UP के कई जिलों में बुखार का कहर, फिरोजाबाद में हाल बुरा, पत्थर की बेंचों पर हो रहा इलाज

ADVERTISEMENT

UPTAK
social share
google news

उत्तर प्रदेश के फिरोजाबाद, कानपुर, कासगंज और फर्रुखाबाद समेत कई जिलों में बुखार का कहर जारी है. इनमें सबसे ज्यादा चिंताजनक स्थिति फिरोजाबाद में है, जहां बड़ी संख्या में बुखार से पीड़ित मरीजों की मौतें हुई हैं.

1 सितंबर को डॉक्टर एके सिंह (अपर निदेशक चिकित्सा और स्वास्थ्य सेवाएं आगरा मंडल) ने बताया कि फिरोजाबाद में अभी तक मरने वालों की संख्या 41 है, जिसमें 36 बच्चे हैं और 5 व्यस्क हैं. उन्होंने बताया कि ज्यादातर में डेंगू के लक्षण पाए गए हैं, हालांकि और एडवांस जांच के लिए नमूने लैब में भेजे गए हैं. इससे पहले फिरोजाबाद के स्थानीय सदर विधायक मनीष असीजा मौत का आंकड़ा 50 से ज्यादा बता चुके हैं.

फिरोजाबाद में राजकीय मेडिकल कॉलेज का सौ सैय्या अस्पताल इन दिनों बीमार बच्चों से पूरी तरह भरा हुआ है. बीमार बच्चों की संख्या लगातार बढ़ने से उनको बेड तक नहीं मिल पा रहे हैं. हालात ऐसे हो गए हैं कि बहुत से बच्चों का इलाज पत्थर की बेंचों पर लिटाकर किया जा रहा है और वहीं उनको ड्रिप लगाई जा रही हैं.

यह भी पढ़ें...

ADVERTISEMENT

बता दें कि 30 अगस्त को यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने राजकीय मेडिकल कॉलेज का दौरा किया था. इस दौरान उन्होंने मरीजों से मिलकर उनका हाल-चाल जाना और अधिकारियों को बेहतर मेडिकल सुविधाएं उपलब्ध कराने के निर्देश भी दिए थे. मगर इसके बाद भी अस्पताल की व्यवस्थाएं ठीक नहीं हो पाई हैं.

बेडों की कमी से जूझ रहे सौ सैय्या में अब बच्चों को भर्ती करने के बीच जुगाड़ से भी बेड बनाए जा रहे हैं. जैसे दो बेंचों को सटाकर उनके ऊपर चादर बिठाकर बच्चों को इलाज दिया जा रहा है.

मेडिकल कॉलेज की प्रधानाचार्य संगीता अनेजा ने बताया है कि 11 डॉक्टरों को बाहर से बुलाया गया है. ये डॉक्टर आगरा, इटावा, सैफई और कानपुर से आए हैं. इनकी वॉर्डों में अतिरिक्त ड्यूटी लगाई गई है ताकि किसी भी तरह से इस बीमारी पर नियंत्रण पाया जा सके.

ADVERTISEMENT

कानपुर: एक ही परिवार के दो बच्चों की मौत

कानपुर में भी बुखार का कहर देखने को मिल रहा है. बुखार से बिल्हौर इलाके में एक ही परिवार के दो बच्चों – अरहाम और फरहान – की मौत हो चुकी है. आलम यह है कि मेडिकल कॉलेज का बाल रोग विभाग पूरी तरह बुखार पीड़ित बच्चों से भर गया है. डॉक्टर किसी तरह एक बेड पर दो बच्चों को लिटाकर इलाज कर रहे हैं. इस बीच बच्चों के परिजनों को समझ नहीं आ रहा है कि यह कैसा बुखार है.

बाल रोग विभाग के हेड डॉक्टर यशवंत राव का कहना है कि बच्चों में कई तरह के लक्षण देखे जा रहे हैं – कुछ में लाल चक्कते पड़ रहे हैं, कुछ को खासी आ रही है, उल्टियां और दस्त भी हो रहे हैं.

ADVERTISEMENT

कासगंज में तेज बुखार से तीन मौतें

यूपी के कासगंज में तेज बुखार से तीन लोगों की मौत हो चुकी है. यहां के पटियाली कस्बे में दो लोगों की मौत हुई है, वहीं एक मौत भरगैन में हुई है.

पटियाली में 21 वर्षीय आसिफ को गुरुवार को तेज बुखार आया था, जिसके बाद उसे निजी चिकित्सक के यहां ले जाया गया था. चिकित्सक ने जब उसे बाहर ले जाने की सलाह दी, तो आसिफ को फर्रुखाबाद ले जाया गया. वहां भी चिकित्सकों ने उसे बेहतर अस्पताल ले जाने को बोला. जिसके बाद अलीगढ़ लाए गए आसिफ की शनिवार सुबह मौत हो गई.

वहीं पड़ोस की 30 वर्षीय सितारा को शुक्रवार को बुखार आया था. सितारा का कस्बा में ही निजी चिकित्सक के यहां इलाजा कराया गया, शनिवार की सुबह सितारा की भी मौत हो गई.

तीसरी घटना कस्बा भरगैन की है जहां मोहल्ला बीच थोक की रहने वाली 40 वर्षीय गुड़िया पत्नी मुस्तफा खान की बुखार के चलते शुक्रवार को मौत हो गई थी. ऐसे में बुखार का कहर देखकर क्षेत्रभर में दहशत का माहौल है.

फर्रुखाबाद: गांवों में बुखार से सैकड़ों लोग बीमार

फर्रुखाबाद जिले के कई गांवों में भी बुखार से सैकड़ों लोग बीमार पड़े हैं. यहां के जरारी गांव में दो दिन में तीन मौतें भी हो चुकी हैं. हालांकि स्वास्थ्य विभाग ने गांव में हुई मौतों को बुखार से न होकर स्वाभाविक मौतें बताया है.

जरारी और नगला दाऊद गांव के लोगों ने बताया कि बुखार से गांव के सैकड़ों लोग बीमार हैं, बुखार में उल्टी आ रही है. गांव में चारों तरफ गंदगी फैली हुई है.

अखिलेश यादव बोले- ”नींद से जागे सरकार”

समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष और उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने इस मामले पर कहा है, ”प्रचार में लीन बीजेपी सरकार नींद से जागे, लखनऊ और प्रदेश के शहरों, बस्तियों, गांवों में फैल रहे खतरनाक जानलेवा बुखार से प्रभावित होने वाले बच्चों और बड़ों के लिए स्तरीय चिकित्सा व्यवस्था सुनिश्चित करे.” अखिलेश ने कहा है कि वायरल फीवर से यूपी के बाल-बच्चों वाले परिवार बेहद चिंतित और भयभीत हैं.

(सुधीर शर्मा और आर्येंद्र सिंह के इनपुट्स के साथ)

फिरोजाबाद में बुखार का कहर जारी, योगी सरकार ने CMO को हटाया

    follow whatsapp

    ADVERTISEMENT