एक्शन मोड में वाराणसी पुलिस, रोक दी 'भारत सरकार' की गाड़ी, Varanasi Tak पर जानें पूरा मामला

ट्रैफिक नियम न केवल आम लोगों के लिए है, बल्कि पुलिसकर्मियों के लिए भी है. वाराणसी पुलिस कमिश्नर की ओर से सख्ती दिखाने के बाद और सभी थानाध्यक्षों और एसीपी को वार्निंग पत्र लिखकर कड़ाई से ट्रैफिक नियमों के पालन कराने को लेकर चेतावनी देने के बाद अब कार्यवाही बिना हेलमेट के चलने वाले पुलिस कर्मियों पर भी शुरू हो गई है.

वाराणसी (Varanasi News) में अभियान चलाकर अलग-अलग थाना क्षेत्रों में बगैर हेलमेट वाले दो पहिया वाहन चालक, जिसमें पुलिसकर्मी भी शामिल थे. आज जबरदस्त कार्रवाई हुई. इतने बड़े पैमाने पर पहली बार पुलिस ही पुलिस गाड़ी का चालान करते देखी गई.

ट्रैफिक नियमों के उल्लंघन और खासकर हेलमेट ना पहनने की पुलिस की आदत पर कड़ा रुख अख्तियार करते हुए वाराणसी पुलिस कमिश्नर ए सतीश गणेश ने कमिश्नरेट के अंतर्गत आने वाले सभी थानाध्यक्षों और एसीपी को पत्र लिखकर कड़ाई से नियम पालन कराने की वार्निंग क्या दी.

मंगलवार शाम होते होते ज्यादातर थाना अध्यक्ष चौराहों पर बगैर हेलमेट दो पहिया वाहन चलाने वालों की चेकिंग में जुट गए. इनमें वह पुलिसकर्मी भी जद में आ गए जो बगैर हेलमेट के अपनी गाड़ियों दौड़ा रहे थे.

चौक थाने के बाहर चेकिंग के दौरान भारत सरकार लिखी बगैर नंबर प्लेट की गाड़ी में जब ड्राइवर बगैर सीट बेल्ट के मिला तो चालान के लिए उसकी तस्वीर खींच ली गई. इतना ही नहीं विधानसभा का पास लगी एक कार की भी तस्वीरें पुलिस वालों ने चालान के लिए खींची जिसके ड्राइवर ने सीट बेल्ट नहीं लगा रखी थी.

चेकिंग के पहले कई ऐसे पुलिस वाले भी दिखाई पड़े, जिनपर उनके पुलिस कमिश्नर के आदेश का असर नहीं दिखाइ पड़ा. ऐसा नहीं है कि पुलिस की इस कार्रवाई से जनता में रोष था, बल्कि बगैर हेलमेट कार्रवाई की जद में आने वाले लोगों ने भी माना कि सुरक्षा के लिहाज से हेलमेट लगाना बहुत जरूरी है और पुलिस की कार्यवाही से वह संतुष्ट हैं.

इस पूरे मामले को खबर की शुरुआत में टॉप में शेयर किए गए Varanasi Tak के वीडियो पर क्लिक कर देखें.

एक्शन मोड में वाराणसी पुलिस, रोक दी 'भारत सरकार' की गाड़ी, Varanasi Tak पर जानें पूरा मामला
Varanasi Tak: वाराणसी में अब नई आफत! बाढ़ के बाद बढ़ा डेंगू का खतरा, 2 मरीज आए सामने

संबंधित खबरें

No stories found.
UPTak - UP News in Hindi (यूपी हिन्दी न्यूज़)
www.uptak.in