताओं के बीच क्या बातचीत हुई

यूपी तक

ADVERTISEMENT

आगामी लोकसभा चुनाव में अब कम ही वक्त बचा है. ऐसे में चुनाव नजदीक आने के साथ ही उत्तर प्रदेश में राजनीतिक सरगर्मियां ते हो गई हैं...

social share
google news

Raja Bhaiya & Akhilesh Yadav News: आगामी लोकसभा चुनाव में अब कम ही वक्त बचा है. ऐसे में चुनाव नजदीक आने के साथ ही उत्तर प्रदेश में राजनीतिक सरगर्मियां ते हो गई हैं. मंगलवार को एक तरफ कांग्रेस और सपा की जोड़ी टूटने की खबर सामने आई. वहीं, दूसरी तरफ एक नए गठबंधन को लेकर चौंकाने वाली जानकारी भी मिली. खबर है कि यूपी में एक नया गठबंधन बनाने की तैयारी हो रही है. चर्चा है कि ये गठबंधन समाजवादी पार्टी और राजा भैया की जनसत्ता दल (लोकतांत्रिक) पार्टी के बीच हो सकता है. 
 

बता दें कि समाजवादी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम पटेल राजा भैया से मिलने उनके आवास पहुंचे थे. इस दौरान दोनों के बीच मिलकर लोकसभा चुनाव लड़ने को लेकर बातचीत हुई थी. बताया जा रहा है कि इसी दौरान नरेश उत्तम ने राजा भैया की अखिलेश यादव से फोन पर बात कराई थी. सूत्रों के अनुसार राजा भैया ने कहा, "मैंने 28 सालों में 20 साल समाजवादी पार्टी को दिए हैं. मेरे लिए समाजवादी पार्टी पहले है. मेरे लिए यह कोई राजनीतिक पार्टी नहीं है." हालांकि, अभी इस पर किसी तरह की कोई प्रतिक्रिया सामने नहीं आई है.

 

 

2019 में बढ़ी थी दूरियां

राजा भैया और अखिलेश यादव के बीच की दूरी 2019 के लोकसभा चुनाव से शुरू हुई थी. जब सपा ने बसपा से गठबंधन कर लिया था. तभी से दोनों नेताओं के रिश्तों में खटास आ गई थी. तभी हुए राज्यसभा के चुनाव में अखिलेश चाहते थे कि राजा बसपा कैंडिडेट को वोट करे, लेकिन राजा भैया ने बगावत करके बीजेपी उम्मीदवार को वोट कर दिया. इसके बाद से राजा भैया और अखिलेश यादव के बीच दूरियां बढ़ गई थी. वहीं 2022 यूपी विधानसभा चुनाव में सपा ने राजा भइया के करीबी रहे गुलशन यादव को कुंडा से टिकट देकर राजा के खिलाफ उम्मीदवार उतार दिया. इस चुनाव में दोनों नेताओं ने एक दूसरे पर खूब तीखे जुबानी हमले भी किए.

ADVERTISEMENT

यह भी पढ़ें...

ADVERTISEMENT

    Main news
    follow whatsapp

    ADVERTISEMENT