काशी में क्या लोगों को घाटों के किनारे जाने से लगी रोक? Varanasi Tak पर समझिए मामले को

Varanasi News: पिछले कुछ दिनों से तेजी से बढ़ रहा वाराणसी में गंगा का जलस्तर अब चेतावनी बिंदु से लगभग आधा मीटर नीचे और खतरे के निशान से लगभग डेढ़ मीटर नीचे पहुंचकर स्थिर हो गया है. इससे तटीय इलाकों के लोगों ने राहत की सांस ली है. हालांकि अब तक बढ़ चुकी गंगा नदी और उसकी सहायक वरुणा नदी से काफी जनजीवन अस्त व्यस्त हुआ है. इसके चलते जिला प्रशासन ने घाट किनारे घूमने फिरने स्नान और नौकायान पर प्रतिबंध लगा दिया है.

जिलाधिकारी ने क्या बताया?

वाराणसी के जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा ने बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों का दौरा किया और बताया कि गंगा का जलस्तर चेतावनी बिंदु से आधा मीटर नीचे है और खतरे के निशान से लगभग डेढ़ मीटर नीचे है. दरअसल, कौशल राज शर्मा, एनडीआरएफ की टीम के साथ असि घाट से लेकर नमो घाट होते हुए वरुणा नदी के मुहाने तक बाढ़ की स्थिति का जायजा लेने पहुंचे था. इस दौरान नगर निगम, पीडब्ल्यूडी, सिंचाई विभाग, नागरिक आपूर्ति विभाग सहित आपदा राहत और अन्य संबंधित विभागों को अलर्ट जारी कर दिया गया है.

(पूरे मामले को विस्तार से जानने के लिए ऊपर दिए गए Varanasi Tak के लिंक पर क्लिक करें)

काशी में क्या लोगों को घाटों के किनारे जाने से लगी रोक? Varanasi Tak पर समझिए मामले को
काशी को जल्द मिलने वाला है 'सोवा रिग्पा' की सौगात, अब तिब्बती पद्धति से होगा उपचार

संबंधित खबरें

No stories found.
UPTak - UP News in Hindi (यूपी हिन्दी न्यूज़)
www.uptak.in