बांदा में पुलिसकर्मी ने खून देकर कराई महिला की डिलीवरी, ऐसे बचाई जान

ADVERTISEMENT

UPTAK
social share
google news

Banda News: यूपी पुलिस के तमाम किस्से आपने जरूर सुने होंगे, लेकिन हम आपको ऐसा किस्सा सुनाने जा रहे हैं जिसमें आप यूपी पुलिस की तारीफ जरूर करेंगे. बांदा में गर्भवती को ब्लड की जरूरत थी जैसे ही UP पुलिस के कांस्टेबल को सोशल मीडिया के माध्यम से मामले की जानकारी हुई तत्काल सब काम छोड़ ब्लड डोनेट करने पहुंच गए. जिससे उसकी जान बच सकी. यदि समय रहते महिला को ब्लड न मिलता तो हो सकता है कोई खतरा हो सकता था. जिसने भी पुलिस के जवान की इस काम को सुना बस तारीफ के अलावा कुछ नहीं कर रहा.

पुलिसकर्मी ने पेश की मानवता की मिसाल

वहीं महिला के परिजनों ने धन्यवाद देते हुए कहा कि ऐसी पुलिस कभी नहीं देखा, एसपी अभिनंदन ने ऐसे नेक कार्य के लिए अपने कांस्टेबल को प्रशस्ति पत्र देने की बात कही है. दरअसल चित्रकूट की रहने वाली एक गर्भवती महिला गुड़िया जिला अस्पताल बांदा में भर्ती थी. डिलीवरी का वक्त था, लेकिन शरीर मे खून की कमी थी. A+ ब्लड की जरूरत थी. डॉक्टर ब्लड का इंतज़ाम करने के लिए कह रहे थे. जिला अस्पताल में A+ ब्लड नहीं था. परिजनों व समाजसेवियों ने सोशल मीडिया में A+ ब्लड दान में देने लिए मैसेज डाला. जैसे ही व्हाट्सएप ग्रुप के माध्यम से कांस्टेबल मनीष कुमार को जानकारी हुई तुरंत सब काम छोड़कर ब्लड डोनेट करने पहुंच गए.

परिजन बोले ऐसे पुलिस वाला नहीं देखे

कांस्टेबल मनीष कुमार ने ब्लड डोनेट कर महिला की जान बचाई. जिसके बाद महिला की डिलीवरी हुई. बताते हैं जच्चा बच्चा दोनों पूरी तरह से स्वस्थ हैं. कांस्टेबल के इस कार्य के लिए चारों तरह तारीफ हो रही है. खुद उनके उच्च अधिकारी उसकी तारीफ कर मनोबल बढ़ा रहे हैं. कांस्टेबल बांदा पुलिस अधीक्षक कार्यालय में रिट सेल में तैनात है. एसपी अभिनंदन ने सिपाही मनीष कुमार के ऐसे कार्य के लिए उन्हें प्रशस्ति पत्र देने की बात कही है. एसपी का कहना है कि सिपाही ने आखिरी समय जब महिला की डिलीवरी होनी थी. तब अपना सब काम छोड़कर ब्लड डोनेट किया है, जिस कारण महिला की डिलीवरी हुई. अब वो पूरी तरह से स्वस्थ हैं. हम सभी को ऐसे नेक कार्य करते रहना चाहिए.

यह भी पढ़ें...

ADVERTISEMENT

    Main news
    follow whatsapp

    ADVERTISEMENT