लखनऊ: चचेरे भाई ने 4 साल के मासूम को गला दबा गंगा में बहाया? फिर सुनाई बदले की ये कहानी

लखनऊ: चचेरे भाई ने 4 साल के मासूम को गला दबा गंगा में बहाया? फिर सुनाई बदले की ये कहानी
तस्वीर: सत्यम मिश्रा, यूपी तक.

Lucknow crime news: लखनऊ में रिश्तों के बीच कत्ल की एक हैरतअंगेज घटना सामने आई है. चिनहट के एक युवक पर अपने चार साल के मासूम चचेरे भाई की हत्या का आरोप लगा है. युवक ने पुलिस को बताया है कि उसने भाई को पहले गला दबाकर मारा और फिर शव को छिपाने के लिए उसे गंगा में बहा दिया. पुलिस ने फिलहाल आरोपी युवक को गिरफ्तार कर लिया है. बच्चे की बॉडी को कानपुर से लेकर हरिद्वार तक खोजा जा रहा है.

अहम बिंदु

Lucknow news: जानकारी के मुताबिक लखनऊ के थाना चिनहट के रहने वाले धर्मेंद्र पांडे मार्केटिंग इंस्पेक्टर हैं. वह सनातन कॉलोनी में अपनी पत्नी और बेटे के साथ रहते हैं. आरोपी युवक उनका भतीज अमित भी साथ में रहता है. घटना के दिन धर्मेंद्र पांडे का बेटा राम अपने चचेरे भाई अमित के साथ बाजार गया था. दोनों काफी देर तक नहीं लौटे. इस बीच आरोपी युवक अमित का भी मोबाइल बंद हो गया. परिजनों ने पुलिस को सूचना दी और गुमशुदगी की रिपोर्ट लिखाई.

लखनऊ: चचेरे भाई ने 4 साल के मासूम को गला दबा गंगा में बहाया? फिर सुनाई बदले की ये कहानी
लखनऊ: स्कूल के पास से किडनैप कर किया गया रेप! खिड़की से कूद थाने पहुंची 9वीं की छात्रा

हालांकि अगले दिन अमित घर वापस लौट आया और उसने बेटे राम के कहीं गुम हो जाने की बात कही. हालांकि जब पुलिस को शक हुआ तो अमित से कड़ाई से पूछताछ की गई. पुलिस का दावा है कि पूछताछ के दौरान आरोपी युवक ने अपना गुनाह कबूल कर लिया. हालांकि वह अपना बयान बार-बार बदलता रहा. कभी कहता कि बच्चे को मारकर गंगा में फेंक दिया हूं तो कभी कहता कि हरिद्वार छोड़ आया हूं. फिलहाल पुलिस लखनऊ से लेकर कानपुर, हरिद्वार तक बच्चे के शरीरकी तलाश कर रही है.

चचेर भाई को कोई अफसोस नहीं!

आरोपी अमित ने पुलिस को पूछताछ में बताया है कि उसने अपना बदला ले लिया है और उसे कोई अफसोस नहीं है. अमित ने बताया कि उसके पिता चार भाई हैं और जॉइंट फैमिली है. सारी जिम्मेदारी उसके पिता पर है और उसकी तीन बहनें हैं, जिनकी शादी की उम्र हो गई है. उसने पुलिस को बताया कि उसके पिता को और चाचा और ताऊ ने नौकरी नहीं करने दी. दोनों ने वादा किया कि तुम्हारे लड़के की पढ़ाई और लड़कियों की शादी हम लोग करा देंगे. मगर दोनों अपनी बात से मुकर गए.

इस बात से अमित नाराज था क्योंकि उसकी बहन की शादी नहीं हो पाई थी. कोचिंग की फीस भरने के लिए उसने चाचा धीरेंद्र पांडे से ₹50000 मांगे तो उसे नहीं मिले. इसके बाद उसने बदला लेने का फैसला लिया. इसके बाद वह चाची के मना करने के बावजूद बच्चे को लेकर घर से निकला.

ऐसे अंजाम दी गई वारदात

पहले वह बाइक सवार से लिफ्ट लेकर कुछ दूर कंचा तिराहे पर गया. फिर वहां से ट्रांसपोर्ट नगर पहुंचा. प्राइवेट बस पकड़कर कानपुर गंगा नदी के किनारे उतर गया. गंगा को क्रॉस कर उन्नाव की तरफ आया. अमित ने बताया कि जब सड़क सुनसान हो गई तो उसने गंगा के पुल पर ले जाकर गला दबा राम को मार डाला. फिर शव को छिपाने के लिए गंगा नदी में फेंक आया.

पुलिस ने कुछ सीसीटीवी फुटेज के आधार पर आरोपी अमित को पकड़ने में कामयाबी हासिल की. पुलिस के अधिकारियों का कहना है कि फिलहाल बच्चे की तलाश की जा रही है.

लखनऊ: चचेरे भाई ने 4 साल के मासूम को गला दबा गंगा में बहाया? फिर सुनाई बदले की ये कहानी
लखनऊ से ₹400 में खरीदते थे नशीली दवा अमेरिका में 400 डॉलर में बेचते थे, डार्क वेब था जरिया

संबंधित खबरें

No stories found.
UPTak - UP News in Hindi (यूपी हिन्दी न्यूज़)
www.uptak.in