Viral: क्या यूपी में IAS अधिकारी ने सच में बेची सब्जी? जानिए पूरा मामला

ADVERTISEMENT

भईया नमस्ते मैं गौरव कुमार पांडेय. हाजिर हूं सोशल मीडिया पर वायरल खबरों के शो के साथ जिसका नाम है आज क्या है वायरल. बीजेपी…
social share
google news

भईया नमस्ते मैं गौरव कुमार पांडेय. हाजिर हूं सोशल मीडिया पर वायरल खबरों के शो के साथ जिसका नाम है आज क्या है वायरल. बीजेपी की इस सरकार में सीएम योगी के चौतरफा विकास के बारे में तो सुना. मेडिकल से लेकर सड़क निर्माण हो या हो नौकरी के देने की बात. बीजेपी सरकार ने हर मोर्चे पर विकास किया. ऐसा सोशल मीडिया पर लोगों का मानना है. लेकिन एसपी प्रमुख अखिलेश यादव ने बीजेपी सरकार में ‘छत-फाड़ विकास’ का नमूना भी पेश किया.

दरअसल ये छत-फाड़ विकास का नमूना या कहें की अद्भुत नजारा देखने को मिला है गोरखपुर से सोनौली जाने वाली बस के अंदर. जहां विकास के ओवर डोज के कारण यात्रियों को छाता लगाकर बस में यात्रा करना पड़ा. वैसे इस वीडियो को ना केवल अखिलेश यादव और समाजवादी पार्टी ने शेयर किया, बल्कि जिसे मिला वही सोशल मीडिया पर शेयर करते दिखा.

यूपी कांग्रेस इसपर कहती दिखी की योगी जी का विकास ‘लीक’ कर रहा है. तो वहीं आम आदमी पार्टी यूपी भी पोस्ट करके कहती है की वातानुकूलित बसों का जब ये हाल है तो बाकी रोडवेज बसों की दुर्दशा का आलम सोचिए?

ADVERTISEMENT

यह भी पढ़ें...

ADVERTISEMENT

वैसे किसी एंगल से वातानुकूलित बस तो नहीं लग रही थी ये. बहरहाल आम जनता ने भी खूब मजे लिए. क्या करेंगे बरसात ही कुछ ज्यादा हो गई. वैसे इस हालत में भी कुछ अखिलेश यादव को कह रहे थे की तुम चाहे जितना चिल्ला लो आयेगा तो योगी ही.

भईया चाचा जो गाड़ी की छत पर बैठे हैं वो भी बताओ पूरा मजा ले रहे हैं इस वाटर पार्क का. उनकी सफारी को ट्रैक्टर से बांध कर पानी में से निकाला गया. लेकिन जनता बड़ी नाराज दिखी यहां के प्रशासन से. कई तरह के आरोप भी लगाते दिखे की सरकार ने रेलवे की आसानी के लिए अंडरपास तो बनवा दिए लेकिन जो ऊपर टीन का शेड डलवाना था उसके पैसे क्षेत्रीय नेता चबा गए और डकार तक नही ली!

ADVERTISEMENT

लेकिन यूपी कांग्रेस ने जो कैप्शन पूछा उसका भी जवाब जनता दे रही थी. कोई कह रहा था की इसे क्योटो कहो. खैर, जैसा कि मैंने आपको पहले भी बताया ये बारिश भी ना पोल खोलने से बाज नहीं आती.

बहरहाल बढ़ते हैं अपनी अगली खबर की ओर. मामला था एक IAS का. IAS जो एक छोटे से बाजार में सब्जी बेंचते दिख रहे थे. अब भई IAS साहब को आखिर ऐसा हुआ क्या जो ये हालत आन पड़ी. लोगों की अलग-अलग कॉमेंटबाजी इसपर चल रही थी.

यूपी के IAS अखिलेश मिश्रा सब्जी बेच रहे हैं. फेसबुक पोस्ट में सब्जी बेचते फोटो डाली.. बाजार में सब्जी बेच रहा यूपी का IAS अफसर. फिर धीरे-धीरे पोस्टिंग भी बताई गई कि ट्रांसपोर्ट में स्पेशल सेक्रेटरी हैं अखिलेश मिश्रा. तो कहीं इसके लिए लोग सरकार को जिम्मेदार ठहरा रहे थे की नबंर-1 प्रदेश के IAS अखिलेश मिश्रा जी सब्जी बेच रहे हैं.

इस तस्वीर की सच्चाई बिल्कुल इससे अलग थी. खूद IAS साहब ने इसपर सफाई देते हुए कहा की मैं कल सरकारी काम के चलते प्रयागराज गया था. वापस आते समय एक स्थान पर सब्जी देखने के लिए रुक गया. सब्ज़ी विक्रेता एक वृद्ध महिला थी जिसने मुझसे अनुरोध किया की मैं उसकी सब्जी पर नज रखूं.

सम्भवत उसका बच्चा दूर चला गया था. मैं यूं ही उसकी दुकान पे बैठ गया. और इस बीच कोई ग्राहक और वो सब्जी विक्रेता आ गई. मेरे एक परम मित्र ने फोटो खींची मजाक-मजाक मेरे ही फोन से फेसबुक पर अपलोड कर दिया. तो देखा आपने सोशल मीडिया पर क्या सही क्या गलत.

    follow whatsapp

    ADVERTISEMENT