बीजेपी के कार्यकर्ताओं ने बृजेश सिंह की पत्नी को चुनाव जितवाया: BJP प्रत्याशी सुदामा पटेल

बीजेपी के कार्यकर्ताओं ने बृजेश सिंह की पत्नी को चुनाव जितवाया: BJP प्रत्याशी सुदामा पटेल
बीजेपी प्रत्याशी सुदामा पटेलफोटो: रोशन जायसवाल, यूपी तक

यूपी में मंगलवार को MLC चुनाव के नतीजे आ चुके हैं. चुनाव परिणाम के मुताबिक, बीजेपी ने दो दर्जन सीटों पर कब्जा किया, लेकिन पीएम मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी की MLC सीट पर उसे हार का सामना करना पड़ा.

अहम बिंदु

वाराणसी-चंदौली-भदोही सीट से बीजेपी उम्मीदवार डाॅ. सुदामा पटेल के पक्ष में सिर्फ 170 वोट ही मिले, जबकि उनकी प्रतिद्वंद्वी अन्नपूर्णा सिंह को 4234 वोट मिले. बता दें कि अन्नपूर्णा सिंह जेल में बंद बाहुबली नेता बृजेश सिंह की पत्नी हैं. वह निर्दलीय प्रत्याशी के तौर पर मैदान में थीं. वहीं समाजवादी पार्टी के प्रत्याशी उमेश यादव को 345 वोटों से ही संतोष करना पड़ा.

अपनी बुरी तरह से हुई हार पर बात करते हुए बीजेपी प्रत्याशी सुदामा पटेल ने कहा कि ये उनके समझ के परे है कि बृजेश सिंह के जेल में बंद होने के बावजूद उनके किस काम का प्रभाव जनता में रहा कि इस बार उनकी पत्नी चुनाव जीत गईं. उन्होंने कहा कि मतदाताओं के निर्णय को जानकर आश्चर्य हो रहा है और उनकी हार देश और समाज के लिए भी दुर्भाग्य है.

बीजेपी की ओर से डाॅ. सुदामा पटेल को चुनाव में बलि का बकरा बनाने के सवाल के जवाब में उन्होंने कहा, "बलि का बकरा कुछ नहीं होता है. राजनीति में विपक्ष के 60 हजार मतों के आगे बड़े लोग भी रिकॉर्ड 2-3 हजार मतों को पाकर सिमट चुके हैं. यह कई चीजों पर निर्भर करता है."

सुदामा ने कहा, "बृजेश सिंह के सामने बीजेपी जहां चुनाव ही नहीं लड़ती, तो मैंने चुनाव लड़ा और ठीक से प्रचार करके अपनी बातों को रखा. लेकिन धनबल का हावी होने से चुनाव हार गया."

जब सारी चीजों के बारे में सीएम योगी और पार्टी स्तर तक अवगत कराने के बाद भी कारगर कदम न उठाए जाने के बारे में सवाल किया गया तो बीजेपी प्रत्याशी ने बताया, "वाराणसी पीएम मोदी का क्षेत्र है और यूपी में योगी जी की सरकार है. पार्टी की निकाय चुनाव की जिम्मेदारी होती है. मैं चुनाव हारा हूं तो धनबल और बाहुबल की जीत हुई, तो कहीं न कहीं सामाजिक चेतना की हार हुई है जो समाज के लिए अच्छे संकेत नहीं हैं."

अहम बिंदु

बीजेपी के साइलेंट हो चुके वोटर और सर्पोटर के सवाल के जवाब में डाॅ. सुदामा पटेल ने बताया, "ऐसे लोग खुद अपना आकलन करें कि वे कितनी बड़ी भूल किए हैं. जब अन्नपूर्णा सिंह के पास दस ऐसे कार्यकर्ता नहीं हैं जो मतगणना करा पाए. 10 में 4 बीजेपी के कार्यकर्ता अन्नपूर्णा सिंह का साथ दे रहे हैं मतगणना में इससे बुरी बात क्या हो सकती है." उन्होंने बताया कि इस बारे में भी पार्टी को सब कुछ पता है.

बीजेपी प्रत्याशी ने कहा, "मैं पार्टी का कार्यकर्ता हूं और पार्टी ने चुनाव लड़ाया है और पार्टी का जो आदेश होगा, उसका पालन भी करेंगे. चुनाव पार्टी ही जीतती और हारती है."

उन्होंने अन्नपूर्णा सिंह को बधाई दी और कहा कि हमारे भी कार्यकर्ता उनके साथ मतगणना में दिखाई पड़े हैं. हमारे पार्टी के कार्यकर्ता ही बृजेश सिंह की पत्नी अन्नपूर्णा सिंह को चुनाव जितवाए हैं.

बीजेपी प्रत्याशी सुदामा पटेल
MLC चुनाव: कौन हैं अन्नपूर्णा सिंह, जिन्होंने PM मोदी के 'गढ़' में BJP को दी करारी मात?

संबंधित खबरें

No stories found.