‘धर्मांतरण का पाठ’: वायरल वीडियो से चर्चा में आए IAS अफसर इफ्तिखारुद्दीन हैं कौन?

ADVERTISEMENT

उत्तर प्रदेश में IAS अफसर इफ्तिखारुद्दीन का एक विवादित वीडियो सामने आया है. इस वीडियो में वह मुस्लिम समाज के कुछ लोगों के साथ बैठे…
social share
google news

उत्तर प्रदेश में IAS अफसर इफ्तिखारुद्दीन का एक विवादित वीडियो सामने आया है. इस वीडियो में वह मुस्लिम समाज के कुछ लोगों के साथ बैठे दिख रहे हैं और इस दौरान कथित तौर पर धर्म परिवर्तन को लेकर तकरीर की जा रही है.

एक सीनियर आईएएस अफसर का इस तरह का वीडियो सामने आने के बाद हड़कंप मचा हुआ है. उत्तर प्रदेश सरकार ने इस मामले को गंभीरता से लेते हुए जांच के लिए एसआईटी गठित कर दी है.

मगर इस बीच सवाल उठ रहा है कि यह सीनियर आईएएस अफसर इफ्तिखारुद्दीन आखिर हैं कौन? आइए हम आपको बताते हैं.

आईएएस अफसर इफ्तिखारुद्दीन मौजूदा वक्त में उत्तर प्रदेश राज्य परिवहन निगम में चेयरमैन के पद पर तैनात हैं. मूलरूप से बिहार के सिवान जिले के रहने वाले इफ्तिखारुद्दीन का चयन 26 अगस्त 1885 को आईएएस में हुआ था. 7 अगस्त 1989 को इनको सीनियर स्केल मिला.

ADVERTISEMENT

यह भी पढ़ें...

ADVERTISEMENT

उत्तर प्रदेश राज्य परिवहन निगम के चेयरमैन पद पर इनकी तैनाती पिछले साल 14 फरवरी को की गई थी. इससे पहले इफ्तिखारुद्दीन लगभग तीन दर्जन से ज्यादा महत्वपूर्ण पदों पर तैनात रह चुके हैं. उनकी सबसे पहली पोस्टिंग मसूरी देहरादून डेवलपमेंट अथॉरिटी के वाइस चेयरमैन के रूप में 1989 में हुई थी. इसके बाद 1990 में उनको मेडिकल हेल्थ एंड फैमिली वेलफेयर डिपार्टमेंट में जॉइंट सेक्रेटरी के पद पर तैनाती मिली. 1992 में वह एक्साइज डिपार्टमेंट में प्रयागराज में एडिशनल कमिश्नर भी रहे.

सन 1993 में यूपी स्टेट लेदर डेवलपमेंट एंड मार्केटिंग कॉरपोरेशन में इफ्तिखारुद्दीन को मैनेजिंग डायरेक्टर की जिम्मेदारी दी गई और उनकी पोस्टिंग आगरा में थी. 1993 में उनको इरीगेशन डिपार्टमेंट में जॉइंट सेक्रेटरी बनाया गया. बाद में उनको प्रमोट करके स्पेशल सेक्रेटरी बना दिया गया.

वह 1994 में सुल्तानपुर के डीएम भी रहे. 1995 में उनको टेक्निकल एजुकेशन डिपार्टमेंट में स्पेशल सेक्रेटरी की जिम्मेदारी दी गई, लेकिन कुछ ही दिनों बाद उनको बहराइच का डीएम बना दिया गया. इसके 5 महीने बाद उनको माइनॉरिटी वेलफेयर का डायरेक्टर नियुक्त कर दिया गया. 1996 में उनको उत्तर प्रदेश विजिलेंस विभाग में स्पेशल सेक्रेटरी बनाया गया, लेकिन कुछ ही दिनों बाद एक बार फिर उनको फर्रुखाबाद का डीएम नियुक्त कर दिया गया. बाद के दिनों में इफ्तिखारुद्दीन आजमगढ़ और सुल्तानपुर के कमिश्नर भी रहे.

ADVERTISEMENT

सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि जब 2007 में उनकी नियुक्ति कमिश्नर एंड डायरेक्टर इंडस्ट्रीज के रूप में कानपुर में हुई, इसके बाद वह लगातार कई सालों तक कानपुर में ही जमे रहे. इफ्तिखारुद्दीन 2007 से 2018 तक कानपुर में ही विभिन्न पदों पर तैनात रहे.

इसके बाद उनको लखनऊ में खेलकूद और आरईएस विभाग में एडिशनल चीफ सेक्रेटरी बनाया गया, जहां वह 14 फरवरी 2020 तक तैनात रहे. 14 फरवरी 2020 को उनको उत्तर प्रदेश राज्य परिवहन निगम का चेयरमैन बना दिया गया. तब से लेकर मौजूदा समय तक वह इसी पद पर तैनात हैं.

सीनियर IAS के सामने धर्मांतरण का पाठ? वीडियो वायरल हुआ, योगी सरकार ने जांच के लिए बनाई SIT

    follow whatsapp

    ADVERTISEMENT